बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, September 5, 2012

सदा उपस्थित


   रेडियो इंजीनीयर RBC सेवकाई के एक कार्यक्रम के, अंतरिक्ष में स्थित उपग्रह के द्वारा, प्रसारण की तैयारियों में लगे हुए थे। उन्होंने सब काम ठीक से पूरे कर लिए, उपग्रह से संपर्क भी जोड़ लिया, परन्तु जैसे ही प्रसारण को उपग्रह तक पहुँचाना आरंभ करने का समय आया, उपग्रह से संपर्क टूट गया। इंजीनियर बहुत परेशान हुए, संपर्क फिर से स्थापित करने की बहुत कोशिश करी किंतु सब नाकाम रहा। फिर उन्हें एक सन्देश पहुँचा - उपग्रह अब अपनी कक्षा में नहीं रहा है, अचानक ही वह उपग्रह अंतरिक्ष से गिर पड़ा और नष्ट हो गया।

   कभी कभी प्रार्थना करते समय हमें भी ऐसा लग सकता है कि वह परमेश्वर जिससे हम संपर्क बनाए और प्रार्थना करना चाह रहे हैं, अचानक ही कहीं ग़ायब हो गया है, उससे हमारा संपर्क हो ही नहीं पा रहा है। किंतु परमेश्वर का वचन बाइबल हमें आश्वस्त करती है कि परमेश्वर ’अंतरिक्ष से गिर नहीं पड़ा’; वह वहीं है और हमारे लिए हमेशा उपलब्ध है, हमारी देखभाल करता है, हमारी प्रार्थनाएं सुनता है और उनका उत्तर भी देता है।

   दाऊद ने अपनी एक निराशा की स्थिति में लिखा, "सांझ को, भोर को, दोपहर को, तीनों पहर मैं दोहाई दूंगा और कराहता रहूंगा। और वह मेरा शब्द सुन लेगा" (भजन ५५:१७)। हम चाहे जब भी अपने परमेश्वर पिता को पुकारें, वह अपने बच्चों की पुकार सदा सुनता है। जब दाऊद ने पुकारा, परमेश्वर ने उसकी पुकार सुनी, इसीलिए दाऊद ने आगे लिखा, "अपना बोझ यहोवा पर डाल दे वह तुझे सम्भालेगा; वह धर्मी को कभी टलने न देगा" (भजन ५५:२२)। दाऊद द्वारा अपने अनुभव से लिखा गया यह आश्वासन बहुत उत्साहवर्धक है।

   चाहे परमेश्वर हमारे कहे के अनुसार और इच्छित समय में उत्तर ना दे, किंतु वह जो करेगा और जब करेगा वही हमारे लिए सर्वोत्तम होगा। हमारे लिए यही बहुत है कि वह सांझ को, भोर को, दोपहर को, तीनों पहर हमारे लिए सदा उपस्थित और कार्यकारी रहता है। - बिल क्राउडर


परमेश्वर अपने बच्चों की प्रार्थनाएं सुनने के लिए सदा उपलब्ध रहता है।

सांझ को, भोर को, दोपहर को, तीनों पहर मैं दोहाई दूंगा और कराहता रहूंगा। और वह मेरा शब्द सुन लेगा। - भजन ५५:१७

बाइबल पाठ: भजन ५५:१६-२३
Psa 55:16  परन्तु मैं तो परमेश्वर को पुकारूंगा; और यहोवा मुझे बचा लेगा। 
Psa 55:17  सांझ को, भोर को, दोपहर को, तीनों पहर मैं दोहाई दूंगा और कराहता रहूंगा। और वह मेरा शब्द सुन लेगा। 
Psa 55:18  जो लड़ाई मेरे विरूद्ध मची थी उस से उस ने मुझे कुशल के साथ बचा लिया है। उन्होंने तो बहुतों को संग लेकर मेरा साम्हना किया था। 
Psa 55:19  ईश्वर जो आदि से विराजमान है यह सुनकर उनको उत्तर देगा। ये वे हैं जिन में कोई परिवर्तन नहीं और उन में परमेश्वर का भय है ही नहीं।
Psa 55:20  उस ने अपने मेल रखने वालों पर भी हाथ छोड़ा है, उस ने अपनी वाचा को तोड़ दिया है। 
Psa 55:21  उसके मुंह की बातें तो मक्खन सी चिकनी थी परन्तु उसके मन में लड़ाई की बातें थीं; उसके वचन तेल से अधिक नरम तो थे परन्तु नंगी तलवारें थीं।
Psa 55:22  अपना बोझ यहोवा पर डाल दे वह तुझे सम्भालेगा; वह धर्मी को कभी टलने न देगा।
Psa 55:23  परन्तु हे परमेश्वर, तू उन लोगों को विनाश के गड़हे में गिरा देगा; हत्यारे और छली मनुष्य अपनी आधी आयु तक भी जीवित न रहेंगे। परन्तु मैं तुझ पर भरोसा रखे रहूंगा।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन १४६-१४७ 
  • १ कुरिन्थियों १५:१-२८