बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, February 7, 2013

रक्षक स्वर्गदूत


   जब हमारी नातिन जूलिया एक छोटी बच्ची थी तो हम उसे अपने साथ पहाड़ों की एक यात्रा पर लेकर गए। घुमावदार पहाड़ी मार्गों से होकर निकलने, गहरी घाटियों और गगनचुंबी चट्टानों को देखने के बाद जूलिया और उसकी नानी आपस में यात्रा के संबंध में बातचीत कर रहे थे; मेरी पत्नी ने जूलिया से कहा, "जब तुम्हारे नाना गाड़ी चला रहे होते हैं तो मुझे डर नहीं लगता क्योंकि मेरा मानना है कि उनके ऊपर एक रक्षक स्वर्गदूत रखा गया है।" यात्रा मार्ग से प्रभावित जूलिया ने तपाक से उत्तर दिया, "लेकिन मेरा मानना है कि एक नहीं रक्षक स्वर्गदूतों की पूरी सेना उन्हें संभालती होगी।"

   अनजाने में ही उस छोटी बच्ची के मुँह से परमेश्वर के वचन का तथ्य निकल गया। भजनकार ने कहा: "परमेश्वर के रथ बीस हजार, वरन हजारों हजार हैं; प्रभु उनके बीच में है, जैसे वह सीनै पवित्र स्थान में है" (भजन ६८:१७)। पवित्र बाइबल में परमेश्वर को ’सेनाओं का यहोवा’ कह के भी संबोधित किया गया है, और स्वर्गदूत परमेश्वर की सेना है। प्रभु यीशु को पकड़वाए जाने के समय प्रभु ने इसी तथ्य के संदर्भ में अपने चेले पतरस से कहा था: "क्या तू नहीं समझता, कि मैं अपने पिता से बिनती कर सकता हूं, और वह स्‍वर्गदूतों की बारह पलटन से अधिक मेरे पास अभी उपस्थित कर देगा?" (मत्ती २६:५३) परमेश्वर का वचन बाइबल हमें बताती है कि परमेश्वर ने अपने इन्हीं स्वर्गदूतों को हम मसीही विश्वासियों की सेवा-टहल करने वाली आत्माएं कर दिया है (इब्रानियों १:१३-१४)।

   बाइबल में राजाओं के वृतान्त में हम पढ़ते हैं कि अराम देश कि सेना ने परमेश्वर के भविष्यद्वकता एलीशा के नगर को घेर लिया; एलीशा निश्चिंत था किंतु उसका सेवक घबरा कर पूछने लगा "हाय! मेरे स्वामी, हम क्या करें?" तब एलिशा ने उत्तर दिया, "मत डर; क्योंकि जो हमारी ओर हैं, वह उन से अधिक हैं, जो उनकी ओर हैं" और फिर एलीशा की प्रार्थना पर परमेश्वर ने उस सेवक की आँखें खोल दीं कि वह आलौकिक को देख सके और तब सेवक ने देखा कि "एलीशा के चारों ओर का पहाड़ अग्निमय घोड़ों और रथों से भरा हुआ है" (२ राजा ६:१५-१७) - सेनाओं के यहोवा की सेना उसके जन के साथ विद्यमान थी।

   चाहे हम उन्हें अपनी शारीरिक आँखों से नहीं देख पाते लेकिन हम मसीही विश्वासी इस बात से सदा आश्वस्त रह सकते हैं कि परमेश्वर ने अपने स्वर्गदूतों को हमारे चारों ओर नियुक्त किया हुआ है और हमें आभास भी नहीं होने पाता कि हमारे विरुद्ध होने वाले शत्रु शैतान के कितने और कैसे कैसे हमले वे विफल कर देते हैं। परमेश्वर की आज्ञा के बिना और उसकी निर्धारित सीमा के बाहर कोई भी शक्ति हमें छू भी नहीं सकती यह हम अय्युब की पुस्तक के १ एवं २ अध्याय में स्पष्ट देखते हैं।

   हम मसीही विश्वासियों के जीवनों में जो भी होता है वह हमारी भलाई तथा जगत के उद्धारकर्ता प्रभु यीशु की महिमा के लिए ही होता है। इसलिए यदि दुख-क्लेषों से होकर निकलना भी पड़े तो लेश-मात्र भी विचलित ना हों वरन उनमें भी परमेश्वर की महिमा करें। - डेविड रोपर


परमेश्वर के लोग परमेश्वर के स्वर्गदूतों के संरक्षण में रहते हैं।

क्योंकि वह अपने दूतों को तेरे निमित्त आज्ञा देगा, कि जहां कहीं तू जाए वे तेरी रक्षा करें। - भजन ९१:११

बाइबल पाठ: २ राजा ६:८-१७
2 Kings6:8 ओैर अराम का जाजा इस्राएल से युद्ध कर रहा था, और सम्मति कर के अपने कर्मचारियों से कहा, कि अमुक स्थान पर मेरी छावनी होगी।
2 Kings6:9 तब परमेश्वर के भक्त ने इस्राएल के राजा के पास कहला भेजा, कि चौकसी कर और अमुक स्थान से हो कर न जाना क्योंकि वहां अरामी चढ़ाई करने वाले हैं।
2 Kings6:10 तब इस्राएल के राजा ने उस स्थान को, जिसकी चर्चा कर के परमेश्वर के भक्त ने उसे चिताया था, भेज कर, अपनी रक्षा की; और उस प्रकार एक दो बार नहीं वरन बहुत बार हुआ।
2 Kings6:11 इस कारण अराम के राजा का मन बहुत घबरा गया; सो उसने अपने कर्मचारियों को बुला कर उन से पूछा, क्या तुम मुझे न बताओगे कि हम लोगों में से कौन इस्राएल के राजा की ओर का है? उसके एक कर्मचारी ने कहा, हे मेरे प्रभु! हे राजा! ऐसा नहीं,
2 Kings6:12 एलीशा जो इस्राएल में भविष्यद्वक्ता है, वह इस्राएल के राजा को वे बातें भी बताया करता है, जो तू शयन की कोठरी में बोलता है।
2 Kings6:13 राजा ने कहा, जा कर देखो कि वह कहां है, तब मैं भेज कर उसे पकड़वा मंगाऊंगा। और उसको यह समाचार मिला कि वह दोतान में है।
2 Kings6:14 तब उसने वहां घोड़ों और रथों समेत एक भारी दल भेजा, और उन्होंने रात को आकर नगर को घेर लिया।
2 Kings6:15 भोर को परमेश्वर के भक्त का टहलुआ उठा और निकल कर क्या देखता है कि घोड़ों और रथों समेत एक दल नगर को घेरे हुए पड़ा है। और उसके सेवक ने उस से कहा, हाय! मेरे स्वामी, हम क्या करें?
2 Kings6:16 उसने कहा, मत डर; क्योंकि जो हमारी ओर हैं, वह उन से अधिक हैं, जो उनकी ओर हैं।
2 Kings6:17 तब एलीशा ने यह प्रार्थना की, हे यहोवा, इसकी आंखें खोल दे कि यह देख सके। तब यहोवा ने सेवक की आंखें खोल दीं, और जब वह देख सका, तब क्या देखा, कि एलीशा के चारों ओर का पहाड़ अग्निमय घोड़ों और रथों से भरा हुआ है।

एक साल में बाइबल: 
  • लैव्यवस्था १-३ 
  • मत्ती २४:१-२८