बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, April 6, 2012

बलिदान

   इटली के एक चित्रकार ने १६०२ में एक चित्र बनाया, जिसका शीर्षक है "The Taking of Christ" (प्रभु यीशु का पकड़वाया जाना)। गहरे रंगों में बना यह चित्र वशीभूत कर देने वाला है। इसमें गतसमनी के बाग़ में प्रभु यीशु के पकड़वाए जाने की घटना का चित्रण है। चित्र में दो बातें दर्शक का ध्यान अपनी ओर खेंचती हैं: पहली है प्रभु यीशु का पकड़वाने वाला यहूदा, जिसे पहचान कि निशानी के रुप में प्रभु यीशु को प्रेम का चुंबन देते दिखाया गया है, और दूसरी है दोनो हाथ बांधे शान्त स्वभाव के साथ खड़ा हुआ प्रभु यीशु, जो अपने साथ हो रहे अन्याय के लिए कोई प्रतिरोध नहीं कर रहा है। यद्यपि प्रभु यीशु सृष्टि का सृष्टिकर्ता है और सर्वसामर्थी है, किंतु उस गतसमनी के बाग़ में उसने अपने आप को अपने पकड़ने वालों के हाथ में क्रूस पर चढ़ाए जाने के लिए सौंप दीया।

   अपने पकड़वाए के बहुत पहले प्रभु यीशु ने अपने चेलों से कह दिया था कि कोई उसका जीवन उस से नहीं ले सकता, वह स्वयं ही अपने प्राण आप देगा (यूहन्ना १०:१८)। इतना ही नहीं, प्रभु यीशु के जन्म से सैकड़ों वर्ष पूर्व, परमेश्वर के भविष्यद्वक्ता, यशायाह ने प्रभु यीशु से संबंधित अपनी भविष्यवाणियों में यह बात बता दी थी: "वह सताया गया, तौभी वह सहता रहा और अपना मुंह न खोला; जिस प्रकार भेड़ वध होने के समय वा भेड़ी ऊन कतरने के समय चुपचाप शान्त रहती है, वैसे ही उस ने भी अपना मुंह न खोला" (यशायाह ५३:७)।

   प्रभु यीशु का यह बलिदान उसके महान प्रेम का सूचक है; उसने कहा था: "इस से बड़ा प्रेम किसी का नहीं, कि कोई अपने मित्रों के लिये अपना प्राण दे। जो कुछ मैं तुम्हें आज्ञा देता हूं, यदि उसे करो, तो तुम मेरे मित्र हो" (यूहन्ना १५:१३)।

   ज़रा सोचिए, उसने आप से इतना प्रेम किया कि अपने आप को आपके लिए बलिदान कर दिया। आपने उसके इस प्रेम के लिए उसे क्या दिया? - बिल क्राउडर


प्रभु यीशु के कीलों से छिदे हाथ परमेश्वर के प्रेम से छिदे हृदय को दिखाते हैं।

वह सताया गया, तौभी वह सहता रहा और अपना मुंह न खोला; जिस प्रकार भेड़ वध होने के समय वा भेड़ी ऊन कतरने के समय चुपचाप शान्त रहती है, वैसे ही उस ने भी अपना मुंह न खोला। - यशायाह ५३:७
बाइबल पाठ: यशायाह ५३:१-१२
Isa 53:1  जो समाचार हमें दिया गया, उसका किस ने विश्वास कया? और यहोवा का भुजबल किस पर प्रगट हुआ?
Isa 53:2  क्योंकि वह उसके साम्हने अंकुर की नाईं, और ऐसी जड़ के समान उगा जो निर्जल भूमि में फूट निकले; उसकी न तो कुछ सुन्दरता थी कि हम उसको देखते, और न उसका रूप ही हमें ऐसा दिखाई पड़ा कि हम उसको चाहते।
Isa 53:3  वह तुच्छ जाना जाता और मनुष्यों का त्यागा हुआ था; वह दु:खी पुरूष था, रोग से उसकी जान पहिचान थी, और लोग उस से मुख फेर लेते थे। वह तुच्छ जाना गया, और, हम ने उसका मूल्य न जाना।
Isa 53:4  निश्चय उस ने हमारे रोगों को सह लिया और हमारे ही दु:खों को उठा लिया; तौभी हम ने उसे परमेश्वर का मारा-कूटा और दुर्दशा में पड़ा हुआ समझा।
Isa 53:5  परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के हेतु कुचला गया; हमारी ही शान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी कि उसके कोड़े खाने से हम चंगे हो जाएं।
Isa 53:6  हम तो सब के सब भेड़ों की नाईं भटक गए थे, हम में से हर एक ने अपना अपना मार्ग लिया; और यहोवा ने हम सभों के अधर्म का बोझ उसी पर लाद दिया।
Isa 53:7  वह सताया गया, तौभी वह सहता रहा और अपना मुंह न खोला; जिस प्रकार भेड़ वध होने के समय वा भेड़ी ऊन कतरने के समय चुपचाप शान्त रहती है, वैसे ही उस ने भी अपना मुंह न खोला।
Isa 53:8  अत्याचार करके और दोष लगाकर वे उसे ले गए; उस समय के लोगों में से किस ने इस पर ध्यान दिया कि वह जीवतों के बीच में से उठा लिया गया; मेरे ही लोगों के अपराधों के कारण उस पर मार पड़ी।
Isa 53:9  और उसकी कब्र भी दुष्टों के संग ठहराई गई, और मृत्यु के समय वह धनवान का संगी हुआ, यद्यपि उस ने किसी प्रकार का अपद्रव न किया था और उसके मुंह से कभी छल की बात नहीं निकली थी।
Isa 53:10  तौभी यहोवा को यही भाया कि उसे कुचले; उसी ने उसको रोगी कर दिया; जब तू उसका प्राण दोषबलि करे, तब वह अपना वंश देखने पाएगा, वह बहुत दिन जीवित रहेगा, उसके हाथ से यहोवा की इच्छा पूरी हो जाएगी।
Isa 53:11  वह अपने प्राणों का दु:ख उठा कर उसे देखेगा और तृप्त होगा; अपने ज्ञान के द्वारा मेरा धर्मी दास बहुतेरों को धर्मी ठहराएगा, और उनके अधर्म के कामों का बोझ आप उठा लेगा।
Isa 53:12  इस कारण मैं उसे महान लोगों के संग भाग दूंगा, और, वह सामर्थियों के संग लूट बांट लेगा, क्योंकि उसने अपना प्राण मृत्यु के लिये उण्डेल दिया, वह अपराधियों के संग गिना गया, तौभी उस ने बहुतों के पाप का बोझ उठ लिया, और, अपराधियों के लिये बिनती करता है।
एक साल में बाइबल: 
  • १ शमूएल ४-६ 
  • लूका ९:१-१७