बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, May 19, 2011

प्रशंसा

एक संगीत समालोचक को वायलिन वादक पर्लमैन की प्रशंसा कर पाने के लिए काफी शब्द नहीं मिल पा रहे थे। पर्लमैन Grand Rapid Symphony नामक वाद्यवृंद के साथ मेहमान एकल वायलिन वाद्क के रूप में प्रस्तुत हुआ था, और उसने वाद्यवृन्द के साथ एक बहुत ही कठिन धुन बजाई थी। समालोचक ने लिखा, "उनका वायलिन बजाने का ढंग इतना स्वाभाविक होते हुए भी इतना सिद्ध है कि वे संगीत के ताल और लय को सिद्धता से निभाते हुए भी ऐसे प्रतीत होते हैं कि जैसे उन्हें इसके लिए कोई प्रयास करना ही नहीं पड़ रहा हो। संगीत की गति कैसी भी हो, उनका हर सुर अपनी बिलकुल सही जगह पर लगा हुआ, और अन्य सुरों के साथ पूरे ताल-मेल में स्पष्ट सुनाई देता है। उन्होंने वाद्यवृन्द के अन्य साज़ों के साथ मिलकर और एकल रूप में ऐसे बजाया मानो उनके वायलिन और अन्य साज़ों में कोई संगीतमयी वार्तालाप चल रहा हो और वे उन अन्य साज़ों से अपनी बात भी कह रहे हों और उनकी बातों का उत्तर भी दे रहे हों।"

ऐसी अतिश्य प्रशंसा मुझे विचिलित करती है; इसलिए नहीं कि इससे पर्लमैन को आदर मिला - वे इस आदर के पूरे हकदार हैं। मैं इसलिए विचिलित होता हूँ कि मैंने शायद ही कभी किसी को परमेश्वर की प्रशंसा ऐसे खुले दिल और उदार शब्दों में करते हुए सुना हो। अवश्य ही हमारा परमेश्वर जिसने वायलिन वादक को रचा, अपनी इस उत्कृष्ट रचना के लिए, उस वायलिन वादक से, जिसने अपने परमेश्वर प्रदित गुण का प्रदर्शन किया, और भी अधिक प्रशंसा के योग्य है।

हम जो परमेश्वर को जानते हैं, क्या हमें उसकी महिमा, वैभव और उसके अद्भुत कार्यों का वर्णन उस समालोचक के संगीत प्रशंसा से भी अधिक उत्साह और विस्तार से नहीं करना चाहिए? - मार्ट डी हॉन


यदि मसीही विश्वासी परमेश्वर पर बेहतर विश्वास करें, तो संसार परमेश्वर पर संदेह कम करेगा।

याह की स्तुति करो। हे मेरे मन यहोवा की स्तुति कर! - भजन १४६:१

बाइबल पाठ: भजन १४८
Psa 148:1 याह की स्तुति करो! यहोवा की स्तुति स्वर्ग में से करो, उसकी स्तुति ऊंचे स्थानों में करो!
Psa 148:2 हे उसके सब दूतों, उसकी स्तुति करो: हे उसकी सब सेना उसकी स्तुति कर!
Psa 148:3 हे सूर्य और चन्द्रमा उसकी स्तुति करो, हे सब ज्योतिमय तारागण उसकी स्तुति करो!
Psa 148:4 हे सब से ऊंचे आकाश, और हे आकाश के ऊपर वाले जल, तुम दोनों उसकी स्तुति करो।
Psa 148:5 वे यहोवा के नाम की स्तुति करें, क्योंकि उसी ने आज्ञा दी और थे सिरजे गए।
Psa 148:6 और उस ने उनको सदा सर्वदा के लिये स्थिर किया है और ऐसी विधि ठहराई है, जो टलने की नहीं।
Psa 148:7 पृथ्वी में से यहोवा की स्तुति करो, हे मगरमच्छों और गहिरे सागर,
Psa 148:8 हे अग्नि और ओलो, हे हिम और कुहरे, हे उसका वचन मानने वाली प्रचण्ड बयार!
Psa 148:9 हे पहाड़ों और सब टीलो, हे फलदाई वृक्षों और सब देवदारों!
Psa 148:10 हे वन-पशुओं और सब घरैलू पशुओं, हे रेंगने वाले जन्तुओं और हे पक्षियों!
Psa 148:11 हे पृथ्वी के राजाओं, और राज्य राज्य के सब लोगों, हे हाकिमों और पृथ्वी के सब न्यायियों!
Psa 148:12 हे जवानों और कुमारियों, हे पुरनियों और बालकों!
Psa 148:13 यहोवा के नाम की स्तुति करो, क्योंकि केवल उसकी का नाम महान है; उसका ऐश्वर्य पृथ्वी और आकाश के ऊपर है।
Psa 148:14 और उस ने अपनी प्रजा के लिये एक सींग ऊंचा किया है; यह उसके सब भक्तों के लिये अर्थात् इस्राएलियों के लिये और उसके समीप रहने वाली प्रजा के लिये स्तुति करने का विषय है। याह की स्तुति करो।

एक साल में बाइबल:
  • १ इतिहास ७-९
  • यूहन्ना ६:२२-२४