बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, August 6, 2016

नया तथा सुन्दर


   हाल ही में मेरी बेटी ने मुझे अपना समुद्री काँच, जिसे समुद्र-तटीय काँच भी कहते हैं, का संग्रह दिखाया। ये उन काँच के टुकड़ों का संग्रह है जो कभी काँच के बर्तन या बोतलें थे, किसी कारणवश टूट कर बिखर गए, और फिर क्योंकि उनकी कोई उपयोगिता नहीं रही इसलिए उन्हें फेंक दिया गया। व्यर्थ समझ कर फेंके गए वे टुकड़े बहते हुए समुद्र में पहुँच जाते हैं, जहाँ लहरों के थपेड़ों और रेत से रगड़-रगड़ कर उनके तीखे किनारे घिस कर गोल हो जाते हैं। अन्त-परिणाम एक अलग ही सुन्दरता लिए हुए काँच होता है जिसकी बहुत कीमत है, जिसे संग्रहकर्ता और कलाकार बड़ी मेहनत से ढूँढ़ते हैं और संजो-सजा कर रखते हैं। कभी व्यर्थ जानकर फेंका गया वह काँच अब नया और सुन्दर आकार लेकर बहुमूल्य और उपयोगी हो जाता है।

   यही कार्य परमेश्वर अपने अनुग्रह और प्रेम द्वारा उन टूटे हुए जीवनों के साथ भी करता है, जो अपने आप को उसके हाथों में समर्पित कर देते हैं। परमेश्वर के वचन बाइबल के पुराने नियम खण्ड में हम पढ़ते हैं कि परमेश्वर ने यिर्मयाह नबी को एक कुम्हार को कार्य करते हुए देखने को कहा। यिर्मयाह ने देखा कि कुम्हार चाक पर बर्तन बना रहा था और बर्तन बिगड़ गया; लेकिन कुम्हार ने उस बिगड़े हुए बर्तन को फेंक नहीं दिया, वरन तुरंत ही उसे सुधार कर एक नया तथा सुन्दर बर्तन बना दिया (यिर्मयाह 18:1-6)। परमेश्वर ने समझाया कि इस्त्राएल के लोग, उसकी प्रजा, उसके हाथ में वैसे ही है जैसे वह बर्तन कुम्हार के हाथों में था; परमेश्वर भी अपने लोगों को आवश्यकतानुसार सुधार तथा संवार सकता है, उन्हें नया और सुन्दर बना सकता है।

   हम सभी उसी एकमात्र परमेश्वर ही की सृष्टि हैं; वह हमारी रचना को हमसे अधिक गहराई और बारीकी से जानता है। जीवन या संसार की कोई परिस्थिति, हमारा कोई भी पाप, हमें ऐसा कभी नहीं बिगाड़ अथवा तोड़ सकता है कि परमेश्वर हमें पुनः सुधार तथा संवार के नया तथा सुन्दर ना बना सके। वह तो ऐसा करना चाहता है; वह आपकी प्रतीक्षा में है, कि आप उसके हाथों में अपने आप को समर्पित करें, उसे अपना कार्य करने की अनुमति तथा स्वतंत्रता दें और वह आपको सुधार तथा संवार कर, अपने कार्य के लिए उपयोगी, नया तथा सुन्दर बना दे। - सिंडी हैस कैसपर


जब हम परिस्थितियों द्वारा पिघला दिए जाते हैं, 
तब उस ’कुम्हार’ के लिए हमें नए आकार में ढालने का सर्वोत्तम अवसर होता है।

सो यदि कोई मसीह में है तो वह नई सृष्‍टि है: पुरानी बातें बीत गई हैं; देखो, वे सब नई हो गईं। - 2 कुरिन्थियों 5:17 

बाइबल पाठ: यिर्मयाह 18:1-6
Jeremiah 18:1 यहोवा की ओर से यह वचन यिर्मयाह के पास पहुंचा, उठ कर कुम्हार के घर जा, 
Jeremiah 18:2 और वहां मैं तुझे अपने वचन सुनवाऊंगा। 
Jeremiah 18:3 सो मैं कुम्हार के घर गया और क्या देखा कि वह चाक पर कुछ बना रहा है! 
Jeremiah 18:4 और जो मिट्टी का बासन वह बना रहा था वह बिगड़ गया, तब उसने उसी का दूसरा बासन अपनी समझ के अनुसार बना दिया। 
Jeremiah 18:5 तब यहोवा का यह वचन मेरे पास पहुंचा, हे इस्राएल के घराने, 
Jeremiah 18:6 यहोवा की यह वाणी है कि इस कुम्हार की नाईं तुम्हारे साथ क्या मैं भी काम नहीं कर सकता? देख, जैसा मिट्टी कुम्हार के हाथ में रहती है, वैसा ही हे इस्राएल के घराने, तुम भी मेरे हाथ में हो।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 70-71
  • रोमियों 8:22-39