बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, July 25, 2016

खोजी


   एल्फ क्लार्क शहर के मार्गों पर ’जक्कई’ को खोजता हुआ फिरता है; परमेश्वर के वचन बाइबल में उल्लेखित जक्कई को नहीं, उसे तो प्रभु यीशु ने पहले ही ढूँढ़ लिया था! एल्फ और उसके कुछ मित्र शहरों में कार्य कर रही एक मसीही सेवकाई के साथ कार्य करते हैं, और तब जो लूका 19 में प्रभु यीशु ने किया था, वैसा ही वे आज करते हैं। वे शहर और नगर में आवश्यकतामन्दों की सहायता करने के उद्देश्य के साथ निकलते हैं। वे अपने पड़ौस के प्रत्येक घर में जाते हैं, दरवाज़े खटखटाते हैं और जो कोई झांकता है उसे अपना परिचय देते हुए कहते हैं, "क्या आपकी कोई ऐसी आवश्यकताएं हैं जिनके लिए हम प्रार्थना कर सकते हैं?" वार्तालाप आरंभ करने का यह उनका तरीका है - जैसा प्रभु यीशु ने तब कर-अधिकारी जक्कई के साथ, उसे आत्मिक जीवन का मार्ग तथा आशा देने के लिए किया था।

   जो प्रभु यीशु ने किया था, उस पर ज़रा ध्यान कीजिए। लूका के वृतांत में लिखा है कि प्रभु यीशु यरीहो से होकर निकल रहा था (लूका 19:1); और जैसा प्रभु यीशु के आने पर हुआ करता था, एक भीड़ उनके साथ चलने लगी। ज़क्कई भी प्रभु यीशु को देखना चाहता था, किंतु कद में नाटा होने के कारण भीड़ में होकर नहीं देख पा रहा था, इसलिए उस मार्ग के एक पेड़ पर चढ़ गया जिससे प्रभु यीशु को देख सके। प्रभु यीशु ने उस पेड़ के नीचे पहुँचकर ज़क्कई से कहा कि उन्हें उसके घर आना है। उस दिन प्रभु यीशु के उस खोजी ज़क्कई के घर उद्धार आया; "क्योंकि मनुष्य का पुत्र खोए हुओं को ढूंढ़ने और उन का उद्धार करने आया है" (पद 10)।

   जैसे एल्फ और उसके साथी, प्रभु यीशु के समान खोजियों को ढूँढ़ते हैं, क्या हम भी प्रभु के खोजियों के खोजी हैं? प्रभु यीशु में लाए गए विश्वास द्वारा सेंत-मेंत मिलने वाली पापों की क्षमा, उद्धार और शांति के खोजी संसार के हर स्थान पर हैं, उन तक पहुँचने के लिए प्रयास करने वालों की आवश्यकता है; उन आवश्यकतामन्दों को जगत के उद्धारकर्ता प्रभु यीशु तथा उसके प्रेम और अनुग्रह से मिलाने वालों की आवश्यकता है। - डेव बार्टन


प्रभु परमेश्वर का सुसमाचार इतना अच्छा है कि, 
उसे अपने आप तक रखा ही नहीं जा सकता।

क्या तुम नहीं कहते, कि कटनी होने में अब भी चार महीने पड़े हैं? देखो, मैं तुम से कहता हूं, अपनी आंखे उठा कर खेतों पर दृष्टि डालो, कि वे कटनी के लिये पक चुके हैं। और काटने वाला मजदूरी पाता, और अनन्त जीवन के लिये फल बटोरता है; ताकि बोने वाला और काटने वाला दोनों मिलकर आनन्द करें। - यूहन्ना 4:35-36

बाइबल पाठ: लूका 19:1-10
Luke 19:1 वह यरीहो में प्रवेश कर के जा रहा था। 
Luke 19:2 और देखो, ज़क्कई नाम एक मनुष्य था जो चुंगी लेने वालों का सरदार और धनी था। 
Luke 19:3 वह यीशु को देखना चाहता था कि वह कौन सा है परन्तु भीड़ के कारण देख न सकता था। क्योंकि वह नाटा था। 
Luke 19:4 तब उसको देखने के लिये वह आगे दौड़कर एक गूलर के पेड़ पर चढ़ गया, क्योंकि वह उसी मार्ग से जाने वाला था। 
Luke 19:5 जब यीशु उस जगह पहुंचा, तो ऊपर दृष्टि कर के उस से कहा; हे ज़क्कई झट उतर आ; क्योंकि आज मुझे तेरे घर में रहना अवश्य है। 
Luke 19:6 वह तुरन्त उतर कर आनन्द से उसे अपने घर को ले गया। 
Luke 19:7 यह देख कर सब लोगे कुड़कुड़ा कर कहने लगे, वह तो एक पापी मनुष्य के यहां जा उतरा है। 
Luke 19:8 ज़क्कई ने खड़े हो कर प्रभु से कहा; हे प्रभु, देख मैं अपनी आधी सम्पत्ति कंगालों को देता हूं, और यदि किसी का कुछ भी अन्याय कर के ले लिया है तो उसे चौगुना फेर देता हूं। 
Luke 19:9 तब यीशु ने उस से कहा; आज इस घर में उद्धार आया है, इसलिये कि यह भी इब्राहीम का एक पुत्र है। 
Luke 19:10 क्योंकि मनुष्य का पुत्र खोए हुओं को ढूंढ़ने और उन का उद्धार करने आया है।

एक साल में बाइबल: 

  • भजन 37-39
  • प्रेरितों 26