बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, March 12, 2011

आत्मत्याग की कला

धार्मिक कलाकृतियों में पेलिकन नामक समुद्री तट पर पाए जाने वाले पक्षी को आत्मत्याग का प्रतीक माना जाता है। इस किंवदंती के प्रचलित होने का कारण है उनका सफेद रंग और उनकी बड़ी सी चोंच के सिरे का गहरे लाल रंग का होना। कहते हैं कि जब मादा पेलिकन अपने बच्चों के लिये भोजन नहीं जुटा पाती तो अपने सीने में अपनी चोंच मारकर अपने बच्चों का अपने लहू से पोषण करती है, इसीलिये उसकी चोंच लाल रंग की होती है। आरंभिक चर्च के लोगों ने इस बात में प्रभु यीशु मसीह द्वारा हमारे लिये किये गए कार्य का सुन्दर प्रतिरूप देखा और यह भी कि सच्चे मसीही विश्वासियों को कैसी गवाही रखनी चाहिये तथा पेलिकन को धार्मिक कलाकृतियों में आत्मत्याग का चित्रण करने के लिये ले लिया।

पेलिकन की यह किंवदंती न केवल प्रभु यीशु मसीह के व्यवहार को दर्शाती है, वरन हम जो उसके खून खरीदे सन्तान हैं, हमारे स्वरूप को भी दर्शाती है। पेलिकन के बच्चों की तरह, पाप में गिरी मनुष्य जाति भी, किसी भी कीमत पर, अपने लोभ और इच्छा की पूर्ति चाहती है। प्रभु यीशु मसीह ने अपने बलिदान के लहू द्वारा ऐसों को अपना लिया।

अब मसीही विश्वास में आ जाने के बाद हमारा व्यवहार भी स्वार्थी नहीं वरन आत्मत्याग का होना चाहिये। मसीह द्वारा हमारे नए किये जाने के बाद हमें भी मसीह के समान आत्मत्याग की कला का अभ्यास करते रहना चाहिये। - मार्ट डी हॉन


प्रेम से प्रेरित किये गए आत्मत्याग के समान परमेश्वर को और कुछ सन्तुष्ट नहीं कर सकता।

परन्‍तु मैं अपने प्राण को कुछ नहीं समझता: कि उसे प्रीय जानूं, वरन यह कि मैं अपनी दौड़ को, और उस सेवाकाई को पूरी करूं, जो मैं ने परमेश्वर के अनुग्रह के सुसमाचार पर गवाही देने के लिये प्रभु यीशु से पाई है। - प्रेरितों २०:२४


बाइबल पाठ: प्रेरितों के काम २०:१७-२७

और उस ने मीलेतुस से इफिसुस में कहला भेजा, और कलीसिया के प्राचीनों को बुलवाया।
जब वे उस के पास आए, तो उन से कहा, तुम जानते हो, कि पहिले ही दिन से जब मैं आसिया में पहुंचा, मैं हर समय तुम्हारे साथ किस प्रकार रहा।
अर्थात बड़ी दीनता से, और आंसू बहा बहाकर, और उन परीक्षाओं में जो यहूदियों के षडयन्‍त्र के कारण मुझ पर आ पड़ीं, मैं प्रभु की सेवा करता ही रहा।
और जो जो बातें तुम्हारे लाभ की थीं, उन को बताने और लोगों के साम्हने और घर घर सिखाने से कभी न झिझका।
वरन यहूदियों और यूनानियों के साम्हने गवाही देता रहा, कि परमेश्वर की ओर मन फिराना, और हमारे प्रभु यीशु मसीह पर विश्वास करना चाहिए।
और अब देखो, मैं आत्मा में बन्‍धा हुआ यरूशलेम को जाता हूं, और नहीं जानता, कि वहां मुझ पर क्‍या क्‍या बीतेगा
केवल यह कि पवित्र आत्मा हर नगर में गवाही दे देकर मुझ से कहता है, कि बन्‍धन और क्‍लेश तेरे लिये तैयार हैं।
परन्‍तु मैं अपने प्राण को कुछ नहीं समझता: कि उसे प्रीय जानूं, वरन यह कि मैं अपनी दौड़ को, और उस सेवाकाई को पूरी करूं, जो मैं ने परमेश्वर के अनुग्रह के सुसमाचार पर गवाही देने के लिये प्रभु यीशु से पाई है।
और अब देखो, मैं जानता हूं, कि तुम सब जिन से मैं परमेश्वर के राज्य का प्रचार करता फिरा, मेरा मुंह फिर न देखोगे।
इसलिये मैं आज के दिन तुम से गवाही देकर कहता हूं, कि मैं सब के लोहू से निर्दोष हूं।
क्‍योंकि मैं परमेश्वर की सारी मनसा को तुम्हें पूरी रीति से बनाने से न झिझका।

एक साल में बाइबल:
  • व्यवस्थाविवरण १७-१९
  • मरकुस १३:१-२०