बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, April 6, 2011

नई शुरुआत

यद्यपि हम कभी भी किसी असफलता को मिटा तो नहीं सकते, परन्तु उसके अनुभव से हम शिक्षा अवश्य ले सकते हैं। एक खिलाड़ी के गेन्द को गलत जगह फेंकने के कारण उसकी टीम हार सकती है, लेकिन वही खिलाड़ी चार दिन बाद किसी नए खेल में अपनी टीम को जिता भी सकता है। वह खिलाड़ी अपने नाम के आगे से वह हार तो कभी नहीं मिटा पाएगा, लेकिन उस हार से बहुमूल्य सीख लेकर वह भविष्य में जीतने के लिए कई मूल्यवान सबक सीख लेगा।

जब पौलुस और बरनबास अपनी पहली सुसमाचार प्रचार यात्रा पर निकले तो मरकुस भी उनके साथ गया (प्रेरितों १३:५), लेकिन किसी कारणवश वह उन्हें यात्रा के बीच ही में छोड़कर लौट गया (प्रेरितों १३:१३)। घर पर उसे अपने लिये पर पछतावा हुआ और उसने अपने दोनो मित्रों से अगली यात्रा पर फिर से उसे ले जाने का आग्रह किया। बरनाबास तो उसे एक और मौका देने को तैयार था किंतु पौलुस इसके लिए तैयार नहीं हुआ, इसलिए बरनाबास मरकुस को लेकर एक तरफ निकला तो पौलुस ने सिलास को अपने साथ लिया और अलग यात्रा पर निकल पड़ा। आगे चलकर मरकुस एक आदर्णीय मसीही अगुवा बना और परमेश्वर ने उसके द्वारा एक सुसमाचार वृतांत भी लिखवाया जो बाइबल का भाग बना। पौलुस ने तिमिथियुस को लिखी अपनी दूसरी पत्री में मरकुस को भी बुलवाया और उसके लिए लिखा, "मरकुस को लेकर चला आ; क्‍योंकि सेवा के लिये वह मेरे बहुत काम का है।" (२ तिमुथियुस ४:११)

गलतियों को दिल पर लगाए रखने से कोई लाभ नहीं होता। यही सोचते रहना कि काश हम किसी काम को फिर से कर पाते, व्यर्थ माथापच्ची है। हर एक दिन एक नई शुरुआत का अवसर है। यदि हम अपने बीते कल की गलतियों से शिक्षा लें और उन्के लिए पश्चतापी हों तो परमेश्वर की सहायता से हम नए दिन में नयी सफलताएं भी पा सकते हैं; क्योंकि मसीही विश्वासी के लिए परमेश्वर सदा क्षमादान के साथ नई शुरुआत देने के लिए तत्पर रहता है। - हर्ब वैन्डर लुग्ट


असफलता का यह अर्थ नहीं है कि आप कभी सफल नहीं होंगे; बस थोड़ा समय अधिक लगेगा।

तब बरनबास ने यूहन्ना को जो मरकुस कहलाता है, साथ लेने का विचार किया। परन्‍तु पौलुस ने उसे जो पंफूलिया में उन से अलग हो गया था, और काम पर उन के साथ न गया, साथ ले जाना अच्‍छा न समझा। - प्रेरितों १३:३७, ३८
मरकुस को लेकर चला आ; क्‍योंकि सेवा के लिये वह मेरे बहुत काम का है। - २ तिमुथियुस ४:११

बाइबल पाठ: प्रेरितों १५:३६-४१

Act 15:36 कुछ दिन बाद पौलुस ने बरनबास से कहा, कि जिन जिन नगरों में हम ने प्रभु का वचन सुनाया था, आओ, फिर उन में चलकर अपने भाइयों को देखें कि कैसे हैं।
Act 15:37 तब बरनबास ने यूहन्ना को जो मरकुस कहलाता है, साथ लेने का विचार किया।
Act 15:38 परन्‍तु पौलुस ने उसे जो पंफूलिया में उन से अलग हो गया था, और काम पर उन के साथ न गया, साथ ले जाना अच्‍छा न समझा।
Act 15:39 सो ऐसा टंटा हुआ, कि वे एक दूसरे से अलग हो गए: और बरनबास, मरकुस को लेकर जहाज पर कुप्रुस को चला गया।
Act 15:40 परन्‍तु पौलुस ने सीलास को चुन लिया, और भाइयों से परमेश्वर के अनुग्रह पर सौंपा जाकर वहां से चला गया।
Act 15:41 और कलीसियाओं को स्थिर करता हुआ, सूरिया और किलिकिया से होते हुआ निकला।

एक साल में बाइबल:
  • १ शमूएल ४-६
  • लूका ९:१-१७