बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, September 26, 2017

नई सृष्टि


   मेरे कार्यकारी जीवन के आरंभिक समय में मेरा एक सहकर्मी परमेश्वर के नाम को गाली के साथ प्रयोग करने और व्यर्थ लेने में हर्षित होता था। जो भी मसीही विश्वास में नया होता था, या उससे प्रभु यीशु मसीह के बारे में बात करने का प्रयास करता था, वह व्यक्ति बड़ी क्रूरता से उसका उपहास करता और ताने मारता था। जिस दिन मैंने वहाँ से काम छोड़कर नए स्थान पर नया काम आरंभ किया, तो मुझे स्मरण है कि मैं सोच रहा था कि वह व्यक्ति कभी मसीह यीशु का अनुयायी नहीं बनेगा।

   इसके दो वर्ष पश्चात मैं अपने उस पुराने कार्यस्थल पर गया। वह व्यक्ति अभी भी वहीं था, परन्तु किसी व्यक्ति में इतना नाटकीय परिवर्तन होना मैंने इससे पहले कभी नहीं देखा था। वह व्यक्ति जो मसीही विश्वास का इतना घोर विरोधी था, अब परमेश्वर के वचन बाइबल में पौलुस द्वारा कही गई बात, "सो यदि कोई मसीह में है तो वह नई सृष्‍टि है: पुरानी बातें बीत गई हैं; देखो, वे सब नई हो गईं" (2 कुरिन्थियों 5:17) की जीती-जागती मिसाल बन गया था। और आज, वर्षों के बाद भी, वह अभी भी औरों को बता रहा है कि कैसे मसीह यीशु उससे उसके पाप और सभी बुराइयों के होते हुए भी सप्रेम मिला और उसे बदल दिया।

   मुझे लगता है कि आरंभिक मसीहियों ने भी पौलुस में कुछ ऐसा ही देखा होगा, उनका उग्र सतानेवाला कैसे मसीह यीशु में एक नई सृष्टि बन गया (प्रेरितों 1-22)। जो अपने आप को पापों की क्षमा और उध्दार पाने से परे समझते हैं, उन के लिए मसीह यीशु द्वारा किए गए ये दोनों जीवन परिवर्तन कितनी महान आशा देने वाले और उत्साहित करने वाले हैं।

   प्रभु यीशु ने पौलुस और मेरे उस भूतपूर्व सहकर्मी को, और मुझे भी खोज कर बदल दिया, अपना कर लिया। प्रभु यीशु आज भी उन तक पहुँचने के प्रयास में लगा है जो उसकी पहुँच से दूर रहना चाहते हैं, और वह हमारे सामने एक उदाहरण रखता है कि हम कैसे इस कार्य में उसकी सहायता करें, लोगों को एक नई सृष्टि होने का मार्ग दिखाएं। - रैंडी किलगोर


प्रभु परमेश्वर की पहुँच से परे कोई नहीं है।

यह बात सच और हर प्रकार से मानने के योग्य है, कि मसीह यीशु पापियों का उद्धार करने के लिये जगत में आया, जिन में सब से बड़ा मैं हूं। - 1 तिमुथियुस 1:15

बाइबल पाठ: प्रेरितों 9:10-22
Acts 9:10 दमिश्क में हनन्याह नाम एक चेला था, उस से प्रभु ने दर्शन में कहा, हे हनन्याह! उसने कहा; हां प्रभु। 
Acts 9:11 तब प्रभु ने उस से कहा, उठ कर उस गली में जा जो सीधी कहलाती है, और यहूदा के घर में शाऊल नाम एक तारसी को पूछ ले; क्योंकि देख, वह प्रार्थना कर रहा है। 
Acts 9:12 और उसने हनन्याह नाम एक पुरूष को भीतर आते, और अपने ऊपर आते देखा है; ताकि फिर से दृष्टि पाए। 
Acts 9:13 हनन्याह ने उत्तर दिया, कि हे प्रभु, मैं ने इस मनुष्य के विषय में बहुतों से सुना है, कि इस ने यरूशलेम में तेरे पवित्र लोगों के साथ बड़ी बड़ी बुराईयां की हैं। 
Acts 9:14 और यहां भी इस को महायाजकों की ओर से अधिकार मिला है, कि जो लोग तेरा नाम लेते हैं, उन सब को बान्‍ध ले। 
Acts 9:15 परन्तु प्रभु ने उस से कहा, कि तू चला जा; क्योंकि यह, तो अन्यजातियों और राजाओं, और इस्त्राएलियों के साम्हने मेरा नाम प्रगट करने के लिये मेरा चुना हुआ पात्र है। 
Acts 9:16 और मैं उसे बताऊंगा, कि मेरे नाम के लिये उसे कैसा कैसा दुख उठाना पड़ेगा।
Acts 9:17 तब हनन्याह उठ कर उस घर में गया, और उस पर अपना हाथ रखकर कहा, हे भाई शाऊल, प्रभु, अर्थात यीशु, जो उस रास्‍ते में, जिस से तू आया तुझे दिखाई दिया था, उसी ने मुझे भेजा है, कि तू फिर दृष्टि पाए और पवित्र आत्मा से परिपूर्ण हो जाए। 
Acts 9:18 और तुरन्त उस की आंखों से छिलके से गिरे, और वह देखने लगा और उठ कर बपतिस्मा लिया; फिर भोजन कर के बल पाया।
Acts 9:19 और वह कई दिन उन चेलों के साथ रहा जो दमिश्क में थे। 
Acts 9:20 और वह तुरन्त आराधनालयों में यीशु का प्रचार करने लगा, कि वह परमेश्वर का पुत्र है। 
Acts 9:21 और सब सुनने वाले चकित हो कर कहने लगे; क्या यह वही व्यक्ति नहीं है जो यरूशलेम में उन्हें जो इस नाम को लेते थे नाश करता था, और यहां भी इसी लिये आया था, कि उन्हें बान्‍ध कर महायाजकों के पास ले आए? 
Acts 9:22 परन्तु शाऊल और भी सामर्थी होता गया, और इस बात का प्रमाण दे देकर कि मसीह यही है, दमिश्क के रहने वाले यहूदियों का मुंह बन्‍द करता रहा।

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह 1-2
  • गलतियों 5