बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, March 16, 2012

वास्तविक नायक

   लूई बी. न्यूमिल्लर अपनी नम्रता, ईमानदारी और गुणवन्ता के प्रति समर्पण के लिए विख्यात थे। Caterpillar Tractor Company के अध्यक्ष के रूप में सन १९४१-५४ तक उन्होंने दूसरे विश्वयुद्ध के चुनौती भरे समय के दौरान ज़मीन-ढुलाई के लिए भारी मशीनें बनाने वाली अपनी कंपनी का कुशल नेतृत्व किया और विश्व स्तर पर उसके कार्य को बढ़ाया। अपनी पुस्तक In Their Time: The Greatest Buisness Leaders of the Twentieth Century में लेखक मेयो और नौहिरा ने लूई न्यूमिल्लर के नेतृत्व को "सफल - बैग़र धूमधाम के" कहा। उन लेखकों के अनुसार, न्यूमिल्लर की महानता का चिन्ह था कि उन्होंने अपने व्यवसाय में से अपनी पहचान मिटा दी थी, बस अपनी कंपनी ही को पहचान और प्रशंसा का पात्र बना दिया था; उन्होंने नायक होने का गौरव कंपनी को दे दिया ना कि अपने लिए रखा।

   ऐसी ही निस्वार्थ सेवा का गुण हम परमेश्वर के वचन बाइबल के एक नायक यूहन्ना बप्तिस्मा देने वाले में पाते हैं। यूहन्ना एक गतिशील और प्रबल प्रचारक था किंतु उसने कभी अपने प्रचार और जीवन के उद्देश्य से नज़र नहीं हटाई। बार बार उसने अपने अनुयायियों और लोगों से कहा कि वह प्रभु यीशु मसीहे के लिए मार्ग तैयार करने आया है; वह मसीह नहीं है। जब यूहन्ना के अनुयायियों ने आकर यूहन्ना से शिकायत करी कि वह यीशु जिसे उसने बप्तिस्मा दिया अब स्वयं लोगों को बप्तिस्मा दे रहा है और चेले बना रहा है, तो यूहन्ना ने उन को उत्तर दिया: "तुम तो आप ही मेरे गवाह हो, कि मैं ने कहा, मैं मसीह नहीं, परन्‍तु उसके आगे भेजा गया हूं। अवश्य है कि वह बढ़े और मैं घटूं" (यूहन्ना ३:२८, ३०)।

   प्रभु यीशु मसीह के अनुयायी होने के नाते हम मसीही विश्वासियों के जीवन का उद्देश्य है कि हम अपने जीवनों द्वारा प्रभु यीशु को ऊँचे पर उठाएं, उसे ही महिमा दें ना कि मसीह के नाम में अपने लिए आदर और महिमा पाने की लालसा रखें। यदि मसीह के कार्य में और उसके लिए गवाही के जीवन में संसार में हमारी या हमारे कामों की पहचान नहीं भी होती है या अनदेखी होती है, तौ भी इससे खिन्न होने की बजाए, हमें फिर भी आनन्दित रहना चाहिए कि हमारे प्रभु के नाम को आदर और महिमा प्राप्त हुई; क्योंकि वास्तविक और हम सब का नायक तो वही है। हमारा प्रभु हमारे प्रत्येक कार्य और प्रत्येक बात को जानता है और समय आने पर हमें उनके योग्य प्रतिफल भी देगा, जो संसार से मिलने वाली किसी भी ख्याती से कहीं अधिक बढ़कर होंगे।

   संसार में उस वास्तविक नायक प्रभु यीशु मसीह को आदर और महिमा देना, उसके सच्चे और निस्वार्थ गवाह बनना और उसके समय की प्रतीक्षा करना ही हमारी महानता का चिन्ह है। - डेविड मैक्कैसलैंड


महान मसीही विश्वासी वही है जो अपने आप को गौण करके अपने जीवन में सारा आदर, महिमा और महानता सदा प्रभु यीशु को देता है।

अवश्य है कि वह बढ़े और मैं घटूं। - यूहन्ना ३:३०

बाइबल पाठ: यूहन्ना ३:२२-३१
Joh 3:22  इस के बाद यीशु और उसके चेले यहूदिया देश में आए, और वह वहां उन के साथ रहकर बपतिस्मा देने लगा।
Joh 3:23 और यूहन्ना भी शालेम् के निकट ऐनोन में बपतिस्मा देता था। क्‍योंकि वहां बहुत जल था और लोग आकर बपतिस्मा लेते थे।
Joh 3:24 क्‍योंकि यूहन्ना उस समय तक जेलखाने में नहीं डाला गया था।
Joh 3:25  वहां यूहन्ना के चेलों का किसी यहूदी के साथ शुद्धि के विषय में वाद-विवाद हुआ।
Joh 3:26 और उन्‍होंने यूहन्ना के पास आकर उस से कहा, हे रब्‍बी, जो व्यक्ति यरदन के पार तेरे साथ था, और जिस की तू ने गवाही दी है देख, वह बपतिस्मा देता है, और सब उसके पास आते हैं।
Joh 3:27 यूहन्ना ने उत्तर दिया, जब तक मनुष्य को स्‍वर्ग से न दिया जाए तब तक वह कुछ नहीं पा सकता।
Joh 3:28 तुम तो आप ही मेरे गवाह हो, कि मैं ने कहा, मैं मसीह नहीं, परन्‍तु उसके आगे भेजा गया हूं।
Joh 3:29 जिस की दुलहिन है, वही दूल्हा है: परन्‍तु दूल्हे का मित्र जो खड़ा हुआ उस की सुनता है, दूल्हे के शब्‍द से बहुत हर्षित होता है; अब मेरा यह हर्ष पूरा हुआ है।
Joh 3:30  अवश्य है कि वह बढ़े और मैं घटूं।
Joh 3:31 जो ऊपर से आता है, वह सर्वोत्तम है, जो पृथ्वी से आता है वह पृथ्वी का है, और पृथ्वी की ही बातें कहता है: जो स्‍वर्ग से आता है, वह सब के ऊपर है।


एक साल में बाइबल: 

  • व्यवस्थाविवरण २८-२९ 
  • मरकुस १४:५४-७२