बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, October 23, 2017

चुनौतियाँ और समस्याएँ


   हमारे जीवनों में शायद ही कभी कोई समस्याओं से रहित समय होता होगा, परन्तु कभी-कभी समस्याओं का अविरल प्रहार भयावह तथा असहनीय हो जाता है।

   रोज़ ने अपनी दो छोटी बेटियों को छोड़ अपने शेष समस्त परिवार को, रवांडा में हुए 1994 के जाति-गत जनसंहार में वध होते हुए देखा। अब वह अनेकों निर्धन विधवाओं में से एक है, परन्तु उसने हार नहीं मानी है। उसने दो अनाथ बच्चों को गोद ले लिया है, और बस परमेश्वर पर भरोसा रखती है कि वह उन पाँचों के परिवार के लिए भोजन तथा बच्चों के स्कूल के लिए फीस उपलब्ध करवाएगा। वह मसीही साहित्य को स्थानीय भाषा में अनुवाद करती है और अन्य विध्वाओं के लिए वार्षिक सम्मेलन आयोजित करती है। जब रोज़ अपनी कहानी मुझे बता रही थी तो वह रो रही थी। परन्तु उसके जीवन की प्रत्येक समस्या के लिए उसके पास एक साधारण सरल उपाय है; वह हर समस्या के लिए कहती है, "इसके लिए मेरे पास यीशु है।"

   आज आप जिस भी परेशानी या परिस्थिति का सामना कर रहे हैं, परमेश्वर उसे जानता है। परमेश्वर के वचन बाइबल में यशायाह नबी ने हमें स्मरण दिलाया कि परमेश्वर हमें इतनी नज़दीकी से जानता है मानों हमारे नाम उसकी हथेली पर लिखे हैं (यशायाह 49:16)। हम कभी औरों की आवश्यकताओं की अन्देखी कर देते हैं, उनकी भी जो हमारे निकट के हैं; परन्तु परमेश्वर हमारी प्रत्येक आवश्यकता और हमारे जीवन की प्रत्येक परिस्थिति, प्रत्येक बात को भली-भांति तथा गहराई से जानता है। इसीलिए उसने हम मसीही विश्वासियों, उसके बच्चों, के अन्दर अपना आत्मा दिया है, जो हमारा मार्गदर्शन करता है, हमें शान्ति और सांत्वना देता है, हमें सहायता और हमारी आवश्यकतानुसार हमें सामर्थ्य प्रदान करता है।

   अपने जीवन में आप जिन चुनौतियों का सामना कर रहे हैं, उनके बारे में सोचिए, और फिर प्रत्येक चुनौती और समस्या के सामने, परमेश्वर की देख-भाल और विश्वासयोग्यता के स्मरण के लिए लिख दीजिए, "इसके लिए मेरे पास यीशु है।" - मेरियन स्ट्राउड


मसीह यीशु की ज्योति में जीवन का परिप्रेक्ष्य स्पष्ट हो जाता है।

क्योंकि यहोवा की यह वाणी है, कि जो कल्पनाएं मैं तुम्हारे विषय करता हूँ उन्हें मैं जानता हूँ, वे हानी की नहीं, वरन कुशल ही की हैं, और अन्त में तुम्हारी आशा पूरी करूंगा। - यिर्मयाह 29:11

बाइबल पाठ: यशायाह 49:13-23
Isaiah 49:13 हे आकाश, जयजयकार कर, हे पृथ्वी, मगन हो; हे पहाड़ों, गला खोल कर जयजयकार करो! क्योंकि यहोवा ने अपनी प्रजा को शान्ति दी है और अपने दीन लोगों पर दया की है।
Isaiah 49:14 परन्तु सिय्योन ने कहा, यहोवा ने मुझे त्याग दिया है, मेरा प्रभु मुझे भूल गया है। 
Isaiah 49:15 क्या यह हो सकता है कि कोई माता अपने दूधपिउवे बच्चे को भूल जाए और अपने जन्माए हुए लड़के पर दया न करे? हां, वह तो भूल सकती है, परन्तु मैं तुझे नहीं भूल सकता। 
Isaiah 49:16 देख, मैं ने तेरा चित्र हथेलियों पर खोदकर बनाया है; तेरी शहरपनाह सदैव मेरी दृष्टि के साम्हने बनी रहती है। 
Isaiah 49:17 तेरे लड़के फुर्ती से आ रहे हैं और खण्डहर बनाने वाले और उजाड़ने वाले तेरे बीच से निकले जा रहे हैं। 
Isaiah 49:18 अपनी आंखें उठा कर चारों ओर देख, वे सब के सब इकट्ठे हो कर तेरे पास आ रहे हैं। यहोवा की यह वाणी है कि मेरे जीवन की शपथ, तू निश्चय उन सभों को गहने के समान पहिल लेगी, तू दुल्हिन के समान अपने शरीर में उन सब को बान्ध लेगी।
Isaiah 49:19 तेरे जो स्थान सुनसान और उजड़े हैं, और तेरे जो देश खण्डहर ही खण्डहर हैं, उन में अब निवासी न समाएंगे, और, तुझे नष्ट करने वाले दूर हो जाएंगे। 
Isaiah 49:20 तेरे पुत्र जो तुझ से ले लिये गए वे फिर तेरे कान में कहने पाएंगे कि यह स्थान हमारे लिये सकेत है, हमें और स्थान दे कि उस में रहें। 
Isaiah 49:21 तब तू मन में कहेगी, किस ने इन को मेरे लिये जन्माया? मैं तो पुत्रहीन और बांझ हो गई थी, दासत्व में और यहां वहां मैं घूमती रही, इन को किस ने पाला? देख, मैं अकेली रह गई थी; फिर ये कहां थे? 
Isaiah 49:22 प्रभु यहोवा यों कहता है, देख, मैं अपना हाथ जाति जाति के लोगों की ओर उठाऊंगा, और देश देश के लोगों के साम्हने अपना झण्डा खड़ा करूंगा; तब वे तेरे पुत्रों को अपनी गोद में लिये आएंगे, और तेरी पुत्रियों को अपने कन्धे पर चढ़ाकर तेरे पास पहुंचाएंगे। 
Isaiah 49:23 राजा तेरे बच्चों के निज-सेवक और उनकी रानियां दूध पिलाने के लिये तेरी धाइयां होंगी। वे अपनी नाक भूमि पर रगड़ कर तुझे दण्डवत करेंगे और तेरे पांवों की धूलि चाटेंगे। तब तू यह जान लेगी कि मैं ही यहोवा हूं; मेरी बाट जोहने वाले कभी लज्जित न होंगे।

एक साल में बाइबल: 
  • यिर्मयाह 1-2
  • 1 तिमुथियुस 3