बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, October 15, 2015

भरोसेमन्द


   कुछ वर्ष पहले मैंने पाँचवीं कक्षा के बच्चों से कहा कि वे उन प्रशनों की सुची तैयार करें जो, यदि प्रभु यीशु अगले सप्ताह उनसे मिलने आ जाए तो वे प्रभु यीशु से पूछेंगे। साथ ही मैंने कुछ व्यसकों से भी यही करने को कहा। परिणाम आशचर्यजनक रीति से भिन्न थे; दोनों के द्वारा तैयार करी गई सूचियों में अनेक प्रकार के प्रश्न थे, किंतु बच्चों के प्रश्नों में स्वर्ग या परमेश्वर को लेकर कोई संशय नहीं था, वे मासूमियत से भरे हुए थे, और कुछ प्रश्न तो विचारात्मक थे। बच्चों द्वारा दिए गए कुछ प्रश्न थे: "क्या स्वर्ग में हमें पोशाक पहने हुए भजन गाते रहना पड़ेगा?"; "क्या मेरा पिल्ला भी स्वर्ग में होगा?"; "व्हेल मछलियाँ नूह के जहाज़ के भीतर थीं या बाहर?"; "आपके साथ वहाँ ऊपर मेरे दादाजी कैसे हैं?"

   लेकिन व्यसकों के प्रश्नों में परमेश्वर और उसके कार्यों को लेकर भरोसे की कमी थी: "मैं कैसे जानूँ कि आप मेरी प्रार्थना सुनते हैं?"; "अच्छे लोगों के साथ बुरा क्यों होता है?"; "प्रेम करने वाला परमेश्वर ने मेरे साथ ऐसी त्रासदी क्यों होने दी?" आदि।

   बच्चे सामान्यतः व्यसकों को परेशान करने वाली चिंताओं और परेशानियों से मुक्त जीवन जीते हैं; उनका साधारण सा विश्वास उन्हें परमेश्वर पर भरोसा बनाए रखने में सहायक होता है। लेकिन व्यसक जीवन की परीक्षाओं और परेशानियों में उलझकर परमेश्वर के प्रति बच्चों के समान साधारण विश्वास बनाए नहीं रख पाते; जबकि बच्चे परमेश्वर के वचन बाइबल में भजनकार द्वारा दिए गए दृष्टिकोण को बनाए रखते हैं जो परमेश्वर को उसकी महानता में देखने पाता है (भजन 8:1-2)।

   परमेश्वर भरोसेमन्द है, और वह चाहता है कि हर परिस्थिति, परेशानी, आवश्यकता और तकलीफ में भी हम बच्चों के समान उसपर अपना भरोसा बनाए रखें (मत्ती 18:1-3)। - रैंडी किलगोर


परमेश्वर के साथ हमारी निकटता हमारी आँखों को आज की परीक्षाओं से हटाकर अनन्तकाल के विजयोत्सव पर केंद्रित रखती है।

उसी घड़ी चेले यीशु के पास आकर पूछने लगे, कि स्वर्ग के राज्य में बड़ा कौन है? इस पर उसने एक बालक को पास बुलाकर उन के बीच में खड़ा किया। और कहा, मैं तुम से सच कहता हूं, यदि तुम न फिरो और बालकों के समान न बनो, तो स्वर्ग के राज्य में प्रवेश करने नहीं पाओगे। - मत्ती18:1-3

बाइबल पाठ: भजन 8
Psalms 8:1 हे यहोवा हमारे प्रभु, तेरा नाम सारी पृथ्वी पर क्या ही प्रतापमय है! तू ने अपना वैभव स्वर्ग पर दिखाया है। 
Psalms 8:2 तू ने अपने बैरियों के कारण बच्चों और दूध पिउवों के द्वारा सामर्थ्य की नेव डाली है, ताकि तू शत्रु और पलटा लेने वालों को रोक रखे। 
Psalms 8:3 जब मैं आकाश को, जो तेरे हाथों का कार्य है, और चंद्रमा और तरागण को जो तू ने नियुक्त किए हैं, देखता हूं; 
Psalms 8:4 तो फिर मनुष्य क्या है कि तू उसका स्मरण रखे, और आदमी क्या है कि तू उसकी सुधि ले? 
Psalms 8:5 क्योंकि तू ने उसको परमेश्वर से थोड़ा ही कम बनाया है, और महिमा और प्रताप का मुकुट उसके सिर पर रखा है। 
Psalms 8:6 तू ने उसे अपने हाथों के कार्यों पर प्रभुता दी है; तू ने उसके पांव तले सब कुछ कर दिया है। 
Psalms 8:7 सब भेड़- बकरी और गाय- बैल और जितने वनपशु हैं, 
Psalms 8:8 आकाश के पक्षी और समुद्र की मछलियां, और जितने जीव-जन्तु समुद्रों में चलते फिरते हैं। 
Psalms 8:9 हे यहोवा, हे हमारे प्रभु, तेरा नाम सारी पृथ्वी पर क्या ही प्रतापमय है।

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह 45-46
  • 1 थिस्सलुनीकियों 3