बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, February 7, 2018

शान्ति


   क्लीवलैंड ब्राउन फुटबॉल कल्ब का आजीवन समर्थक होने के कारण मैं निराशाओं से होकर निकलना जानता हूँ। मेरी यह टीम, प्रतिस्पर्धाओं में इस खेल के सर्वोच्च स्तर की चैम्पियनशिप पर कभी न पहुंच पाने वाली चार टीमों में से एक है। परन्तु फिर भी इस टीम के अपने वफादार समर्थक हैं जो वर्ष-प्रतिवर्ष इसके साथ बने रहते हैं। परन्तु क्योंकि इन समर्थकों को अकसर निराशा ही का सामना करना पड़ता है, इसलिए इस टीम के गृह-स्टेडियम को “उदासी का कारखाना” कहा जाता है।

   पाप और निराशाओं से टूटा हुआ यह सँसार भी “उदासी का कारखाना” हो सकता है। यहाँ दिल दुखाने या निराश करने वाली बातों की उपलब्धता का कोई अन्त नहीं है। ये बातें चाहे हमारे अपने चुनावों के कारण हों या हमारे नियंत्रण से बाहर की बातों के कारण।

   परन्तु प्रभु यीशु मसीह के शिष्यों के पास एक अद्भुत आशा है, जो न केवल आने वाले जीवन के लिए है वरन आज के दिन के लिए भी है। परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रभु यीशु ने अपने अनुयायियों से कहा, “मैं ने ये बातें तुम से इसलिये कही हैं, कि तुम्हें मुझ में शान्‍ति मिले; संसार में तुम्हें क्‍लेश होता है, परन्तु ढाढ़स बांधो, मैं ने संसार को जीत लिया है” (यूहन्ना 16:33)। प्रभु यीशु मसीह द्वारा कहे गए इस कथन में ध्यान कीजिए कि उन्होंने किसी के भी द्वारा अनुभव हो सकने वाले संघर्षों या दुखों में किसी प्रकार की कोई भी कमी के किए जाने का आश्वासन दिए बिना, उन विपरीत और दुखदायी परिस्थितियों का प्रतिरोध, प्रभु से मिलने वाली शान्ति, आनन्द, और अंतिम विजय की प्रतिज्ञाओं से किया है।

   प्रभु यीशु में महान शान्ति उपलब्ध है; इतनी कि सँसार और जीवन से मिलने वाली कितनी भी, किसी भी विचलित या दुखदायी परिस्थिति में से होकर हम सुरक्षित और विजयी निकल सकें। - बिला क्राऊडर


हमारी आशा और शान्ति प्रभु यीशु मसीह में होकर हमें मिलती है।

और वह उन की आंखों से सब आंसू पोंछ डालेगा; और इस के बाद मृत्यु न रहेगी, और न शोक, न विलाप, न पीड़ा रहेगी; पहिली बातें जाती रहीं। - प्रकाशितवाक्य 21:4

बाइबल पाठ: यूहन्ना 16:28-33
John 16:28 मैं पिता से निकलकर जगत में आया हूं, फिर जगत को छोड़कर पिता के पास जाता हूं।
John 16:29 उसके चेलों ने कहा, देख, अब तो तू खोल कर कहता है, और कोई दृष्‍टान्‍त नहीं कहता।
John 16:30 अब हम जान गए, कि तू सब कुछ जानता है, और तुझे प्रयोजन नहीं, कि कोई तुझ से पूछे, इस से हम प्रतीति करते हैं, कि तू परमेश्वर से निकला है।
John 16:31 यह सुन यीशु ने उन से कहा, क्या तुम अब प्रतीति करते हो?