बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, July 9, 2017

अनुग्रह


   कुछ वर्ष पहले, उस समय अमेरिका की सेना में द्वितीय स्थान पर आसीन, चार सितारा जनरल पीटर चियारेली को एक औपचारिक भोज में राष्ट्रपति की एक वरिष्ठ सलाहाकार ने गलती से वेटर समझ लिया। अपनी वर्दी पहने हुए जनरल पीटर उसके पीछे ही खड़े थे और उस सलाहकार ने उनसे उसके लिए कुछ पीने के लिए लाने को कहा। लेकिन तुरंत ही उसे अपनी गलती का एहसास हुआ, और जनरल ने उसकी शर्मिंदगी को घटाने के लिए हंसते हुए उसके ग्लास में पेय डाला, और उसे निमंत्रण भी दिया कि वह उनके परिवार के साथ भोजन करने कभी उनके घर पर आए।

   शब्द अनुग्रहकारी, अनुग्रह शब्द से आया है, और उसका अर्थ होता है दया या कृपा का कार्य करने वाला, जैसा कि जनरल ने उस सलाहकार के साथ किया। लेकिन मसीह यीशु के अनुयायियों के लिए इसका इससे भी गहरा अर्थ होता है। परमेश्वर का वचन बाइबल हमें बताती है कि हम उसके सर्वथा अयोग्य होने के बावजूद भी सेंत-मेंत में परमेश्वर की अद्भुत और महान कृपा, उसके अनुग्रह के पात्र हुए हैं, जिसे परमेश्वर ने हमें अपने पुत्र प्रभु यीशु मसीह में होकर प्रदान किया है (इफिसियों 2:8)।

   क्योंकि हमने अनुग्रह पाया है, हमें इसे दूसरों के साथ अपने व्यवहार में भी प्रदर्शित करना है, जैसे कि उनसे होने वाले वार्तालाप में अनुग्रह से भरे शब्द बोलने हैं, "बुद्धिमान के वचनों के कारण अनुग्रह होता है, परन्तु मूर्ख अपने वचनों के द्वारा नाश होते हैं" (सभोपदेशक 10:12)। हमारे हृदय में रहने वाला अनुग्रह हमारे शब्दों और कार्यों के द्वारा प्रकट होता है (कुलुस्सियों 3:16-17)।

   भेंट में मिले अनुग्रह को दूसरों तक पहुँचाना पवित्र-आत्मा से भरे मसीही अनुयायी के जीवन का लक्षण है। जैसे मसीह ने हम पर अनुग्रह किया, हमे औरों पर करना है। - सिंडी हैस कैसपर


हृदय में विद्यमान परमेश्वर का अनुग्रह जीवन में भले कार्य उत्पन्न करता है।

मसीह के वचन को अपने हृदय में अधिकाई से बसने दो; और सिद्ध ज्ञान सहित एक दूसरे को सिखाओ, और चिताओ, और अपने अपने मन में अनुग्रह के साथ परमेश्वर के लिये भजन और स्‍तुतिगान और आत्मिक गीत गाओ। और वचन से या काम से जो कुछ भी करो सब प्रभु यीशु के नाम से करो, और उसके द्वारा परमेश्वर पिता का धन्यवाद करो। - कुलुस्सियों 3:16-17

बाइबल पाठ: इफिसियों 2:1-10
Ephesians 2:1 और उसने तुम्हें भी जिलाया, जो अपने अपराधों और पापों के कारण मरे हुए थे। 
Ephesians 2:2 जिन में तुम पहिले इस संसार की रीति पर, और आकाश के अधिकार के हाकिम अर्थात उस आत्मा के अनुसार चलते थे, जो अब भी आज्ञा न मानने वालों में कार्य करता है। 
Ephesians 2:3 इन में हम भी सब के सब पहिले अपने शरीर की लालसाओं में दिन बिताते थे, और शरीर, और मन की मनसाएं पूरी करते थे, और और लोगों के समान स्‍वभाव ही से क्रोध की सन्तान थे। 
Ephesians 2:4 परन्तु परमेश्वर ने जो दया का धनी है; अपने उस बड़े प्रेम के कारण, जिस से उसने हम से प्रेम किया। 
Ephesians 2:5 जब हम अपराधों के कारण मरे हुए थे, तो हमें मसीह के साथ जिलाया; (अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है)। 
Ephesians 2:6 और मसीह यीशु में उसके साथ उठाया, और स्‍वर्गीय स्थानों में उसके साथ बैठाया। 
Ephesians 2:7 कि वह अपनी उस कृपा से जो मसीह यीशु में हम पर है, आने वाले समयों में अपने अनुग्रह का असीम धन दिखाए। 
Ephesians 2:8 क्योंकि विश्वास के द्वारा अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है, और यह तुम्हारी ओर से नहीं, वरन परमेश्वर का दान है। 
Ephesians 2:9 और न कर्मों के कारण, ऐसा न हो कि कोई घमण्‍ड करे। 
Ephesians 2:10 क्योंकि हम उसके बनाए हुए हैं; और मसीह यीशु में उन भले कामों के लिये सृजे गए जिन्हें परमेश्वर ने पहिले से हमारे करने के लिये तैयार किया। 

एक साल में बाइबल: 
  • अय्युब 38-40
  • प्रेरितों 16:1-21