बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, October 24, 2010

छिपी बातों के खुले प्रभाव

फ्लोरिडा प्रांत की ओकीचोबी झील बहुत सालों से अपने गहरे जल और गाढ़े कीचड़ में बहुत से राज़ छुपाए हुए थी, परन्तु सन २००७ के सूखे ने उसके जल स्तर को बहुत ही कम कर दिया, जितना कि कभी नहीं हुआ था। पानी हटने से, झील के तले में सालों से छिपी बातें प्रगट हो गईं। झील के उघाड़े तले से झील का पुराना इतिहास उजागर हो गया, वहां पुरातत्व शास्त्रियों को कई प्राचीन कला कृतियां, टूटे बर्तन के टुकड़े, मानव हड्डियों के टुकड़े और पुरानी नावें मिलीं।

बतशीबा के साथ व्यभिचार करने और फिर उसके पति उरियाह को मरवा देने के ष्ड़यंत्र को रचने के बाद राजा दाऊद ने अपने इन पापों को छिपा लिया, उनका अंगीकार नहीं किया। वह कई महीनों तक ऐसे कार्य करता रहा जैसे कुछ हुआ ही नहीं और अपनी धार्मिक ज़िम्मेदारियां भी निभाता रहा। लेकिन जब तक दाऊद अपने पाप को ढांपे रहा, परमेश्वर की दोषी ठहराने वाली उंगली उस पर उठी रही और वह उसके बोझ तले दबा कराहता रहा, उसकी सामर्थ ऐसे सूख गई जैसे गरमी से पानी सूख जाता है (भजन ३२:३, ४)।

जब नातान नबी ने दाऊद का सामना उसके पाप से कराया, तब दाऊद अपने पाप के दोष से ऐसा दबा हुआ था कि उसने तुरंत परमेश्वर के सामने अपने पाप को मान लिया और उनसे पश्चाताप किया। जैसे ही दाऊद ने अपने पाप को माना और पश्चाताप किया, परमेश्वर ने उसके पाप को क्षमा कर दिया और दाऊद ने परमेश्वर की दया और अनुग्रह को, पापों की क्षमा की शांति को महसूस किया (२ सैमुएल १२:१३; भजन ३२:५; भजन ५१)।

छिपे पापों के खुले परिणाम बहुत कष्टदायक होते हैं और पाप सदा छिपे भी नहीं रहते; कभी न कभी, किसी न किसी रूप में वे उजागर हो ही जाते हैं और तब उनकी तकलीफ और बढ़ जाती है।

सावधान रहें, अपने पापों को न नज़रांदाज़ करें और न ही छुपाएं। जब हम अपने पापों को परमेश्वर के आगे खोल देते हैं तब वह अपनी क्षमा और दया से हमें ढांप देता है। - मार्विन विलियम्स


परमेश्वर को वह अर्पित करें जो वह सबसे अधिक चाहता है - एक टूटा और पश्चातापी मन।

जब मैं ने अपना पाप तुझ पर प्रगट किया और अपना अधर्म न छिपाया, और कहा, मैं यहोवा के साम्हने अपके अपराधों को मान लूंगा, तब तू ने मेरे अधर्म और पाप को क्षमा कर दिया। - भजन ३२:५


बाइबल पाठ:

क्या ही धन्य है वह जिसका अपराध क्षमा किया गया, और जिसका पाप ढ़ांपा गया हो।
क्या ही धन्य है वह मनुष्य जिसके अधर्म का यहोवा लेखा न ले, और जिसकी आत्मा में कपट न हो।
जब मैं चुप रहा तब दिन भर कराहते कराहते मेरी हडि्डयां पिघल गईं।
क्योंकि रात दिन मैं तेरे हाथ के नीचे दबा रहा, और मेरी तरावट धूप काल की सी झुर्राहट बनती गई।
जब मैं ने अपना पाप तुझ पर प्रगट किया और अपना अधर्म न छिपाया, और कहा, मैं यहोवा के साम्हने अपने अपराधों को मान लूंगा, तब तू ने मेरे अधर्म और पाप को क्षमा कर दिया।
इस कारण हर एक भक्त तुझ से ऐसे समय में प्रार्थना करे जब कि तू मिल सकता है। निश्चय जब जल की बड़ी बाढ़ आए तौभी उस भक्त के पास न पहुंचेगी।
तू मेरे छिपने का स्थान है, तू संकट से मेरी रक्षा करेगा, तू मुझे चारों,ओर से छुटकारे के गीतों,से घेर लेगा।

एक साल में बाइबल:
  • यर्मियाह ३-५
  • १ तिमुथियुस ४