बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, December 7, 2017

भरोसा


   मैडेलेनो व्यवसाय से एक राज मिस्त्री है। सोमवार से गुरुवार तक वह लोगों के घरों की दीवारें बनाता तथा छतों की मरम्मत करता है। वह स्वभाव का शान्त, तथा अपने काम में भरोसेमन्द और मेहनती है। फिर वह शुक्रवार से इतवार तक पहाड़ों पर चला जाता है जहाँ वह लोगों को परमेश्वर का वचन सिखाता है। मैडेलेनो मैक्सिको के उस इलाके की बोली बोलना जानता है, इसलिए वह सरलता से उस इलाके के लोगों तक प्रभु यीशु का शुभ सन्देश पहुँचा सकता है। उसकी आयु 70 वर्ष की है, परन्तु वह अभी भी लोगों के घर और परमेश्वर के घराने को बनाने के लिए अपने हाथों से मेहनत करता है।

   अनेकों बार उसका जीवन खतरों में पड़ा है। उसे खुले आकाश के नीचे सोना पड़ा है, और कार दुर्घटनाओं तथा ढलानों से गिरने के कारण उसने मृत्यु का सामना भी किया है। परन्तु उसका मानना है कि उसे परमेश्वर ने वही करने के लिए बुलाया है, जो वह कर रहा है, और वह सहर्ष इस सेवकाई को पूरा कर रहा है। उसका विश्वास है कि लोगों को प्रभु के बारे में जानना चाहिए, और इस सेवकाई को करने के लिए वह परमेश्वर की सामर्थ्य पर निर्भर रहता है।

   मैडेलेनो की विश्वासयोग्यता से मुझे परमेश्वर के वचन बाइबल में दी गई कालेब और यहोशु की विश्वासयोग्यता स्मरण हो आती है, जिन्हें अन्य लोगों के साथ वाचा किए हुए देश की टोह लेने और वापस आकर इस्त्राएलियों को उसके बारे में बताने के लिए भेजा गया था (गिनती 13; यहोशू 14:6-13)। इन दोनों के साथी तो उस देश में रहने वाले लोगों के डील-डौल को देख कर डर गए, और उन्होंने इस्त्राएलियों को भी घबरा दिया; परन्तु यहोशू और कालेब ने परमेश्वर पर भरोसा रखा और इस्त्राएलियों को प्रोत्साहित करने का प्रयास किया कि वे परमेश्वर पर भरोसा बनाए रखें, और परमेश्वर उन्हें उस देश के लोगों पर विजयी होने और उसमें बस जाने के लिए उनकी सहायता करेगा।

   आज जो कार्य हमें सौंपा गया है वह मैडेलेनो, या यहोशू और कालेब से भिन्न हो सकता है; परन्तु परमेश्वर पर हमारा भरोसा उनके जैसा ही होना चाहिए। दुसरों तक प्रभु यीशु के सुसमाचार के साथ पहुँचने के लिए हमें अपनी नहीं वरन परमेश्वर की सामर्थ्य पर भरोसा रखना चाहिए।


जब हम परमेश्वर की आज्ञाकरिता में उसकी सेवकाई करते हैं,
 वह हमें सामर्थी भी करता जाता है।

यदि कोई बोले, तो ऐसा बोले, मानों परमेश्वर का वचन है; यदि कोई सेवा करे; तो उस शक्ति से करे जो परमेश्वर देता है; जिस से सब बातों में यीशु मसीह के द्वारा, परमेश्वर की महिमा प्रगट हो: महिमा और साम्राज्य युगानुयुग उसी की है। आमीन। - 1 पतरस 4:11

बाइबल पाठ: यहोशू 14:6-15
Joshua 14:6 तब यहूदी यहोशू के पास गिलगाल में आए; और कनजी यपुन्ने के पुत्र कालेब ने उस से कहा, तू जानता होगा कि यहोवा ने कादेशबर्ने में परमेश्वर के जन मूसा से मेरे और तेरे विषय में क्या कहा था। 
Joshua 14:7 जब यहोवा के दास मूसा ने मुझे इस देश का भेद लेने के लिये कादेशबर्ने से भेजा था तब मैं चालीस वर्ष का था; और मैं सच्चे मन से उसके पास सन्देश ले आया। 
Joshua 14:8 और मेरे साथी जो मेरे संग गए थे उन्होंने तो प्रजा के लोगों को निराश कर दिया, परन्तु मैं ने अपने परमेश्वर यहोवा की पूरी रीति से बात मानी। 
Joshua 14:9 तब उस दिन मूसा ने शपथ खाकर मुझ से कहा, तू ने पूरी रीति से मेरे परमेश्वर यहोवा की बातों का अनुकरण किया है, इस कारण नि:सन्देह जिस भूमि पर तू अपने पांव धर आया है वह सदा के लिये तेरा और तेरे वंश का भाग होगी। 
Joshua 14:10 और अब देख, जब से यहोवा ने मूसा से यह वचन कहा था तब से पैतालीस वर्ष हो चुके हैं, जिन में इस्राएली जंगल में घूमते फिरते रहे; उन में यहोवा ने अपने कहने के अनुसार मुझे जीवित रखा है; और अब मैं पचासी वर्ष का हूं। 
Joshua 14:11 जितना बल मूसा के भेजने के दिन मुझ में था उतना बल अभी तक मुझ में है; युद्ध करने, वा भीतर बाहर आने जाने के लिये जितनी उस समय मुझ में सामर्थ्य थी उतनी ही अब भी मुझ में सामर्थ्य है। 
Joshua 14:12 इसलिये अब वह पहाड़ी मुझे दे जिसकी चर्चा यहोवा ने उस दिन की थी; तू ने तो उस दिन सुना होगा कि उस में अनाकवंशी रहते हैं, और बड़े बड़े गढ़ वाले नगर भी हैं; परन्तु क्या जाने सम्भव है कि यहोवा मेरे संग रहे, और उसके कहने के अनुसार मैं उन्हें उनके देश से निकाल दूं। 
Joshua 14:13 तब यहोशू ने उसको आशीर्वाद दिया; और हेब्रोन को यपुन्ने के पुत्र कालेब का भाग कर दिया। 
Joshua 14:14 इस कारण हेब्रोन कनजी यपुन्ने के पुत्र कालेब का भाग आज तक बना है, क्योंकि वह इस्राएल के परमेश्वर यहोवा का पूरी रीति से अनुगामी था। 
Joshua 14:15 पहिले समय में तो हेब्रोन का नाम किर्यतर्बा था; वह अर्बा अनाकियों में सब से बड़ा पुरूष था। और उस देश को लड़ाई से शान्ति मिली।

एक साल में बाइबल: 
  • दानिय्येल 5-7
  • 2 यूहन्ना


No comments:

Post a Comment