बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, October 19, 2012

जमाखोर या उदार?


   अगस्त १९१४ में जब ब्रिटेन प्रथम विश्वयुद्ध में प्रवेश हुआ तो प्रसिद्ध मसीही प्रचारक ओस्वॉल्ड चैम्बर्स ४० वर्ष के थे, उनके साथ उनकी पत्नि और १ वर्षीय पुत्री भी थी। ब्रिटेन के युद्ध में जाने के कुछ ही दिनों में प्रतिदिन ३०,००० लोग तक सेना में भर्ती होने लगे, नागरिकों से कहा गया कि वे अपनी गाड़ियां तथा घोड़े सरकार को बेच दें, और फिर कुछ दिन पश्चात युद्ध में घायल तथा मृतकों की सूचियां भी प्रकाशित होनी आरंभ हो गईं। राष्ट्र के सामने आर्थिक अनिश्चितता तथा अस्थिरता आ गई।

   युद्ध में जाने के एक महीने के अन्दर ही ओस्वॉल्ड चैम्बर्स ने मसीही विश्वासियों के सामने खड़ी आत्मिक चुनौती पर एक सन्देश दिया। उन्होंने अपने सन्देश में कहा: "हमें ध्यान देना है कि वर्तमान चुनौतियों में जब युद्ध और विनाश के कारण संसार भर में दुख आ पड़ा है, तो हम विश्वासी अपने आप को अपने ही संसार में सबसे अलग करके, परमेश्वर द्वारा हमें हमारे संगी नागरिकों और सैनिकों के लिए सेवा, देखभाल और प्रार्थना की जो ज़िम्मेदारी सौंपी गई है, उसे अनदेखा ना कर दें।"

   हर युग में परमेश्वर की बुलाहट अपने लोगों के लिए स्पष्ट रहती है: "उदारता से भूखे की सहायता करे और दीन दु:खियों को सन्तुष्ट करे, तब अन्धियारे में तेरा प्रकाश चमकेगा, और तेरा घोर अन्धकार दोपहर का सा उजियाला हो जाएगा" (यशायाह ५८:१०)। भय हमें, जो हमारे पास है उसे जमा करके अपने प्रयोग के लिए रख लेने को उकसाता है; परन्तु परमेश्वर में विश्वास और उसका प्रेम हमें उदार बनाकर जो हमारे पास है उसे दूसरों की सहायता के लिए उपयोग करने वाला बनाता है।

   जो परमेश्वर के प्रेम और भय में जीते हैं उनके जीवनों में जमाखोरी नहीं उदारता दिखाई देती है। संसार के इस कठिन दौर में आपकी प्रवृत्ति कैसी है - जमाखोरी की या उदारता की? - डेविड मैक्कैसलैंड


जब मसीह का प्रेम हम में बढ़ने लगता है तब वह हम में से प्रवाहित भी होने लगता है।

उदारता से भूखे की सहायता करे और दीन दु:खियों को सन्तुष्ट करे, तब अन्धियारे में तेरा प्रकाश चमकेगा, और तेरा घोर अन्धकार दोपहर का सा उजियाला हो जाएगा। - यशायाह ५८:१०

बाइबल पाठ: यशायाह ५८:६-१२
Isa 58:6  जिस उपवास से मैं प्रसन्न होता हूं, वह क्या यह नहीं, कि, अन्याय से बनाए हुए दासों, और अन्धेर सहने वालों का जुआ तोड़ कर उनको छुड़ा लेना, और, सब जुओं को टूकड़े टूकड़े कर देना? 
Isa 58:7  क्या वह यह नहीं है कि अपनी रोटी भूखों को बांट देना, अनाथ और मारे मारे फिरते हुओं को अपने घर ले आना, किसी को नंगा देखकर वस्त्र पहिनाना, और अपने जाति-भाइयों से अपने को न छिपाना? 
Isa 58:8  तब तेरा प्रकाश पौ फटने की नाईं चमकेगा, और तू शीघ्र चंगा हो जाएगा; तेरा धर्म तेरे आगे आगे चलेगा, यहोवा का तेज तेरे पीछे रक्षा करते चलेगा। 
Isa 58:9  तब तू पुकारेगा और यहोवा उत्तर देगा; तू दोहाई देगा और वह कहेगा, मैं यहां हूं। यदि तू अन्धेर करना और उंगली मटकाना, और, दुष्ट बातें बोलना छोड़ दे, 
Isa 58:10  उदारता से भूखे की सहायता करे और दीन दु:खियों को सन्तुष्ट करे, तब अन्धियारे में तेरा प्रकाश चमकेगा, और तेरा घोर अन्धकार दोपहर का सा उजियाला हो जाएगा। 
Isa 58:11  और यहोवा तुझे लगातार लिए चलेगा, और काल के समय तुझे तृप्त और तेरी हड्डियों को हरी भरी करेगा, और तू सींची हुई बारी और ऐसे सोते के समान होगा जिसका जल कभी नहीं सूखता। 
Isa 58:12  और तेरे वंश के लोग बहुत काल के उजड़े हुए स्थानों को फिर बसाएंगे; तू पीढ़ी पीढ़ी की पड़ी हुई नेव पर घर उठाएगा; तेरा नाम टूटे हुए बाड़े का सुधारक और पथों का ठीक करने वाला पड़ेगा।

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह ५६-५८ 
  • २ थिस्सलुनीकियों २