बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, October 26, 2011

स्वर्गीय लोग

    मध्य-पूर्व एशिया की दो कब्रें आपस में बहुत फर्क रखती हैं तथा सांसारिक और स्वर्गीय लोगों की तुलना और उनके भेदों को समझाती हैं। एक कब्र है मिस्त्र के प्राचीन राजा तूत की - जिसकी भीतरी दीवारें कीमती धातु और नीले रंग के चीनी मिट्टी से ढकी हैं, राजा का शव विशेष द्रव्यों के लेप से सुरक्षित किया गया है और सुनहरे ताबूत में रखा गया है। संभवतः राजा तूत ने अपने मृत्युओपरांत जीवन के लिए अपनी दौलत और वैभव को आधार बनाया था।

   दूसरी कब्र पलस्तीन में है, एक चट्टान खोदकर बनाई गई साधारण सी गुफानुमा कब्र, जिस पर किसी का कोई नाम अंकित नहीं है, न वह सुसज्जित है, न उसमें कोई सांसारिक वस्तुओं का खज़ाना रखा है और ना ही वहां कोई शव या ताबूत है। यह खाली कब्र प्रभु यीशु के तीन दिन के दफन का स्थान मानी जाती है। प्रभु यीशु को इस संसार के खज़ाने जमा करने का कोई प्रयोजन नहीं था; उसका उद्देश्य तो अपने पिता की आज्ञा पूरी करके समस्त संसार के लिए स्वर्ग तथा उद्धार का मार्ग खोलना था।

   मसीही विश्वासी स्वर्गीय लोग हैं। प्रेरित पौलुस ने विश्वासियों की मण्डली के लोगों को लिखा कि परमेश्वर ने उन्हें "मसीह यीशु में उसके साथ उठाया, और स्‍वर्गीय स्थानों में उसके साथ बैठाया" (इफिसीयों २:६); "पर हमारा स्‍वदेश स्‍वर्ग पर है; और हम अपने उद्धारकर्ता प्रभु यीशु मसीह के वहां से आने की बाट जोह रहे हैं" (फिलिप्पियों ३:२०); "सो जब तुम मसीह के साथ जिलाए गए, तो स्‍वर्गीय वस्‍तुओं की खोज में रहो, जहां मसीह वर्तमान है और परमेश्वर के दाहिनी ओर बैठा है" (कुलुस्सियों ३:१)। जब हम विचार, बोल और कार्य में मसीह यीशु के समान होने का प्रयास करते रहेंगे, हम इस संसार में स्वर्गीय लोगों के समान जीवन भी प्रदर्शित करते रहेंगे।

   जो दौलत और खज़ाने हम इस संसार में अर्जित करते हैं वे हमारे जीवनोपरांत यहीं रह जाएंगे और संसार के साथ नष्ट हो जाएंगे; परन्तु जो खज़ाने हम स्वर्ग में अर्जित करते हैं वे अनन्त काल के लिए हमारे साथ बने रहेंगे। - पौल वैन गोर्डर

बुद्धिमान वे हैं जो स्वर्गीय खज़ानों को अपना लक्षय बना कर जीते हैं।

सो जब तुम मसीह के साथ जिलाए गए, तो स्‍वर्गीय वस्‍तुओं की खोज में रहो, जहां मसीह वर्तमान है और परमेश्वर के दाहिनी ओर बैठा है। - कुलुस्सियों ३:१

बाइबल पाठ: कुलुस्सियों ३:१-१७
    Col 3:1  सो जब तुम मसीह के साथ जिलाए गए, तो स्‍वर्गीय वस्‍तुओं की खोज में रहो, जहां मसीह वर्तमान है और परमेश्वर के दाहिनी ओर बैठा है।
    Col 3:2  पृथ्वी पर की नहीं परन्‍तु स्‍वर्गीय वस्‍तुओं पर ध्यान लगाओ।
    Col 3:3  क्‍योंकि तुम तो मर गए, और तुम्हारा जीवन मसीह के साथ परमेश्वर में छिपा हुआ है।
    Col 3:4  जब मसीह जो हमारा जीवन है, प्रगट होगा, तब तुम भी उसके साथ महिमा सहित प्रगट किए जाओगे।
    Col 3:5  इसलिये अपने उन अंगो को मार डालो, जो पृथ्वी पर हैं, अर्थात व्यभिचार, अशुद्धता, दुष्‍कामना, बुरी लालसा और लोभ को जो मूर्ति पूजा के बराबर है।
    Col 3:6  इन ही के कारण परमेश्वर का प्रकोप आज्ञा न मानने वालों पर पड़ता है।
    Col 3:7  और तुम भी, जब इन बुराइयों में जीवन बिताते थे, तो इन्‍हीं के अनुसार चलते थे।
    Col 3:8  पर अब तुम भी इन सब को अर्थात क्रोध, रोष, बैरभाव, निन्‍दा, और मुंह से गालियां बकना ये सब बातें छोड़ दो।
    Col 3:9  एक दूसरे से झूठ मत बोलो क्‍योंकि तुम ने पुराने मनुष्यत्‍व को उसके कामों समेत उतार डाला है।
    Col 3:10  और नए मनुष्यत्‍व को पहिन लिया है जो अपने सृजनहार के स्‍वरूप के अनुसार ज्ञान प्राप्‍त करने के लिये नया बनता जाता है।
    Col 3:11  उस में न तो यूनानी रहा, न यहूदी, न खतना, न खतनारिहत, न जंगली, न स्‍कूती, न दास और न स्‍वतंत्र: केवल मसीह सब कुछ और सब में है।
    Col 3:12  इसलिये परमेश्वर के चुने हुओं की नाईं जो पवित्र और प्रिय हैं, बड़ी करूणा, और भलाई, और दीनता, और नम्रता, और सहनशीलता धारण करो।
    Col 3:13  और यदि किसी को किसी पर दोष देने को कोई कारण हो, तो एक दूसरे की सह लो, और एक दूसरे के अपराध क्षमा करो: जैसे प्रभु ने तुम्हारे अपराध क्षमा किए, वैसे ही तुम भी करो।
    Col 3:14  और इन सब के ऊपर प्रेम को जो सिद्धता का कटिबन्‍ध है बान्‍ध लो।
    Col 3:15  और मसीह की शान्‍ति जिस के लिये तुम एक देह होकर बुलाए भी गए हो, तुम्हारे हृदय में राज्य करे, और तुम धन्यवादी बने रहो।
    Col 3:16  मसीह के वचन को अपने हृदय में अधिकाई से बसने दो; और सिद्ध ज्ञान सहित एक दूसरे को सिखाओ, और चिताओ, और अपने अपने मन में अनुग्रह के साथ परमेश्वर के लिये भजन और स्‍तुतिगान और आत्मिक गीत गाओ।
    Col 3:17  और वचन से या काम से जो कुछ भी करो सब प्रभु यीशु के नाम से करो, और उसके द्वारा परमेश्वर पिता का धन्यवाद करो।
 
एक साल में बाइबल: 
  • यर्मियाह ९-११ 
  • १ तिमुथियुस ६