बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, June 11, 2013

राजसी विवाह

   विवाह सदा ही सजावट, वस्त्र और खाने-पीने आदि में मनमाने खर्चे करने के अवसर रहे हैं। वर्तमान समय के विवाह नवयुवतीयों के लिए "एक दिन की राजकुमारी" बनने के अवसर हो गए हैं जब वे अपनी कल्पनाओं को साकार करने के प्रयास करती हैं; आखिर वे उस विवाह की सबसे विशिष्ट व्यक्ति हैं। एक महंगा और खूबसूरत विवाह का वस्त्र - जो शायद फिर कभी ना पहना जाए, बड़ी मेहनत और अनूठे ढंग से सजाए गए केश, फूलों के गुल्दस्ते, रंगीन वस्त्रों में साथ देती सहेलियाँ, आमंत्रित मित्र और परिवारजन, जिनसे किसी अवसर पर ही मिलना संभव हो पाता है, अनुपम सजावट से सुसज्जित विवाह एवं भोज स्थल और ढेर सारा भिन्न भिन्न प्रकार का भोजन - सब मिलकर एक परिकथा का सा वातावरण बना देते हैं। अपनी बेटी के इन सपनों को साकार करने के लिए कई अभिभावक वर्षों पहले से ही धन संचय करना आरंभ कर देते हैं जिससे मौका आने पर कोई कमी ना रह जाए।

   अगर विवाह शाही घरानों में हो रहा हो तो फिर तो इन सारी बातों के आयोजन और आयोजित कार्यक्रमों का स्तर हम "साधारण" लोगों की कल्पना तथा समझ के बाहर हो जाता है। सन 1981 में राजकुमार चार्ल्स तथा राजकुमारी डायना के विवाह कार्यक्रमों ने इसका एक नमूना संसार के सामने रखा जिसे टेलिविज़न तथा अन्य संचार माध्यमों ने सारे संसार में प्रसारित किया तथा लाखों-करोड़ों लोगों ने देखा, सुना और जाना; वास्तव में राजसी विवाह के स्तर कुछ अलग ही होते हैं।

   एक और राजसी विवाह, जिसकी अभी तैयारी चल रही है, होने को है; और वह विवाह संसार के अब तक के हर विवाह - शाही या सामान्य से बिलकुल भिन्न और अनुपम होगा। इस विवाह में सबसे महत्वपूर्ण और विशिष्ट व्यक्ति संसार के अन्य विवाहों के समान दुल्हन नहीं वरन दूल्हा होगा। यह विवाह होगा मसीह यीशु और उसकी मण्डली अर्थात हम मसीही विश्वासियों का जो एक दुल्हन के समान सदा काल के लिए अपने दूल्हे के साथ एक हो जाएंगे। इसकी कल्पना भी हमारे मस्तिष्क की संभावनाओं से परे है, परन्तु प्रेरित युहन्ना, जिसे इस विवाह का दर्शन दिखाया गया लिखता है कि दुल्हन ने अपने आप को इस विवाह के लिए तैयार किया है और उस दुल्हन के विवाह के वस्त्र उसके धार्मिकता के कार्य हैं (प्रकाशितवाक्य 19:7, 8)।

   यद्यपि संसार के विवाह संबंध का काल तो अधिक से अधिक जीवन-अवधि तक ही सीमित होता है, लेकिन फिर भी हर दुल्हन उसके लिए बहुत तैयारी करती है कि उसके विवाह में कोई कमी ना रहे; तो फिर विचार कीजिए कि उस अलौकिक विवाह के लिए जो अनन्त काल के लिए होगा, दुल्हन अर्थात हम मसीही विश्वासियों को अपनी तैयारी कैसी रखनी चाहिए? क्या आज आप अपने आप को तैयार कर रहे हैं? क्या आपके विवाह वस्त्र अर्थात आपके धार्मिकता के कार्य इस अवसर के लिए अनूकूल एवं तैयार हैं? - जूली एकैरमैन लिंक


भले कार्य हमें मसीही विश्वासी नहीं बनाते; लेकिन मसीही विश्वासी होना हमें भले कार्यों को करने की ज़िम्मेदारी देता है।

आओ, हम आनन्‍दित और मगन हों, और उस की स्‍तुति करें; क्योंकि मेम्ने का ब्याह आ पहुंचा: और उस की पत्‍नी ने अपने आप को तैयार कर लिया है। - प्रकाशितवाक्य 19:7 

बाइबल पाठ: प्रकाशितवाक्य 19:-10
Revelation 19:1 इस के बाद मैं ने स्वर्ग में मानो बड़ी भीड़ को ऊंचे शब्द से यह कहते सुना, कि हल्लिलूय्याह! उद्धार, और महिमा, और सामर्थ हमारे परमेश्वर ही की है।
Revelation 19:2 क्योंकि उसके निर्णय सच्चे और ठीक हैं, इसलिये कि उसने उस बड़ी वेश्या का जो अपने व्यभिचार से पृथ्वी को भ्रष्‍ट करती थी, न्याय किया, और उस से अपने दासों के लोहू का पलटा लिया है।
Revelation 19:3 फिर दूसरी बार उन्होंने हल्लिलूय्याह! कहा: और उसके जलने का धुआं युगानुयुग उठता रहेगा।
Revelation 19:4 और चौबीसों प्राचीनों और चारों प्राणियों ने गिर कर परमेश्वर को दण्‍डवत किया; जो सिंहासन पर बैठा था, और कहा, आमीन, हल्लिलूय्याह!
Revelation 19:5 और सिंहासन में से एक शब्द निकला, कि हे हमारे परमेश्वर से सब डरने