बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, January 12, 2015

उपहार


   अच्छे स्वास्थ्य के लिए अच्छी नींद अनिवार्य है। वैज्ञानिक यह तो भली-भांति नहीं जानते के नींद क्यों आवश्यक है, लेकिन वे यह अवश्य जानते हैं कि अपर्याप्त नींद के क्या-क्या दुष्परिणाम हो सकते हैं। यदि हम अच्छी और पर्याप्त नींद नहीं लेते तो शरीर की शीथलता, वज़न का बढ़ना, और अनेक बिमारियाँ जैसे ज़ुकाम या फ्लू से लेकर कैंसर तक होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। हमारे सो जाने के बाद जो कुछ परमेश्वर हमारे शरीरों में करता है वह किसी आश्चर्यकर्म से कम नहीं है। जब हम नींद में निष्क्रीय पड़े होते हैं, तब परमेश्वर हमारे शरीरों के रख-रखाव में सक्रीय होता है; वह हमारी ऊर्जा को पुनः स्थापित करता है, हमारे शरीर की कोषिकाओं की मरम्मत करके उन्हें भी पुनःस्थापित करता है और हमारे मस्तिष्क में जमा बातों को सुसंगठित करके सही प्रकार से रखता है।

   अच्छी प्रकार से नींद ना ले पाने के अनेक कारण हो सकते हैं, जिनमें से कुछ ऐसे भी हैं जिनका निवारण संभवतः हमारे हाथों में ना हो, लेकिन परमेश्वर का वचन बाइबल हमें बताती है कि कार्य की अधिकाई अपर्याप्त नींद का कारण नहीं होना चाहिए (भजन 127:2)। नींद परमेश्वर का दिया हुआ एक ऐसा उपहार है जिसे हमें कृतज्ञता के साथ स्वीकार करना चाहिए। यदि हमारी नींद अपर्याप्त है तो हमें यह पता लगाना चाहिए कि ऐसा क्यों है। कहीं ऐसा तो नहीं कि हम प्रातः जल्दी उठते और रात देर से सोते हैं जिससे उन बातों के लिए धन कमा सकें जिनकी हमें आवश्यकता नहीं है। या फिर हम मसीही सेवकाई के ऐसे कार्यों में लगे हैं जिनके लिए हमें लगता है कि उन कार्यों को हमारे सिवाय कोई और अच्छे से नहीं कर सकता।

   मुझे कभी-कभी लगने लगता है कि जो कार्य मैं जागते हुए करती हूँ, वह उस कार्य से अधिक महत्वपूर्ण है जो परमेश्वर मेरे अन्दर तब करता है जब मैं सो रही होती हूँ। लेकिन परमेश्वर के नींद के उपहार की अवहेलना करके उसे हमारे शरीरों में अपना कार्य करने देने में बाधा बनना, एक प्रकार से उससे यह कहना है कि मेरा अपना कार्य आपके कार्य से अधिक महत्वपूर्ण है। परमेश्वर नहीं चाहता कि हम में से कोई भी शारीरिक कार्यों एवं सांसारिक उपलब्धियों की लालसाओं का दास हो जाए। वह चाहता है कि हम उसके उपहार को स्वीकार करके अपने शरिरों को स्वस्थ एवं सुचारू रखें और उसे हमारे अन्दर अपना कार्य अच्छे से करने दें। - जूली ऐकैरमैन लिंक


यदि हम पर्याप्त आराम नहीं करेंगे तो बिखर जाएंगे।

तुम जो सवेरे उठते और देर कर के विश्राम करते और दु:ख भरी रोटी खाते हो, यह सब तुम्हारे लिये व्यर्थ ही है; क्योंकि वह अपने प्रियों को यों ही नींद दान करता है। - भजन 127:2

बाइबल पाठ: भजन 121
Psalms 121:1 मैं अपनी आंखें पर्वतों की ओर लगाऊंगा। मुझे सहायता कहां से मिलेगी? 
Psalms 121:2 मुझे सहायता यहोवा की ओर से मिलती है, जो आकाश और पृथ्वी का कर्ता है।
Psalms 121:3 वह तेरे पांव को टलने न देगा, तेरा रक्षक कभी न ऊंघेगा। 
Psalms 121:4 सुन, इस्राएल का रक्षक, न ऊंघेगा और न सोएगा।
Psalms 121:5 यहोवा तेरा रक्षक है; यहोवा तेरी दाहिनी ओर तेरी आड़ है। 
Psalms 121:6 न तो दिन को धूप से, और न रात को चांदनी से तेरी कुछ हानि होगी।
Psalms 121:7 यहोवा सारी विपत्ति से तेरी रक्षा करेगा; वह तेरे प्राण की रक्षा करेगा। 
Psalms 121:8 यहोवा तेरे आने जाने में तेरी रक्षा अब से ले कर सदा तक करता रहेगा।

एक साल में बाइबल: 
  • उत्पत्ति 29-30
  • मत्ती 9:1-17