बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, January 24, 2012

सामर्थी वचन

   जब पोह फैंग नामक एक किशोरी ने प्रभु यीशु के अपने प्रति प्रेम के बारे में जाना और उसे अपने निज उद्धारकर्ता के रूप में स्वीकार किया तो उसके माता-पिता को मसीही विश्वास के प्रति कुछ शंकाएं हुईं। उन्होंने पोह फैंग की बड़ी बहन से कहा कि उसके साथ साथ चर्च जाया करे ताकि वह अपनी बहन पर नज़र रख सके और वहां कि गतिविधियों की खबर भी उन तक पहुंचती रहे। लेकिन वहां कुछ अप्रत्याशित हो गया। परमेश्वर के सामर्थी वचन ने बड़ी बहन के मन में भी असर किया और उसने भी प्रभु यीशु को अपना उद्धारकर्ता स्वीकार कर लिया।

   भजनकार ने लिखा कि "मैं तेरे उपदेशों को कभी न भूलूंगा क्योंकि उन्हीं के द्वारा तू ने मुझे जिलाया है" (भजन ११९:९३)। यही गवाही पोह फैंग और उन सभी लोगों की भी है जिन्होंने प्रभु यीशु को अपना निज उद्धारकर्ता जाना है; "क्‍योंकि परमेश्वर का वचन जीवित, और प्रबल, और हर एक दोधारी तलवार से भी बहुत चोखा है, और जीव, और आत्मा को, और गांठ गांठ, और गूदे गूदे को अलग करके, आर पार छेदता है; और मन की भावनाओं और विचारों को जांचता है" (इब्रानियों ४:१२)।

   परमेश्वर का वचन हमें: 
  • हमारे पापों को दिखाता है और उनके परिणाम के लिए कायल करता है: "इसलिये कि सब ने पाप किया है और परमेश्वर की महिमा से रहित हैं" (रोमियों ३:२३); " क्‍योंकि पाप की मजदूरी तो मृत्यु है, परन्‍तु परमेश्वर का वरदान हमारे प्रभु यीशु मसीह में अनन्‍त जीवन है" (रोमियों ६:२३)। 
  • वह हमें परमेश्वर के प्रेम और उद्धार के बारे में बताता है: "परन्‍तु परमेश्वर ने जो दया का धनी है, अपने उस बड़े प्रेम के कारण, जिस से उस ने हम से प्रेम किया। जब हम अपराधों के कारण मरे हुए थे, तो हमें मसीह के साथ जिलाया; (अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है)" (इफिसियों २:४, ५)। 
  • वह हमें प्रतिदिन के जीवन के लिए समझ-बूझ और मार्ग दर्शन देता है: "तेरा वचन मेरे पांव के लिये दीपक, और मेरे मार्ग के लिये उजियाला है" (भजन ११९:१०५)।
   हे पिता परमेश्वर आपके प्रबल और सामर्थी वचन के लिए, जो हमें जीवन और जीवन की सही दिशा देता है, आपका कोटि कोटि धन्यवाद हो। - ऐनी सेटास

बहुत सी पुस्तकें हैं जो ज्ञान सिखाती हैं, किंतु बाइबल ही वह एकमात्र पुस्तक है जो मन परिवर्तित कर देती है।

क्‍योंकि परमेश्वर का वचन जीवित, और प्रबल, और हर एक दोधारी तलवार से भी बहुत चोखा है, और जीव, और आत्मा को, और गांठ गांठ, और गूदे गूदे को अलग करके, आर पार छेदता है; और मन की भावनाओं और विचारों को जांचता है। - इब्रानियों ४:१२

बाइबल पाठ: भजन ११९:९७-१०४
Psa 119:97  अहा! मैं तेरी व्यवस्था में कैसी प्रीति रखता हूं! दिन भर मेरा ध्यान उसी पर लगा रहता है।
Psa 119:98  तू अपनी आज्ञाओं के द्वारा मुझे अपने शत्रुओं से अधिक बुद्धिमान करता है, क्योंकि वे सदा मेरे मन में रहती हैं।
Psa 119:99  मैं अपने सब शिक्षकों से भी अधिक समझ रखता हूं, क्योंकि मेरा ध्यान तेरी चितौनियों पर लगा है।
Psa 119:100  मैं पुरनियों से भी समझदार हूं, क्योंकि मैं तेरे उपदेशों को पकड़े हुए हूं।
Psa 119:101  मैं ने अपने पांवों को हर एक बुरे रास्ते से रोक रखा है, जिस से मैं तेरे वचन के अनुसार चलूं।
Psa 119:102  मैं तेरे नियमों से नहीं हटा, क्योंकि तू ही ने मुझे शिक्षा दी है।
Psa 119:103  तेरे वचन मुझ को कैसे मीठे लगते हैं, वे मेरे मुंह में मधु से भी मीठे हैं!
Psa 119:104  तेरे उपदेशों के कारण मैं समझदार हो जाता हूं, इसलिये मैं सब मिथ्या मार्गों से बैर रखता हूं।
 
एक साल में बाइबल:  
  • निर्गमन ९-११ 
  • मत्ती १५:२१-३०