बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, December 31, 2011

प्रेर्णादायक आशा

   महान उपदेशक F. B. Meyer ने एक दफा प्रसिद्ध सुसमाचार प्रचारक मूडी से प्रश्न किया, "आपके इतना सफल प्रचारक होने का रहस्य क्या है?" मूडी ने उत्तर दिया, "पिछले कई वर्षों से मैंने कभी कोई प्रचार नहीं किया अथवा सन्देश नहीं दिया, जिसको देते वक्त मुझे यह एहसास न रहा हो कि प्रभु का आगमन कभी भी हो सकता है, मेरे यह सन्देश समाप्त करने से पहले भी।"

   परमेश्वर के वचन बाइबल की सबसे अधिक प्रेर्णादायक शिक्षाओं में से एक है प्रभु यीशु के पृथ्वी पर पुनःआगमन की शिक्षा। जब परमेश्वर बाइबल के अपने दिव्य प्रकाशन के अन्त पर आए, तो उन्होंने इस विष्य की ओर ध्यान खींचा, स्वयं प्रभु यीशु के शब्दों में, "जो इन बातों की गवाही देता है, वह यह कहता है, हां मैं शीघ्र आने वाला हूं" (प्रकाशितवाक्य २२:२०)।

   हमारे प्रभु के ये शब्द हमें स्मरण दिलाते हैं कि हमें अपने साथ ले जाने के लिए वह आने वाला है। जब परमेश्वर इस आशवासन पर इतना ज़ोर दे कर अपने वचन के प्रकाशन का अन्त करता है, तो हमें उस के इस वायदे की आशा को सदा अपने मन में बनाए रखना चाहिए। इस लालसा से कि हम अपने उद्धारकर्ता को देखेंगे, उस के समान हो जाएंगे और उस के साथ अनन्त काल तक रहेंगे, हमें प्रेर्णा मिलनी चाहिए कि हम अपने प्रभु की सेवाकाई में तत्पर और कार्यरत रहें जैसे मूडी रहते थे।

   इस पापमय संसार में हमारे लिए यह बहुत सरल होता है कि अपने आस-पास की परिस्थितियों और संसार की घटनाओं से निराश हो कर हम अपनी स्वर्गीय दृष्टी को कमज़ोर हो जाने दें और अपनी इस आशा पर से ध्यान हटा लें। किंतु हर परिस्थिति में, मसीह के दूसरे आगमन और उससे मिलन की आशा निरंतर प्रत्येक मसीही विश्वासी के मन में जलती रहनी चाहिए। प्रेरित पौलुस ने भी इस संबंध में लिखा, "पर हमारा स्‍वदेश स्‍वर्ग पर है; और हम अपने उद्धारकर्ता प्रभु यीशु मसीह के वहां से आने की बाट जोह रहे हैं। वह अपनी शक्ति के उस प्रभाव के अनुसार जिस के द्वारा वह सब वस्‍तुओं को अपने वश में कर सकता है, हमारी दीन-हीन देह का रूप बदल कर, अपनी महिमा की देह के अनुकूल बना देगा" (फिलिप्पियों ३:२०, २१)।

   उसके वचन के अन्त में लिखे गए प्रभु यीशु मसीह के ये शब्द, "हां मैं शीघ्र आने वाला हूं" हमें हर परिस्थिति में अपने विश्वास की आशा को बनाए रखने और अपने विश्वास के अनुरूप जीवन व्यतीत करने में प्रेर्णादायक हैं। - पौल वैन गोर्डर


हमारी महिमा की आशा हमें पवित्रता की आवश्यक्ता का स्मरण दिलाती रहती है।

जो इन बातों की गवाही देता है, वह यह कहता है, हां मैं शीघ्र आने वाला हूं। - प्रकाशितवाक्य २२:२०
 
बाइबल पाठ: प्रकाशितवाक्य २२:१२-२१
Rev 22:12  देख, मैं शीघ्र आने वाला हूं; और हर एक के काम के अनुसार बदला देने के लिये प्रतिफल मेरे पास है।
Rev 22:13  मैं अलफा और ओमिगा, पहिला और पिछला, आदि और अन्‍त हूं।
Rev 22:14  धन्य वे हैं, जो अपने वस्‍त्र धो लेते हैं, क्‍योंकि उन्‍हें जीवन के पेड़ के पास आने का अधिकार मिलेगा, और वे फाटकों से हो कर नगर में प्रवेश करेंगे।
Rev 22:15  पर कुत्ते, और टोन्‍हें, और व्यभिचारी, और हत्यारे और मूतिर्पूजक, और हर एक झूठ का चाहने वाला, और गढ़ने वाला बाहर रहेगा।
Rev 22:16  मुझ यीशु ने अपने स्‍वर्गदूत को इसलिये भेजा, कि तुम्हारे आगे कलीसियाओं के विषय में इन बातों की गवाही दे: मैं दाऊद का मूल, और वंश, और भोर का चमकता हुआ तारा हूं।
Rev 22:17  और आत्मा, और दुल्हिन दोनों कहती हैं, आ; और सुनने वाला भी कहे, कि आ; और जो प्यासा हो, वह आए और जो कोई चाहे वह जीवन का जल सेंतमेंत ले।
Rev 22:18  मैं हर एक को जो इस पुस्‍तक की भविष्यद्वाणी की बातें सुनता है, गवाही देता हूं, कि यदि कोई मनुष्य इन बातों में कुछ बढ़ाए, तो परमेश्वर उन विपत्तियों को जो इस पुस्‍तक में लिखी हैं, उस पर बढ़ाएगा।
Rev 22:19  और यदि कोई इस भविष्यद्वाणी की पुस्‍तक की बातों में से कुछ निकाल डाले, तो परमेश्वर उस जीवन के पेड़ और पवित्र नगर में से जिस की चर्चा इस पुस्‍तक में है, उसका भाग निकाल देगा।
Rev 22:20  जो इन बातों की गवाही देता है, वह यह कहता है, हां मैं शीघ्र आने वाला हूं। आमीन। हे प्रभु यीशु आ।
Rev 22:21  प्रभु यीशु का अनुग्रह पवित्र लोगों के साथ रहे। आमीन।
एक साल में बाइबल: 
  • मलाकी 
  • प्रकाशितवाक्य २२