बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, November 2, 2017

बुद्धिमता


   मेरी भांजी के पति ने हाल ही में एक सोशल नेटवर्क साईट पर लिखा, "मैं इन्टरनैट पर और बहुत कुछ कहता, यदि यह धीमी आवाज़ मुझे ऐसा करने के लिए मना नहीं करती। प्रभु यीशु का अनुयायी होने के नाते, आप को लगता होगा कि यह धीमी आवाज़ पवित्र आत्मा की है; किंतु यह है नहीं। यह आवाज़ मेरी पत्नि की है!"

   इसे पढ़कर आने वाली मुस्कान के साथ एक बुद्धिमता का विचार भी आता है - विवेकी मित्र से मिली चेतावनी, परमेश्वर की बुद्धिमता से मिला निर्देष भी हो सकती है। परमेश्वर के वचन बाइबल में, सभोपदेशक नामक पुस्तक में लिखा है, "बुद्धिमानों के वचन जो धीमे धीमे कहे जाते हैं वे मूर्खों के बीच प्रभुता करने वाले के चिल्ला चिल्लाकर कहने से अधिक सुने जाते हैं" (सभोपदेशक 9:17)।

   पवित्र-शास्त्र हमें सचेत करता है कि हम अपनी नज़रों में बुद्धिमान या घमण्डी ना बने (नीतिवचन 3:5-7; यशायाह 5:21; रोमियों 12:16)। दूसरे शब्दों में, हम यह मान कर न चलें कि हमारे पास सब बातों के लिए सभी उत्तर उपलब्ध हैं। नीतिवचन में लिखा है, "सम्मति को सुन ले, और शिक्षा को ग्रहण कर, कि तू अन्तकाल में बुद्धिमान ठहरे" (नीतिवचन 19:20)। वह चाहे मित्र हो, या जीवन-साथी, या कोई सहकर्मी अथवा पादरी, परमेश्वर हमें और भी अधिक अपनी बुद्धिमता प्रदान करने के लिए किसी को भी उपयोग कर सकता है।

   नीतिवचन में एक अन्य स्थान पर लिखा है, "समझ वाले के मन में बुद्धि वास किए रहती है, परन्तु मूर्खों के अन्त:काल में जो कुछ है वह प्रगट हो जाता है" (नीतिवचन 14:33)। एक दूसरे की बात सुनना और एक दूसरे से सीखना परमेश्वर की पवित्र-आत्मा से मिलने वाली बुद्धिमता को पहचानने और सीखने का एक तरीका है। - सिंडी हैस कैस्पर


सच्ची बुद्धिमता का आरंभ और अन्त प्रभु परमेश्वर ही है।

तू अपनी समझ का सहारा न लेना, वरन सम्पूर्ण मन से यहोवा पर भरोसा रखना। उसी को स्मरण कर के सब काम करना, तब वह तेरे लिये सीधा मार्ग निकालेगा। अपनी दृष्टि में बुद्धिमान न होना; यहोवा का भय मानना, और बुराई से अलग रहना। - नीतिवचन 3:5-7

बाइबल पाठ: सभोपदेशक 9:13-18
Ecclesiastes 9:13 मैं ने सूर्य के नीचे इस प्रकार की बुद्धि की बात भी देखी है, जो मुझे बड़ी जान पड़ी। 
Ecclesiastes 9:14 एक छोटा सा नगर था, जिस में थोड़े ही लोग थे; और किसी बड़े राजा ने उस पर चढ़ाई कर के उसे घेर लिया, और उसके विरुद्ध बड़ी मोर्चेबन्दी कर दी। 
Ecclesiastes 9:15 परन्तु उस में एक दरिद्र बुद्धिमान पुरूष पाया गया, और उसने उस नगर को अपनी  बुद्धि के द्वारा बचाया। तौभी किसी ने उस दरिद्र का स्मरण न रखा। 
Ecclesiastes 9:16 तब मैं ने कहा, यद्यपि दरिद्र की बुद्धि तुच्छ समझी जाती है और उसका वचन कोई नहीं सुनता तौभी पराक्रम से बुद्धि उत्तम है। 
Ecclesiastes 9:17 बुद्धिमानों के वचन जो धीमे धीमे कहे जाते हैं वे मूर्खों के बीच प्रभुता करने वाले के चिल्ला चिल्लाकर कहने से अधिक सुने जाते हैं। 
Ecclesiastes 9:18 लड़ाई के हथियारों से बुद्धि उत्तम है, परन्तु एक पापी बहुत भलाई नाश करता है।

एक साल में बाइबल: 
  • यिर्मयाह 27-29
  • तीतुस 3