बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, August 1, 2012

सहायता और दान


   मैं आपके बारे में तो नहीं जानता, परन्तु जब मैं किसी के लिए कोई कार्य करता हूँ तो उसका श्रेय मिलना मुझे अच्छा लगता है। मैं यह भी जानता हूँ कि धन्यवाद के शब्द या कार्ड पाने की इच्छा रखने वाला मैं अकेला ही नहीं हूँ। साथ ही मुझे यह भी पता है कि अज्ञात रूप से किसी की सहायता करने या दान देने में कोई तो विशेष बात है क्योंकि स्वयं हमारे प्रभु यीशु ने ऐसा करने को कहा है।

   इसीलिए जब एक दिन हमारे घर के दरवाज़े के सामने एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा भेजी गई भेंट रखी मिली तो मैं बहुत प्रभावित हुआ। हम लोग शहर से बाहर गए हुए थे, और जब घर लौटे तो घर के सामने कई गमले रखे हुए थे, हर एक गमले में एक खिला हुआ सूरजमुखी का फूल था। हमें इसका आश्य समझने में देर नहीं लगी - ये फूल हमारी दिवंगत बेटी मेलिस्सा के जन्मदिन के स्मरण में भेजे गए थे, क्योंकि उसे सूरजमुखी के फूल बहुत पसन्द थे। कोई हमें जता रहा था कि वह भी मेलिस्सा को याद करता है और अज्ञात रूप में दे कर उसने यह भी जता दिया कि उसे अपनी नहीं हमारे परिवार की परवाह है।

   ज़रा कल्पना कीजिए एक ऐसे संसार की जहां सब ही उदारता से और निस्वार्थ होकर सहायता या दान करते हों। प्रभु यीशु ने परमेश्वर के वचन बाइबल में मत्ती ६ अध्याय में गुप्त में देने के बारे में सिखाया। उन्होंने कहा, "परन्‍तु जब तू दान करे, तो जो तेरा दाहिना हाथ करता है, उसे तेरा बांया हाथ न जानने पाए। ताकि तेरा दान गुप्‍त रहे; और तब तेरा पिता जो गुप्‍त में देखता है, तुझे प्रतिफल देगा" (मत्ती ६:३-४)।

   व्यावाहरिक रूप में, संसार में सदा ही गुप्त रीति से सहायता करना या देना शायद संभव ना हो; कई बार हमारे द्वारा दी गई सहायता या भेंट प्रकट हो जाती है या अन्य लोगों की उपस्थिति में दी जाती है। किंतु हर सहायता और दान एक निस्वार्थ नम्रता तथा परमेश्वर द्वारा निर्देशित रीति से अवश्य ही दिया जा सकता है। जब ऐसा होता है तो परमेश्वर की ओर से उसका प्रतिफल भी बड़ा होता है। - डेव ब्रैनन


हमारे दान का सच्चा मापदण्ड निस्वार्थ और आत्मत्याग से दिया गया दान है।

परन्‍तु जब तू दान करे, तो जो तेरा दाहिना हाथ करता है, उसे तेरा बांया हाथ न जानने पाए। - मत्ती ६:३

बाइबल पाठ: मत्ती ६:१-४
Mat 6:1  सावधान रहो! तुम मनुष्यों को दिखाने के लिये अपने धर्म के काम न करो, नहीं तो अपने स्‍वर्गीय पिता से कुछ भी फल न पाओगे। 
Mat 6:2   इसलिये जब तू दान करे, तो अपने आगे तुरही न बजवा, जैसा कपटी, सभाओं और गलियों में करते हैं, ताकि लोग उन की बड़ाई करें, मैं तुम से सच कहता हूं, कि वे अपना फल पा चुके। 
Mat 6:3  परन्‍तु जब तू दान करे, तो जो तेरा दाहिना हाथ करता है, उसे तेरा बांया हाथ न जानने पाए। 
Mat 6:4  ताकि तेरा दान गुप्‍त रहे; और तब तेरा पिता जो गुप्‍त में देखता है, तुझे प्रतिफल देगा।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन ५७-५९ 
  • रोमियों ४