बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, January 7, 2014

अंगीकार


   मैं और मेरी पत्नि एक राजमार्ग पर गाड़ी से जा रहे थे। एक स्थान पर हम ने देखा कि हमारे आगे के एक गाड़ीचालक ने अपनी गाड़ी गलत रीति से मोड़कर सड़क को विभाजित करने वाली पट्टी पर लाकर खड़ी कर दी और दूसरी ओर से आने वाली गाड़ियों को देखने लगा। वह चाह रहा था कि मौका पा कर वह अपनी गाड़ी वापस घुमा कर जिस दिशा से आया था उसी ओर लौट कर जा सके, जबकि वह स्थान इस तरह से गाड़ी मोड़ने के लिए नहीं था। अपनी ओर आने वाली गाड़ियों की ओर नज़र बनाए रखने से वह दूसरी ओर से उसकी ओर आकर पास ही में खड़ी होने वाली पुलिस की गाड़ी को नहीं देख सका। मौका पाकर वह जैसे ही मुड़ा, उसकी गाड़ी पास ही खड़ी पुलिस की गाड़ी से टकरा गई। फिर आगे क्या हुआ, यह तो आप समझ ही सकते हैं।

   हमारा यह विचार रखना कि गलती करके हम ऐसे ही बच निकल सकते हैं कोई आसामान्य बात नहीं है, और यह प्रयास अकसर होता रहता है। राजा दाऊद ने भी बत्शीबा के साथ व्यभिचार करने के बाद यही किया, वह भी अपने व्यवहार के दुष्परिणामों से बच कर निकलने के प्रयास करता रहा और अपनी गलती को और भी गंभीर बनाता रहा। उस गाड़ीचालक के समान, दाऊद भी बचने के प्रयास में अपने निकट विद्यमान परमेश्वर से ही जा टकराने के मार्ग पर था, और यही हुआ। जब परमेश्वर ने उसके व्यभिचार, धोखे और हत्या के गंभीर पाप को अपने नबी नतान के द्वारा दाऊद के सामने रखवाया तब दाऊद ने अपनी गलती स्वीकार करी, पश्चाताप किया; इससे उसे परमेश्वर से क्षमा तो मिली - वह परमेश्वर का जन बना रहा, किंतु उस पाप के कारण उसके परिवार पर आए दुष्परिणामों से वह निकल नहीं सका। दाऊद का उदाहरण पाप के दुष्परिणामों की एक जीवती मिसाल है।

   यदि आप भी अपने जीवन के किसी पाप से ऐसे ही बच कर निकलने का प्रयास कर रहे हैं, तो स्मरण रखिए कि आप का पाप आपको कभी ना कभी कहीं ना कहीं ढूंढ़ ही लेगा (गिनती 32:23) और तब उसका प्रतिफल बहुत भयानक और कष्टदायक होगा। भला इसी में है कि आप अपने आप को प्रभु यीशु के सामने खड़ा कर दें, वहाँ अपने पाप का अंगीकार कर लें, उसके लिए प्रभु यीशु से क्षमा माँग लें; क्योंकि उस का वायदा है: "यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने, और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्वासयोग्य और धर्मी है" (1 यूहन्ना 1:9)।

   यह अंगीकार ही क्षमा, बहाली और नए जीवन का मार्ग खोलता है। - डेनिस फिशर


अपने पापों से पीछा छुड़ाने के लिए उनका सामना हमें करना ही होगा, अन्यथा उनका कष्ट भोगना होगा।

और यदि तुम ऐसा न करो, तो यहोवा के विरुद्ध पापी ठहरोगे; और जान रखो कि तुम को तुम्हारा पाप लगेगा। - गिनती 32:23

