बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, May 6, 2010

सही समय पर

कुछ लोगों के लिये किसी भी जगह समय पर पहुंचना एक कठिन चुनौती होती है। कभी कभी हम चाहे कितनी भी जल्दी निकलें, देर करने के लिये कोई न कोई परिस्थिती उत्पन्न हो ही जाती है।

लेकिन एक खुशख़बरी है: परमेश्वर हमेशा ठीक समय पर रहता है। प्रभु यीशु के आगमन के विष्य में बताते हुए, पौलुस कहता है, "जब समय पूरा हुआ, तो परमेश्वर ने अपने पुत्र को भेजा" (गलतियों४:४)। जिस वायदा किये हुए उद्धारकर्ता की लंबे समय से प्रतीक्षा करी जा रही थी, वह बिल्कुल ठीक समय पर आया।

यीशु का रोमी साम्राज्य के शांति के समय पर आना बिल्कुल ठीक समय था। वह समय था जब देश एक सार्वजनिक भाषा - व्यापार से जुड़े हुए थे। विश्वव्यापी व्यापार को सहज बनाने के लिये रास्तों और साधनों का जाल फैला हुआ था। यह सब सुनिश्चित करता था कि सुसमाचार शीघ्रता से फैले; किसी देश की कोई बन्द सीमाएं या किसी देश में जाने की अनुमति लेने की आवश्यक्ता नहीं थी। सब बातें और परिस्थितियां मिलकर, हमारे पापों के लिये उस उद्धारकर्ता के क्रूस पर चढ़ाए जाने की भविश्यद्वाणी (यशायाह ५३) के पूरा होने के सुसमाचार को निर्बाध्य होकर फैलाने में सहायक हुए। परमेश्वर के सिद्ध समय का एक अदभुत उदहरण!

यह सब हमें याद दिलाता है कि परमेश्वर जानता है कि हमारे लिये कौन सा समय सर्वोत्तम है। यदि आप किसी प्रार्थना के उत्तर की या किसी दी गई प्रतिज्ञा के पूरी होने की प्रतीक्षा कर रहे हैं, तो हताश होकर उम्मीद मत छोड़िये। यदि आप सोचते हैं कि परमेश्वर आपको भूल गया है, तो पुनः विचार कीजिये। जब समय आप के लिये सर्वथा उपयुक्त होगा, वह तब आ जाएगा; और कार्य करने के उसके अदभुत समय को देखकर आप दंग रह जाएंगे। - जो स्टोवेल


परमेश्वर का समय सदा सिद्ध होता है।


बाइबल पाठ: गलतियों ४:१-७


जब समय पूरा हुआ, तो परमेश्वर ने अपने पुत्र को भेजा - गलतियों ४:४


एक साल में बाइबल:
  • १ राजा २१, २२
  • लूका २३:२६-५६