बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, December 10, 2017

बचाव


   ऑक्टोबर 2010 में, चिल्ली देश में एक खदान में हुए विस्फोट के कारण 33 खनिक एक भूमिगत खदान में फंस गए। उन्हें बाहर निकालने के प्रयासों में, उनके संभावित भूमिगत स्थान के निकट खुदाई करके बाहर निकलने का मार्ग बनाना था। भूमिगत खदानों के नक्शे बनाने का मैकरेना वाल्देस का कौशल इसमें बहुत काम आया। उन लोगों के बचाए जाने के पश्चात मैकरेना ने कहा, उस सही स्थान का पता लगा कर, जहाँ वे खनिक फंसे हुए थे, ड्रिल करके सही स्थान पर छेद बनाना, जिसके द्वारा उन्हें बाहर निकाला जा सके, ऐसा था मानो 700 मीटर की दूरी से मक्खी मारने के लिए बन्दूक से निशाना लगान। खदानों के अपने अनुभव के कारण, मैकरेना ड्रिल करने वालों को उस स्थान तक पहुँचा सकी जहाँ वे खनिक फंसे हुए थे, और उन्हें नाटकीय ढंग से बचा लिया गया।

   आत्मिक बचाव के प्रयासों में भी निराश हो जाना बहुत सरल होता है। यद्यपि पौलुस प्रेरित के सामने इससे भी बड़ी बाधाएं थीं, फिर भी उसने कहा, "इसलिये जब हम पर ऐसी दया हुई, कि हमें यह सेवा मिली, तो हम हियाव नहीं छोड़ते" (2 कुरिन्थियों 4:1)। "और उन अविश्वासियों के लिये, जिन की बुद्धि को इस संसार के ईश्वर ने अन्‍धी कर दी है, ताकि मसीह जो परमेश्वर का प्रतिरूप है, उसके तेजोमय सुसमाचार का प्रकाश उन पर न चमके" (पद 4) फिर भी पौलुस उनके समक्ष उद्धार के सुसमाचार का प्रचार करता ही रहा। परमेश्वर के द्वारा प्रोत्साहित होकर, जिसने पौलुस के आत्मिक अन्धकार में अपनी ज्योति चमकाई थी (पद 6), पौलुस इस बात में दृढ़ निश्चय था कि परमेश्वर ने जो उसके साथ किया था, वह वही कार्य अन्य लोगों के साथ भी कर सकता है।

   मेरी और आपकी भी ऐसी ही कहानी हो सकती है। परमेश्वर के प्रेम से बाध्य एवं प्रोत्साहित होकर, हमें भी साहस नहीं छोड़ना चाहिए। जैसे मैकरेना ने उन खनिकों के बचाव का नेतृत्व किया, वैसे ही परमेश्वर का पवित्र आत्मा हमारे शब्दों के द्वारा परमेश्वर के प्रेम और अनुग्रह की ज्योति को उनके हृदयों तक पहुँचा सकती है जिन्हें पाप से बचाए जाने की आवश्यकता तो है, परन्तु वे अभी इस बात को समझते, जानते और मानते नहीं हैं। पाप से औरों के बचाव के अपने प्रयासों में कभी साहस न छोड़ें। - सी. पी. हिया


जब आप बचाए जाते हैं, तो फिर औरों को भी बचाना चाहते हैं।

और यदि मैं सुसमाचार सुनाऊं, तो मेरा कुछ घमण्‍ड नहीं; क्योंकि यह तो मेरे लिये अवश्य है; और यदि मैं सुसमाचार न सुनाऊं, तो मुझ पर हाय। - 1 कुरिन्थियों 9:16

बाइबल पाठ: 2 कुरिन्थियों 4:1-6
2 Corinthians 4:1 इसलिये जब हम पर ऐसी दया हुई, कि हमें यह सेवा मिली, तो हम हियाव नहीं छोड़ते। 
2 Corinthians 4:2 परन्तु हम ने लज्ज़ा के गुप्‍त कामों को त्याग दिया, और न चतुराई से चलते, और न परमेश्वर के वचन में मिलावट करते हैं, परन्तु सत्य को प्रगट कर के, परमेश्वर के साम्हने हर एक मनुष्य के विवेक में अपनी भलाई बैठाते हैं। 
2 Corinthians 4:3 परन्तु यदि हमारे सुसमाचार पर परदा पड़ा है, तो यह नाश होने वालों ही के लिये पड़ा है। 
2 Corinthians 4:4 और उन अविश्वासियों के लिये, जिन की बुद्धि को इस संसार के ईश्वर ने अन्‍धी कर दी है, ताकि मसीह जो परमेश्वर का प्रतिरूप है, उसके तेजोमय सुसमाचार का प्रकाश उन पर न चमके। 
2 Corinthians 4:5 क्योंकि हम अपने को नहीं, परन्तु मसीह यीशु को प्रचार करते हैं, कि वह प्रभु है; और अपने विषय में यह कहते हैं, कि हम यीशु के कारण तुम्हारे सेवक हैं। 
2 Corinthians 4:6 इसलिये कि परमेश्वर ही है, जिसने कहा, कि अन्धकार में से ज्योति चमके; और वही हमारे हृदयों में चमका, कि परमेश्वर की महिमा की पहिचान की ज्योति यीशु मसीह के चेहरे से प्रकाशमान हो।

एक साल में बाइबल: 
  • होशै 1-4
  • प्रकाशितवाक्य 1