बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, August 21, 2012

वायदे


   जब कोई लंबी सांस भर कर दुखी आवाज़ में कहता है, ’वायदे-वायदे’ तो अधिकांशतः यह किसी के द्वारा उससे किया गया वायदा पूरा ना करने के कारण होता है। यह जितना अधिक गंभीर या जितनी अधिक बार होता है, उतनी ही गहरी आह उस टूटे वायदे के लिए भरी जाती है।

   क्या आपको कभी ऐसा लगा कि परमेश्वर ने अपने वायदे पूरे नहीं किए? यह एक विचार बनकर आरंभ होता है और धीरे धीरे बढ़कर प्रवृत्ति का रूप ले लेता है। परमेश्वर के वचन बाइबल का महान नायक ईब्राहिम, जिसे बाइबल में ’विश्वासियों का पिता’ और जिसके परमेश्वर मे दृढ़ विश्वास को उसकी धार्मिकता माना गया, भी इससे अछूता नहीं था।

   परमेश्वर ने इब्राहिम से वायदा किया, "और मैं तुझ से एक बड़ी जाति बनाऊंगा, और तुझे आशीष दूंगा, और तेरा नाम बड़ा करूंगा, और तू आशीष का मूल होगा" (उत्पत्ति १२:२), और इसके २५ वर्ष के बाद उसका उत्तराधिकारी पुत्र इसहाक पैदा हुआ (उत्पत्ति २१:५)। इस २५ वर्ष के समय में इब्राहिम ने सन्तान ना होने के लिए अपनी निराशा व्यक्त करी और परमेश्वर से प्रश्न किया (उत्पत्ति १५:२); अपनी पत्नि सारा के कहने पर सारा की दासी के द्वारा एक पुत्र भी पाया (उत्पत्ति १६:१५)।

   इन सभी उतार-चढ़ावों में परमेश्वर अपने वायदे के बारे में इब्राहिम को स्मरण दिलाता रहा और उससे कहता रहा कि वह परमेश्वर के साथ विश्वासयोग्यता से चलता रहे, अपने विश्वास को डगमगाने ना दे (उत्पत्ति १७:२)।

   जब कभी हम बाइबल में दिए गए परमेश्वर के किसी वायदे पर विश्वास करके उसे अपने जीवन में मांग लेते हैं, चाहे वह मन की शांति के लिए हो, साहस के लिए हो, अथवा हमारी किसी आवश्यक्ता की पूर्ति के लिए हो, तब हम अपने आप को परमेश्वर के हाथों में और उसके समयानुसार वायदे की पूर्ति के लिए समर्पित कर देते हैं। परमेश्वर के समय की प्रतीक्षा करते हुए हमें प्रतीत हो सकता है कि वह हमें भूल गया है, किंतु वह अपनी प्रतिज्ञाओं में विश्वासयोग्य और कभी ना भूलने वाला परमेश्वर है। अपने समय और अपने तरीके से वह अपना वायदा अवश्य पूरा करेगा, और जिस रीति से पूरा करेगा वह हमारे लिए सर्वोत्तम और सबसे अधिक लाभकारी होगी।

   वायदे का निश्चय हमारे मनों में और पूर्ति का समय परमेश्वर के हाथों में रहता है। - डेविड मैक्कैसलैंड


परमेश्वर का प्रत्येक वायदा उसके ज्ञान, सामर्थ और प्रेम पर आधारित रहता है।

सो सारा को इब्राहीम से गर्भवती हो कर उसके बुढ़ापे में उसी नियुक्त समय पर जो परमेश्वर ने उस से ठहराया था एक पुत्र उत्पन्न हुआ। - उत्पत्ति २१:२

बाइबल पाठ: उत्पत्ति १२:१-४; २१:१-७
Gen 12:1  यहोवा ने अब्राम से कहा, अपने देश, और अपनी जन्मभूमि, और अपने पिता के घर को छोड़कर उस देश में चला जा जो मैं तुझे दिखाऊंगा। 
Gen 12:2  और मैं तुझ से एक बड़ी जाति बनाऊंगा, और तुझे आशीष दूंगा, और तेरा नाम बड़ा करूंगा, और तू आशीष का मूल होगा। 
Gen 12:3  और जो तुझे आशीर्वाद दें, उन्हें मैं आशीष दूंगा, और जो तुझे कोसे, उसे मैं शाप दूंगा; और भूमण्डल के सारे कुल तेरे द्वारा आशीष पाएंगे। 
Gen 12:4  यहोवा के इस वचन के अनुसार अब्राम चला; और लूत भी उसके संग चला; और जब अब्राम हारान देश से निकला उस समय वह पचहत्तर वर्ष का था। 
Gen 21:1  सो यहोवा ने जैसा कहा था वैसा ही सारा की सुधि लेके उसके साथ अपने वचन के अनुसार किया। 
Gen 21:2  सो सारा को इब्राहीम से गर्भवती होकर उसके बुढ़ापे में उसी नियुक्त समय पर जो परमेश्वर ने उस से ठहराया था एक पुत्र उत्पन्न हुआ। 
Gen 21:3  और इब्राहीम ने अपने पुत्र का नाम जो सारा से उत्पन्न हुआ या इसहाक रखा। 
Gen 21:4  और जब उसका पुत्र इसहाक आठ दिन का हुआ, तब उस ने परमेश्वर की आज्ञा के अनुसार उसका खतना किया। 
Gen 21:5  और जब इब्राहीम का पुत्र इसहाक उत्पन्न हुआ तब वह एक सौ वर्ष का था। 
Gen 21:6  और सारा ने कहा, परमेश्वर ने मुझे प्रफुल्लित कर दिया है; इसलिये सब सुनने वाले भी मेरे साथ प्रफुल्लित होंगे। 
Gen 21:7  फिर उस ने यह भी कहा, कि क्या कोई कभी इब्राहीम से कह सकता था, कि सारा लड़कों को दूध पिलाएगी? पर देखो, मुझ से उसके बुढ़ापे में एक पुत्र उत्पन्न हुआ।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन १०७-१०९ 
  • १ कुरिन्थियों ४