बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, July 28, 2012

मरम्मत और बहाली


   यदि आपने कभी किसी चीज़ की मरम्मत करने की असफल कोशिश की होगी तो आप एक कारखाने के सामने लगे लेख की सराहना कर सकेंगे जहां लिखा था: "आपके पति ने जिसकी मरम्मत करी है, हम उसे भी ठीक और बहाल कर सकते हैं।" चाहे खराबी कार में हो, घर के सामान में हो या पानी के पाइप अथवा नलके में हो, समस्या का निवारण उसके द्वारा ही भला होता है जो इसके लिए प्रशिक्षित हो और उस कार्य के करने में विश्वासयोग्य हो।

   यही सिद्धांत हमारे आंतरिक संघर्षों, आत्मिक जीवन और पाप पर भी लागू होता है। इन्हें अन्त करने के हमारे सभी प्रयास असफल रहते हैं; क्योंकि हम या तो अपने प्रयासों और योजनाओं के सहारे ऐसा करना चाहते हैं, या उन मनुष्यों के सुझाए मार्गों द्वारा करना चाहते हैं जो स्वयं इन बुराइयों को अपने जीवन से दूर नहीं कर सके। जबकि इन बुराइयों का अन्त केवल उसी के द्वारा संभव है जो इनके निवारण का विशेषज्ञ है, इन पर सामर्थी है - अर्थात परमेश्वर।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में यर्मियाह नबी ने अपने दिनों के उन झूठे भविष्यद्वाक्ताओं और धार्मिक अगुवों की निन्दा करी जो परमेश्वर के नाम से लोगों को झूठी दिलासा देते थे, झूठे मार्ग सुझाते थे; यर्मियाह में हो कर परमेश्वर ने उनके विषय में कहा: "वे, “शान्ति है, शान्ति,” ऐसा कह कहकर मेरी प्रजा के घाव को ऊपर ही ऊपर चंगा करते हैं, परन्तु शान्ति कुछ भी नहीं" (यर्मियाह ६:१४)। वे भविष्यद्वाक्ता और अगुवे ना तो अपने आप को सही करने पाए और ना परमेश्वर की प्रजा को। इसलिए स्वयं परमेश्वर ने अपने लोगों को पुकारा कि वे उसके मार्गों पर चलें: "यहोवा यों भी कहता है, सड़कों पर खड़े होकर देखो, और पूछो कि प्राचीनकाल का अच्छा मार्ग कौन सा है, उसी में चलो, और तुम अपने अपने मन में चैन पाओगे..." (यर्मियाह ६:१६)। परमेश्वर ने अपनी प्रजा को चेतावनी भी दी कि यदि वे बहाली की उसकी पुकार को नज़रंदाज़ करते रहे तो उन्हें फिर उसका परिणाम भी भुगतना पड़ेगा।

   इस बात के कहे जाने के कई सदियों बाद, परमेश्वर के पुत्र प्रभु यीशु ने लोगों को निमंत्रण दिया: "हे सब परिश्रम करने वालों और बोझ से दबे लोगों, मेरे पास आओ; मैं तुम्हें विश्राम दूंगा" (मत्ती ११:२८)।

   जब हम अपने जीवन प्रभु यीशु के हाथों में समर्पित कर देते हैं तो वह उनकी मरम्मत कर के हमें अंश अंश करके अपनी समानता में बदालना आरंभ कर देता है "तो प्रभु के द्वारा जो आत्मा है, हम उसी तेजस्‍वी रूप में अंश अंश कर के बदलते जाते हैं" (२ कुरिन्थियों ३:१८); जीवन के उन भागों को भी जिनकी मरम्मत करने में हम असफल रहे हैं। मसीह यीशु में लाए गए विश्वास, पापों की क्षमा और किए गए समर्पण द्वारा हम परमेश्वर के राज्य में प्रवेश एवं निवास के लिए बहाल किये जाते हैं। जो प्रभु द्वारा इस मरम्मत के लिए दिये गए अवसर का लाभ नहीं उठाते और बहाली के लिए प्रभु की पुकार को नज़रंदाज़ करते हैं, उन्हें फिर अपने पापों का दण्ड भोगना ही पड़ेगा।

  क्या आपने अपने जीवन की मरम्मत और बहाली के लिए प्रभु यीशु द्वारा दिखाए मार्ग पर चलने का निर्णय ले लिया है? - डेविड मैक्कैसलैंड


परमेश्वर जब पाप क्षमा करता है तब वह हमारे जीवन से पाप को दूर भी करता है और आत्मा को बहाल भी करता है।

यहोवा यों भी कहता है, सड़कों पर खड़े होकर देखो, और पूछो कि प्राचीनकाल का अच्छा मार्ग कौन सा है, उसी में चलो, और तुम अपने अपने मन में चैन पाओगे... यर्मियाह ६:१६

बाइबल पाठ: यर्मियाह ६:१४-१९
Jer 6:14  वे, “शान्ति है, शान्ति,” ऐसा कह कह कर मेरी प्रजा के घाव को ऊपर ही ऊपर चंगा करते हैं, परन्तु शान्ति कुछ भी नहीं। 
Jer 6:15  क्या वे कभी अपने घृणित कामों के कारण लज्जित हुए? नहीं, वे कुछ भी लज्जित नहीं हुए?; वे लज्जित होना जानते ही नहीं; इस कारण जब और लोग नीचे गिरें, तब वे भी गिरेंगे, और जब मैं उनको दण्ड देने लगूंगा, तब वे ठोकर खाकर गिरेंगे, यहोवा का यही वचन है। 
Jer 6:16  यहोवा यों भी कहता है, सड़कों पर खडे होकर देखो, और पूछो कि प्राचीनकाल का अच्छा मार्ग कौन सा है, उसी में चलो, और तुम अपने अपने मन में चैन पाओगे। पर उन्होंने कहा, हम उस पर न चलेंगे। 
Jer 6:17  मैं ने तुम्हारे लिये पहरुए बैठा कर कहा, नरसिंगे का शब्द ध्यान से सुनना ! पर उन्होंने कहा, हम न सुनेंगे। 
Jer 6:18  इसलिये, हे जातियो, सुनो, और हे मण्डली, देख, कि इन लोगों में क्या हो रहा है। 
Jer 6:19  हे पृथ्वी, सुन; देख, कि मैं इस जाति पर वह विपत्ति ले आऊंगा जो उनकी कल्पनाओं का फल है, क्योंकि इन्होंने मेरे वचनों पर ध्यान नहीं लगाया, और मेरी शिक्षा को इन्होंने निकम्मी जाना है।


एक साल में बाइबल: 

  • भजन ४६-४८ 
  • प्रेरितों २८