बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, March 5, 2012

सही जानकारी

   एक यात्रा के समय, हमारे वायुयान को उड़ान भरे लगभग १५ मिनिट ही हुए थे कि यान के चालक ने सूचना दी कि वायुयान में कोई गंभीर समस्या हो गई है, जिसका निवारण करने के लिए विशलेषण किया जा रहा है। कुछ मिनिटों के बाद उसने पुनः सूचना दी कि वायुयान में कंपन्न पैदा हो रही है, इसलिए हमें वापस लौटना पड़ेगा। उसके बाद वायुयान के कर्मचारियों ने जो जो होता रहा उसकी क्रमबद्ध सूचना देना हमें ज़ारी रखा तथा हमें बताते रहे कि परिस्थिति का सामना करने और उससे निपटने के लिए वापस लौटने पर हमें क्या क्या करना होगा। उस घटना में, जहां कुछ भी हो सकता था और सभी यात्रियों के मन बहुत आशंकित तथा विचिलित थे, समय समय पर मिलती रहने वाली सही सूचना ने यात्रियों में शांति और हौंसले को बनाए रखा।

   प्रथम शताब्दी में थिस्सलूनिके के कुछ मसीही विश्वासियों को यह आशंका थी कि उनके प्रीय जन जो संसार से कूच कर गए हैं, वे मसीह के दूसरे आगमन की आशीष से वंचित रह जाएंगे। इसलिए पौलुस ने उनको समझाने के लिए लिखा: "हे भाइयों, हम नहीं चाहते, कि तुम उनके विषय में जो सोते हैं, अज्ञान रहो; ऐसा न हो, कि तुम औरों की नाई शोक करो जिन्‍हें आशा नहीं" (१ थिस्स्लुनिकियों ४:१३)। पौलुस सही जानकारी द्वारा उनके आशंकित मनों को शांत करना चाहता था और उनके भय का निवारण करना चाहता था। पौलुस से मिली सही जानकारी ने ना केवल उनको शांति दी वरन आज हम सब को भी इस विषय में शांति मिलती है, क्योंकि अब हम जानते हैं कि मसीह यीशु में सोए हुए प्रीय जनों से हमारा विछोह कुछ समय का ही है; फिर वह समय आएगा जब हम उनके साथ होंगे, आनन्दित होंगे और सदा काल तक रहेंगे।

   क्योंकि परमेश्वर का वचन बाइबल हमें हर बात के विषय में सही जानकारी देती है, हम हर परिस्थिति में, हर दुख और क्लेष में उससे शांति और सांत्वना पा सकते हैं। - बिल क्राउडर

मृत्यु पूर्णविराम नहीं, केवल अल्पविराम है।

हे भाइयों, हम नहीं चाहते, कि तुम उनके विषय में जो सोते हैं, अज्ञान रहो; ऐसा न हो, कि तुम औरों की नाई शोक करो जिन्‍हें आशा नहीं। - १ थिस्स्लुनिकियों ४:१३
 
बाइबल पाठ: १ थिस्स्लुनिकियों ४:१३-१८
1Th 4:13  हे भाइयों, हम नहीं चाहते, कि तुम उनके विषय में जो सोते हैं, अज्ञान रहो; ऐसा न हो, कि तुम औरों की नाई शोक करो जिन्‍हें आशा नहीं।
1Th 4:14  क्‍योंकि यदि हम प्रतीति करते हैं, कि यीशु मरा, और जी भी उठा, तो वैसे ही परमेश्वर उन्‍हें भी जो यीशु में सो गए हैं, उसी के साथ ले आएगा।
1Th 4:15  क्‍योंकि हम प्रभु के वचन के अनुसार तुम से यह कहते हैं, कि हम जो जीवित हैं, और प्रभु के आने तक बचे रहेंगे तो सोए हुओं से कभी आगे न बढ़ेंगे।
1Th 4:16  क्‍योंकि प्रभु आप ही स्‍वर्ग से उतरेगा, उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्‍द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे।
1Th 4:17  तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे।
1Th 4:18  सो इन बातों से एक दूसरे को शान्‍ति दिया करो।
 
एक साल में बाइबल: 
  • गिनती ३४-३६ 
  • मरकुस ९:३०-५०