बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, April 12, 2014

वचन का मनन


   मेरी आँखें हड़बड़ाकर खुल गईं, लेकिन मेरा कमरा तो अभी अन्धेरा ही था; यह जानकर कि अभी उठना काफी जलदी होगा, मैंने लंबी सांस ली, अपने तकिए को ठीक किया और फिर से सोने का प्रयास करने लगी। लेकिन दुर्भाग्यवश आते दिन में करने के लिए रखे हुए कार्यों की एक लंबी सूची मुझे परेशान करने लगी और मैं फिर सो नहीं पाई।

   यदि कभी आप कार्यों की अधिकाई से अभिभूत हुए हैं, अपने आप को दबाव में अनुभव किया है, तो आप मेरी स्थिति को समझ पाएंगे; आप समझ पाएंगे कि कितना परेशान करना वाला होता है खुली आँखों से अन्धेरी छत की ओर ताकते रहना जबकि उस समय आपको गहरी नींद में होना चाहिए। परमेश्वर के वचन बाइबल में भजन 119 का लेखक भी इस अनुभव से अनजान नहीं था, इसीलिए उसने लिखा: "मैं ने पौ फटने से पहिले दोहाई दी; मेरी आशा तेरे वचनों पर थी" (भजन 119:147)।

   भजनकार की निद्राविहीन रातों में परमेश्वर का वचन उसकी सांत्वना का माध्यम था। चाहे वह नींद उड़ा देने वाली अपनी समस्या को दूर नहीं भी कर सका, लेकिन फिर भी वह कहता है: "मेरी आंखें रात के एक एक पहर से पहिले खुल गईं, कि मैं तेरे वचन पर ध्यान करूं" (भजन 119:148)। ऐसी विनिद्र रातों में वह अपनी समस्याओं पर नहीं वरन परमेश्वर के वचन पर मनन करता था। अपनी इस आदत के कारण ही वह कह सका, "अहा! मैं तेरी व्यवस्था में कैसी प्रीति रखता हूं! दिन भर मेरा ध्यान उसी पर लगा रहता है" (भजन 119:97)।

   जब चिंताएं आपको सताएं तो स्मरण रखें, "क्योंकि परमेश्वर का वचन जीवित, और प्रबल, और हर एक दोधारी तलवार से भी बहुत चोखा है, और जीव, और आत्मा को, और गांठ गांठ, और गूदे गूदे को अलग कर के, वार पार छेदता है; और मन की भावनाओं और विचारों को जांचता है" (इब्रानियों 4:12), इसलिए बाइबल का कोई खण्ड लेकर उस पर मनन करना आरंभ कर दें। हमारी कोई भी चिंता परमेश्वर के वचन के आगे टिक नहीं सकती। - जेनिफर बेन्सन शुल्ट


केवल परमेश्वर ही हमारे हृदयों को स्थिर और मस्तिष्क को शांत कर सकता है।

पहरूए जितना भोर को चाहते हैं, हां, पहरूए जितना भोर को चाहते हैं, उस से भी अधिक मैं यहोवा को अपने प्राणों से चाहता हूं। - भजन 130:6

बाइबल पाठ: भजन 119:145-152
Psalms 119:145 मैं ने सारे मन से प्रार्थना की है, हे यहोवा मेरी सुन लेना! मैं तेरी विधियों को पकड़े रहूंगा। 
Psalms 119:146 मैं ने तुझ से प्रार्थना की है, तू मेरा उद्धार कर, और मैं तेरी चितौनियों को माना करूंगा। 
Psalms 119:147 मैं ने पौ फटने से पहिले दोहाई दी; मेरी आशा तेरे वचनों पर थी। 
Psalms 119:148 मेरी आंखें रात के एक एक पहर से पहिले खुल गईं, कि मैं तेरे वचन पर ध्यान करूं। 
Psalms 119:149 अपनी करूणा के अनुसार मेरी सुन ले; हे यहोवा, अपनी रीति के अनुसार मुझे जीवित कर। 
Psalms 119:150 जो दुष्टता में धुन लगाते हैं, वे निकट आ गए हैं; वे तेरी व्यवस्था से दूर हैं। 
Psalms 119:151 हे यहोवा, तू निकट है, और तेरी सब आज्ञाएं सत्य हैं। 
Psalms 119:152 बहुत काल से मैं तेरी चितौनियों को जानता हूं, कि तू ने उनकी नेव सदा के लिये डाली है।

एक साल में बाइबल: 
  • 2 राजा 21-22