बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, April 19, 2014

क्षमाशील प्रेम


   परमेश्वर के वचन बाइबल के पुराने नियम खण्ड में होशे नबी की पुस्तक अपनी विश्वासघाती प्रजा के प्रति परमेश्वर के वफादार और क्षमाशील प्रेम का एक सच्चा उदाहरण है। परमेश्वर ने अपने नबी होशे से कहा कि वह एक ऐसी स्त्री से विवाह करे जो आगे चलकर अपने विवाह के वचन तोड़कर उसे दुख देने वाली थी (होशे 1:2-3)। कुछ समय के बाद ऐसा ही हुआ, उस स्त्री ने होशे को छोड़ दिया और अन्य लोगों के साथ सम्बंध बना कर रहने लगी। परमेश्वर ने फिर से होशे से कहा कि वह जाकर उसे वापस ले आए - यह सारी घटना परमेश्वर के अपने लोगों इस्त्रएल के प्रति प्रेम को दर्शाने का माध्यम थी, उस इस्त्राएल के प्रति जिसने अपने परमेश्वर से मुँह मोड़ कर अन्य देवताओं की ओर फिर गया था, "फिर यहोवा ने मुझ से कहा, अब जा कर एक ऐसी स्त्री से प्रीति कर, जो व्यभिचारिणी होने पर भी अपने प्रिय की प्यारी हो; क्योंकि उसी भांति यद्यपि इस्राएली पराए देवताओं की ओर फिरे, और दाख की टिकियों से प्रीति रखते हैं, तौभी यहोवा उन से प्रीति रखता है" (होशे 3:1)।

   बाद में परमेश्वर ने होशे के द्वारा इस्त्राएलियों को सन्देश पहुँचाया कि उनके परमेश्वर के विरुद्ध विश्वासघात करने के कारण वे विदेशी शक्तियों के हाथों बन्धुवाई में चले जाएंगे, "इस कारण तुम्हारे लोगों में हुल्लड़ उठेगा, और तुम्हारे सब गढ़ ऐसे नाश किए जाएंगे जैसा बेतर्बेल नगर युद्ध के समय शल्मन के द्वारा नाश किया गया; उस समय माताएं अपने बच्चों समेत पटक दी गईं थी" (होशे 10:14)। लेकिन इस पाप और दण्ड के काल में भी परमेश्वर का उनके प्रति प्रेम समाप्त नहीं होगा, परमेश्वर ने उन्हें अपने बड़े अनुग्रह में होकर यह भी कहा कि, "अपने लिये धर्म का बीज बोओ, तब करूणा के अनुसार खेत काटने पाओगे; अपनी पड़ती भूमि को जोतो; देखो, अभी यहोवा के पीछे हो लेने का समय है, कि वह आए और तुम्हारे ऊपर उद्धार बरसाए" (होशे 10:12)।

   यदि हमने दुष्टता भी करी है और पाप ही कमाया है तौ भी परमेश्वर का हमारे प्रति प्रेम समाप्त नहीं हो जाता। उसका प्रेम क्षमाशील प्रेम है; आज हमारी जो भी हालात हो, परमेश्वर के प्रेम, क्षमा और अनुग्रह की सीमा से हम कभी बाहर नहीं हो सकते। आज, अभी, पश्चाताप में उसकी ओर मुड़िए, प्रभु यीशु में प्रगट हुए उसके अनुग्रह को अपनाईए और उस से क्षमा पाकर एक नई शुरुआत कीजिए। परमेश्वर के प्रेम और क्षमा की कोई सीमा नहीं है। - डेविड मैक्कैसलैंड


परमेश्वर के प्रेम से बढ़कर और कोई सामर्थ है ही नहीं।

क्योंकि जो अपने शरीर के लिये बोता है, वह शरीर के द्वारा विनाश की कटनी काटेगा; और जो आत्मा के लिये बोता है, वह आत्मा के द्वारा अनन्त जीवन की कटनी काटेगा। - गलतियों 6:8

बाइबल पाठ: होशे 10:9-15
Hosea 10:9 हे इस्राएल, तू गिबा के दिनों में पाप करता आया है; वे उसी में बने रहें; क्या वे गिबा में कुटिल मनुष्यों के संग लड़ाई में न फंसे? 
Hosea 10:10 जब मेरी इच्छा होगी तब मैं उन्हें ताड़ना दूंगा, और देश देश के लोग उनके विरुद्ध इकट्ठे हो जाएंगे; क्योंकि वे अपने दोनों अधर्मों में फसें हुए हैं।
Hosea 10:11 एप्रैम सीखी हुई बछिया है, जो अन्न दांवने से प्रसन्न होती है, परन्तु मैं ने उसकी सुन्दर गर्दन पर जुआ रखा है; मैं एप्रैम पर सवार चढ़ाऊंगा; यहूदा हल, और याकूब हेंगा खींचेगा। 
Hosea 10:12 अपने लिये धर्म का बीज बोओ, तब करूणा के अनुसार खेत काटने पाओगे; अपनी पड़ती भूमि को जोतो; देखो, अभी यहोवा के पीछे हो लेने का समय है, कि वह आए और तुम्हारे ऊपर उद्धार बरसाए।। 
Hosea 10:13 तुम ने दुष्टता के लिये हल जोता और अन्याय का खेत काटा है; और तुम ने धोखे का फल खाया है। और यह इसलिये हुआ क्योंकि तुम ने अपने कुव्यवहार पर, और अपने बहुत से वीरों पर भरोसा रखा था। 
Hosea 10:14 इस कारण तुम्हारे लोगों में हुल्लड़ उठेगा, और तुम्हारे सब गढ़ ऐसे नाश किए जाएंगे जैसा बेतर्बेल नगर युद्ध के समय शल्मन के द्वारा नाश किया गया; उस समय माताएं अपने बच्चों समेत पटक दी गईं थी। 
Hosea 10:15 तुम्हारी अत्यन्त बुराई के कारण बेतेल से भी इसी प्रकार का व्यवहार किया जाएगा। भोर होते ही इस्राएल का राजा पूरी रीति से मिट जाएगा। 

एक साल में बाइबल: 
  • 1 इतिहास 17-19