बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, July 8, 2012

झूठी भविष्यवाणीयां

   इस समाचार के साथ कि २२ जुलाई २००९ को सूर्य ग्रहण होगा, एक आतंकित कर देने वाली भविष्यवाणी भी सुनाई देने लगी। कुछ लोगों ने यह भ्रम फैला दिया कि ग्रहण के समय पृथ्वी के गुरुत्वाकर्ष्ण पर प्रभाव पड़ेगा जिसके कारण एक बड़ा भूकम्प होगा और जापान पर विनाशकारी सुनामी आएगी। शीघ्र ही अमेरिका के भूगर्भीय अनुसन्धान केंद्र ने इस भविष्यवाणी को गलत घोषित किया और सूचना दी कि "अभी तक कहीं भी कोई भी वैज्ञानिक कभी भी किसी भूकम्प की भविष्यवाणी नहीं कर सका है; ना ही उनके पास ऐसी भविष्यवाणी करने के कोई साधन हैं और ना ही निकट भविश्य में ऐसा कोई साधन उपलब्ध होने की संभावना है।"

   प्रभु यीशु मसीह के पुनःआगमन के समय और तिथि के बारे में भी समय समय पर कई झूठी भविश्यवाणीयां होती रहीं हैं; बावजूद इसके कि स्वयं प्रभु यीशु ने ज़ोर देकर कहा था कि "उस दिन और उस घड़ी के विषय में कोई नहीं जानता, न स्‍वर्ग के दूत, और न पुत्र, परन्‍तु केवल पिता" (मत्ती २४:३६)। प्रभु यीशु मसीह ने अपने चेलों को बताया कि उसके दूसरे आगमन के समय के बारे में चिंतित रहने की बजाए उन्हें सतर्क रहना है (पद ४२) और प्रतीक्षा करनी है (पद ४६) और परमेश्वर द्वारा दिए गए कार्य को पूरा करते रहना है।

   प्रेरित पतरस ने भी अपनी पत्री में इसी के बारे में लिखते समय मसीही विश्वासियों को अपनी गवाही के बनाए रखने के विषय में सचेत रहने का आग्रह किया : "परन्‍तु प्रभु का दिन चोर की नाईं आ जाएगा, उस दिन आकाश बड़ी हड़हड़ाहट के शब्‍द से जाता रहेगा, और तत्‍व बहुत ही तप्‍त होकर पिघल जाएंगे, और पृथ्वी और उस पर के काम जल जाऐंगे। तो जब कि ये सब वस्‍तुएं, इस रीति से पिघलने वाली हैं, तो तुम्हें पवित्र चालचलन और भक्ति में कैसे मनुष्य होना चाहिए" (२ पतरस ३:१०-११)।

   प्रभु यीशु चाहते हैं कि सभी मसीही विश्वासी अपनी अपनी ज़िम्मेवारियों के पूरा करने और परमेश्वर के लिए कार्य करने में लगे रहें, "और उस धन्य आशा की अर्थात अपने महान परमेश्वर और उद्धारकर्ता यीशु मसीह की महिमा के प्रगट होने की बाट जोहते रहें" (तीतुस २:१३)। जो सजग होकर बाट जोहेगा वह अपनी गवाही और चरित्र को ठीक रखेगा, अपने कार्य को पूरा रखेगा जिससे प्रभु जब भी आए उसे तैयार पाए।

   हो सकता है कि यह आज ही हो; क्या आप आज ही मसीह के दूसरे आगमन और उसे अपने जीवन का हिसाब देने के लिए तैयार हैं?- सी. पी. हिया


मसीह के दूसरे आगमन की बाट जोहने लगिए, आप मसीह की महिमा के लिए जीवन व्यतीत करने लगेंगे।

जब वह जैतून पहाड़ पर बैठा था, तो चेलों ने अलग उसके पास आकर कहा, हम से कह कि ये बातें कब होंगी और तेरे आने का, और जगत के अन्‍त का क्‍या चिन्‍ह होगा? - मत्ती २४:३

बाइबल पाठ: मत्ती २४:३५-४४
Mat 24:35  आकाश और पृथ्वी टल जाएंगे, परन्‍तु मेरी बातें कभी न टलेंगी।
Mat 24:36  उस दिन और उस घड़ी के विषय में कोई नहीं जानता, न स्‍वर्ग के दूत, और न पुत्र, परन्‍तु केवल पिता।
Mat 24:37   जैसे नूह के दिन थे, वैसा ही मनुष्य के पुत्र का आना भी होगा।
Mat 24:38  क्‍योंकि जैसे जल-प्रलय से पहिले के दिनों में, जिस दिन तक कि नूह जहाज पर न चढ़ा, उस दिन तक लोग खाते-पीते थे, और उन में ब्याह शादी होती थी।
Mat 24:39   और जब तक जल-प्रलय आकर उन सब को बहा न ले गया, तब तक उन को कुछ भी मालूम न पड़ा; वैसे ही मनुष्य के पुत्र का आना भी होगा।
Mat 24:40   उस समय दो जन खेत में होंगे, एक ले लिया जाएगा और दूसरा छोड़ दिया जाएगा।
Mat 24:41  दो स्‍त्रियां चक्की पीसती रहेंगी, एक ले ली जाएगी, और दूसरी छोड़ दी जाएगी।
Mat 24:42  इसलिये जागते रहो, क्‍योंकि तुम नहीं जानते कि तुम्हारा प्रभु किस दिन आएगा।
Mat 24:43  परन्‍तु यह जान लो कि यदि घर का स्‍वामी जानता होता कि चोर किस पहर आएगा, तो जागता रहता, और अपने घर में सेंध लगने न देता।
Mat 24:44  इसलिये तुम भी तैयार रहो, क्‍योंकि जिस घड़ी के विषय में तुम सोचते भी नहीं हो, उसी घड़ी मनुष्य का पुत्र आ जाएगा।


एक साल में बाइबल: 

  • अय्युब ३६-३७ 
  • प्रेरितों १५:२२-४१