बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, August 12, 2010

वह पर्याप्त है

कभी कभी हम जीवन की कुछ बातों से हताश और उदास हो जाते हैं, जैसे, किसी न किसी कारण चढ़ते रहने वाल कर्ज़, निराशाएं, बीमारीयां, लोगों से मनमुटाव आदि। ऐसा प्रभु यीशु के चेलों के साथ हुआ और मेरे साथ भी हुआ।

ऐसे में, इन परिस्थितियों पर जयवन्त होने के लिये, प्रभु यीशु विभिन्न तरीकों से हमें आश्वासन देता है। मत्ती रचित सुसमाचार के चौथे अध्याय में तीन बार प्रभु यीशु शैतान द्वारा उसपर लाई गई परीक्षाओं पर यह कह कर विजयी हुआ, (परमेश्वर के वचन के संदर्भ में) कि "लिखा है..." (पद ४, ७, १०)। प्रभु यीशु ने इस प्रकार हमें प्रमाण दिया कि परमेश्वर का वचन खरा है और हर प्रकार की परीक्षा पर जयवन्त करने में सक्षम है।

गरजते तूफान और उफनते समुद्र को शांत करके (मत्ती १४:२७) प्रभु यीशु ने भयभीत चेलों को दिखाया कि उसकी उपस्थिति उन पर आने वाले परेशानी के हर तूफान को रोकने के लिये काफी है।

क्रूस पर से यह कह कर कि "पूरा हुआ" (यूहन्ना १९:३०) प्रभु यीशु ने आशव्स्त किया कि उसकी मृत्यु हमारे पापों की कीमत चुका कर हमें पाप की गुलामी से आज़ाद करने के लिये पर्याप्त है।

हमारी कोई भी परिस्थिति हो, प्रभु यीशु अपने प्रेम, अनुकंपा और अनुग्रह के साथ, सर्वदा हमारे साथ बना रहता है। जीवन की हर परिस्थिति के पार ले जाने के लिये, हमारे साथ सदा बनी रहने वाली उसकी उपस्थिति पर्याप्त है। - डेव एगनर


परमेश्वर का प्रेम हमें परीक्षाओं में पड़ने से नहीं बचाता, वरन उन में से जयवन्त होकर निकलने में हमारी सहायता करता है।

बाइबल पाठ: मत्ती १४:२२-३३
और उस ने तुरन्‍त अपने चेलों को बरबस नाव पर चढ़ाया, कि वे उस से पहिले पार चले जाएं, जब तक कि वह लोगों को विदा करे।
वह लोगों को विदा कर के, प्रार्थना करने को अलग पहाड़ पर चढ़ गया, और सांझ को वहां अकेला था।
उस समय नाव झील के बीच लहरों से डगमगा रही थी, क्‍योंकि हवा साम्हने की थी।
और वह रात के चौथे पहर झील पर चलते हुए उन के पास आया।
चेले उस को झील पर चलते हुए देखकर घबरा गए! और कहने लगे, वह भूत है; और डर के मारे चिल्ला उठे।
यीशु ने तुरन्‍त उन से बातें की, और कहा, ढाढ़स बान्‍धो, मैं हूं; डरो मत।
पतरस ने उस को उत्तर दिया, हे प्रभु, यदि तू ही है, तो मुझे अपने पास पानी पर चल कर आने की आज्ञा दे।
उस ने कहा, आ: तब पतरस नाव पर से उतरकर यीशु के पास जाने को पानी पर चलने लगा।
पर हवा को देखकर डर गया, और जब डूबने लगा, तो चिल्लाकर कहा हे प्रभु, मुझे बचा।
यीशु ने तुरन्‍त हाथ बढ़ाकर उसे थाम लिया, और उस से कहा, हे अल्प-विश्वासी, तू ने क्‍यों सन्‍देह किया?
जब वे नाव पर चढ़ गए, तो हवा थम गई।
इस पर जो नाव पर थे, उन्‍होंने उसे दण्‍डवत कर के कहा, सचमुच तू परमेश्वर का पुत्र है।

एक साल में बाइबल:
  • भजन ८४-८६
  • रोमियों १२