बाइबल पाठ: 2 शमुएल 12:1-15
2 Samuel 12:1 तब यहोवा ने दाऊद के पास नातान को भेजा, और वह उसके पास जा कर कहने लगा, एक नगर में दो मनुष्य रहते थे, जिन में से एक धनी और एक निर्धन था। 
2 Samuel 12:2 धनी के पास तो बहुत सी भेड़-बकरियां और गाय बैल थे; 
2 Samuel 12:3 परन्तु निर्धन के पास भेड़ की एक छोटी बच्ची को छोड़ और कुछ भी न था, और उसको उसने मोल ले कर जिलाया था। और वह उसके यहां उसके बाल-बच्चों के साथ ही बढ़ी थी; वह उसके टुकड़े में से खाती, और उसके कटोरे में से पीती, और उसकी गोद मे सोती थी, और वह उसकी बेटी के समान थी। 
2 Samuel 12:4 और धनी के पास एक बटोही आया, और उसने उस बटोही के लिये, जो उसके पास आया था, भोजन बनवाने को अपनी भेड़-बकरियों वा गाय बैलों में से कुछ न लिया, परन्तु उस निर्धन मनुष्य की भेड़ की बच्ची ले कर उस जन के लिये, जो उसके पास आया था, भोजन बनवाया। 
2 Samuel 12:5 तब दाऊद का कोप उस मनुष्य पर बहुत भड़का; और उसने नातान से कहा, यहोवा के जीवन की शपथ, जिस मनुष्य ने ऐसा काम किया वह प्राण दण्ड के योग्य है; 
2 Samuel 12:6 और उसको वह भेड़ की बच्ची का चौगुणा भर देना होगा, क्योंकि उसने ऐसा काम किया, और कुछ दया नहीं की। 
2 Samuel 12:7 तब नातान ने दाऊद से कहा, तू ही वह मनुष्य है। इस्राएल का परमेश्वर यहोवा यों कहता है, कि मैं ने तेरा अभिशेक करा के तुझे इस्राएल का राजा ठहराया, और मैं ने तुझे शाऊल के हाथ से बचाया; 
2 Samuel 12:8 फिर मैं ने तेरे स्वामी का भवन तुझे दिया, और तेरे स्वामी की पत्नियां तेरे भोग के लिये दीं; और मैं ने इस्राएल और यहूदा का घराना तुझे दिया था; और यदि यह थोड़ा था, तो मैं तुझे और भी बहुत कुछ देने वाला था। 
2 Samuel 12:9 तू ने यहोवा की आज्ञा तुच्छ जान कर क्यों वह काम किया, जो उसकी दृष्टि में बुरा है? हित्ती ऊरिय्याह को तू ने तलवार से घात किया, और उसकी पत्नी को अपनी कर लिया है, और ऊरिय्याह को अम्मोनियों की तलवार से मरवा डाला है। 
2 Samuel 12:10 इसलिये अब तलवार तेरे घर से कभी दूर न होगी, क्योंकि तू ने मुझे तुच्छ जानकर हित्ती ऊरिय्याह की पत्नी को अपनी पत्नी कर लिया है। 
2 Samuel 12:11 यहोवा यों कहता है, कि सुन, मैं तेरे घर में से विपत्ति उठा कर तुझ पर डालूंगा; और तेरी पत्नियों को तेरे साम्हने ले कर दूसरे को दूंगा, और वह दिन दुपहरी में तेरी पत्नियों से कुकर्म करेगा। 
2 Samuel 12:12 तू ने तो वह काम छिपाकर किया; पर मैं यह काम सब इस्राएलियों के साम्हने दिन दुपहरी कराऊंगा। 
2 Samuel 12:13 तब दाऊद ने नातान से कहा, मैं ने यहोवा के विरुद्ध पाप किया है। नातान ने दाऊद से कहा, यहोवा ने तेरे पाप को दूर किया है; तू न मरेगा। 
2 Samuel 12:14 तौभी तू ने जो इस काम के द्वारा यहोवा के शत्रुओं को तिरस्कार करने का बड़ा अवसर दिया है, इस कारण तेरा जो बेटा उत्पन्न हुआ है वह अवश्य ही मरेगा। 
2 Samuel 12:15 तब नातान अपने घर चला गया। और जो बच्चा ऊरिय्याह की पत्नी से दाऊद के द्वारा उत्पन्न था, वह यहोवा का मारा बहुत रोगी हो गया।

एक साल में बाइबल: 
  • उत्पत्ति 20-22