बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, April 9, 2013

उठाए रखने वाला


   परमेश्वर के वचन बाइबल में भविष्यद्वक्ता यशायाह की पुस्तक के 46वें अध्याय में एक तुलनात्मक विवरण है, दुश्मनों द्वारा बेबिलोन की घेराबंदी और उसके कारण वहां के लोगों के पलायन का। इस अध्याय के पहले पद में ही दिखाया गया है कि बेबिलोन के देवी-देवताओं की प्रतिमाओं से लदी गाड़ीयां बोझ तले दबी हुई हैं, चरमरा रही हैं। इसकी तुलना में, तीसरे पद में लिखा है कि परमेश्वर ने अपने लोगों को उनके जन्म से ही उठा रखा है और चौथे पद में परमेश्वर का आश्वासन है कि उनके जीवन के अन्तिम क्षण तक वह उन्हें ऐसे ही उठाए रहेगा। मूल इब्रानी भाषा में यह तुलना बहुत स्पष्ट है कि अन्य देवी-देवताओं की मूर्तीयां तो पशुओं और गाड़ीयों पर लदे हुए बोझ हैं, परन्तु जीवते सच्चे परमेश्वर के लोग उसके द्वारा उठाए और संभाले हुए हैं जिन्हें वह उनके जन्म से ही लिए हुए है।

   हम मसीही विश्वासीयों के लिए इससे अधिक शांति और सांत्वना देने वाली बात और क्या हो सकती है कि जिस परमेश्वर ने हमें बनाया है, वह हमे से प्रेम भी करता है और हमारी परवाह भी करता है। यह उसका वायदा है कि वह हमें उठाए रहता है और हमारे जीवन भर हमारी हर चिंता की परवाह, और हर आवश्यकता की पूर्ति करता है। इसलिए निश्चिंत होकर अपने आप को उसकी बाहों में छोड़ दें और उसे आपका हर बोझ उठाने दें।

   ऐनी जौन्सन फ्लिन्ट द्वारा लिखित एक गीत में यही भाव व्यक्त किए गए हैं: "यह सोचकर मत डरो कि तुम्हारी आवश्यकता उसके प्रावधानों से बड़ी है; हमारा परमेश्वर अपने भण्डार की हर भलाई बांटने को ललायित रहता है; उसकी उन बाहों का सहारा लिए रहो जो सदा उपलब्ध रहती हैं; तुम्हारा स्वर्गीय पिता तुम्हें और तुम्हारे बोझों को उठाए रहेगा।"

   परमेश्वर सब के बोझ उठाने और उन्हें संभाले रखने को सदा तैयार रहता है; क्या आप ने उसे अपने आप को उसके द्वारा सम्भाले जाने और आपके बोझ उठाए जाने के लिए समर्पित किया है? - डेविड रोपर


हमारा काम है अपनी चिन्ताएं उस पर डाल देना; परमेश्वर का काम है उन चिंताओं का निवारण करना और हमें संभाले रहना।

तुम्हारे बुढ़ापे में भी मैं वैसा ही बना रहूंगा और तुम्हारे बाल पकने के समय तक तुम्हें उठाए रहूंगा। मैं ने तुम्हें बनाया और तुम्हें लिये फिरता रहूंगा; - यशायाह 46:4

बाइबल पाठ: यशायाह 46:1-9
Isaiah 46:1 बेल देवता झुक गया, नबो देवता नब गया है, उनकी प्रतिमाएं पशुओं वरन घरैलू पशुओं पर लदी हैं; जिन वस्तुओं को तुम उठाए फिरते थे, वे अब भारी बोझ हो गईं और थकित पशुओं पर लदी हैं।
Isaiah 46:2 वे नब गए, वे एक संग झुक गए, वे उस भार को छुड़ा नहीं सके, और आप भी बंधुआई में चले गए हैं।
Isaiah 46:3 हे याकूब के घराने, हे इस्राएल के घराने के सब बचे हुए लोगो, मेरी ओर कान लगाकर सुनो; तुम को मैं तुम्हारी उत्पत्ति ही से उठाए रहा और जन्म ही से लिये फिरता आया हूं।
Isaiah 46:4 तुम्हारे बुढ़ापे में भी मैं वैसा ही बना रहूंगा और तुम्हारे बाल पकने के समय तक तुम्हें उठाए रहूंगा। मैं ने तुम्हें बनाया और तुम्हें लिये फिरता रहूंगा;
Isaiah 46:5 मैं तुम्हें उठाए रहूंगा और छुड़ाता भी रहूंगा। तुम किस से मेरी उपमा दोगे और मुझे किस के समान बताओगे, किस से मेरा मिलान करोगे कि हम एक समान ठहरें?
Isaiah 46:6 जो थैली से सोना उण्डेलते वा कांटे में चान्दी तौलते हैं, जो सुनार को मजदुरी देकर उस से देवता बनवाते हैं, तब वे उसे प्रणाम करते वरन दण्डवत भी करते हैं!
Isaiah 46:7 वे उसको कन्धे पर उठा कर लिये फिरते हैं, वे उसे उसके स्थान में रख देते और वह वहीं खड़ा रहता है; वह अपने स्थान से हट नहीं सकता; यदि कोई उसकी दोहाई भी दे, तौभी न वह सुन सकता है और न विपत्ति से उसका उद्धार कर सकता है।
Isaiah 46:8 हे अपराधियों, इस बात को स्मरण करो और ध्यान दो, इस पर फिर मन लगाओ।
Isaiah 46:9 प्राचीनकाल की बातें स्मरण करो जो आरम्भ ही से है; क्योंकि ईश्वर मैं ही हूं, दूसरा कोई नहीं; मैं ही परमेश्वर हूं और मेरे तुल्य कोई भी नहीं है।


एक साल में बाइबल: 

  • 1 शमूएल 13-14
  • लूका 10:1-24