बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, October 16, 2010

मृत्यु पर जय

मसीही विश्वास द्वारा हमारे दिन प्रतिदिन के जीवन को जीने की शैली में परिवर्तन आता है, परन्तु इस विश्वास की अन्तिम परीक्षा होती है मृत्यु के समक्ष हमारी प्रतिक्रीया से।

जब हम अपने किसी सह-विश्वासी की मृत्यु उप्रांत, उसकी याद में आयोजित प्रार्थना सभा में भाग लेने जाते हैं, तो हम एकत्रित होते हैं एक विश्वास के योद्धा को आदर देने जिसके जीवन ने बहुत से जीवनों को आशीशित किया। इन सभाओं मे जो कहा जाता है वह अकसर परमेश्वर के प्रति धन्यवाद और परमेश्वर की प्रशंसा होता है न कि किसी व्यक्ति की बड़ाई। ये सभाएं हमारे प्रभु द्वारा मृत्यु और कब्र पर प्राप्त जय की गवाही और परमेश्वर को महिमा देने का अवसर होतीं हैं (१ कुरिन्थियों १५:५४-५७)।

लेखक आर्थर पोरिट, इंग्लैण्ड के एक कट्टर नास्तिक चार्ल्स ब्रैड्लॉफ के अन्तिम संसकार में शामिल हुए। वहां से लौटकर उन्होंने अपने अनुभव का बयान किया: "वहां, कब्र पर न कोई प्रार्थना करी गई, न किसी ने कुछ कहा। उसके मृत शरीर को एक हलके से कफन में डाल कर, उसे जल्दी से कब्र में उतार दिया गया, मानो सड़े-गले मांस को नज़रों से दूर करने की जल्दी हो। मैं वहां से बहुत आहत और स्तब्ध होकर लौटा। तब मुझे एहसास हुआ कि मृत्यु के साथ इन्सानी व्यक्तित्व के समाप्त हो जाने पर विश्वास करने और मृत्यु के बाद के जीवन का इंकार करने से मृत्यु को कैसी भयानक विजय मिलती है।"

लेकिन मसीही विश्वासीयों के लिये ऐसा नहीं है क्योंकि वे मृत्यु के पश्चात अपने प्रभु से आमने-सामने मिलने और फिर उसकी संगति में रहने, तथा अन्ततः शरीरों के पुनरुत्थान पर विश्वास करते हैं (१ कुरिन्थियों १५:४२-५५, १ थिसुलिनीकियों ४:१५-१८)। मृत्यु उनके लिये अन्त नहीं है वरन एक अनन्त स्वर्गीय आनन्द का आरंभ है।

क्या आपका विश्वास आपको मृत्यु पर जय में आनन्दित होने का कारण देता है? - वेर्नन ग्राउंडस


क्योंकि मसीह जीवित है, इसलिये उसके विश्वासी भी जीवित रहेंगे।

बाइबल पाठ: १ थिसुलिनीकियों ४:१३-१८

हे भाइयों, हम नहीं चाहते, कि तुम उनके विषय में जो सोते हैं, अज्ञान रहो, ऐसा न हो, कि तुम औरों की नाई शोक करो जिन्‍हें आशा नहीं।
क्‍योंकि यदि हम प्रतीति करते हैं, कि यीशु मरा, और जी भी उठा, तो वैसे ही परमेश्वर उन्‍हें भी जो यीशु में सो गए हैं, उसी के साथ ले आएगा।
क्‍योंकि हम प्रभु के वचन के अनुसार तुम से यह कहते हैं, कि हम जो जीवित हैं, और प्रभु के आने तक बचे रहेंगे तो सोए हुओं से कभी आगे न बढ़ेंगे।
क्‍योंकि प्रभु आप ही स्‍वर्ग से उतरेगा, उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्‍द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे।
तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे।
सो इन बातों से एक दूसरे को शान्‍ति दिया करो।
एक साल में बाइबल:
  • यशायाह ४७-४९
  • १ थिसुलिनीकियों ४