बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, December 13, 2019

मैं नहीं



      बीसवीं सदी के सबसे अधिक विख्यात ऑर्केस्ट्रा संचालकों में से एक, आरट्यूरो टोसकनिनी को इस बात के लिए भी स्मरण किया जाता है कि वे उसे अवश्य ही श्रेय देते थे, जिसे श्रेय मिलना चाहिए। डेविड इवन की पुस्तक “डिक्टेटर्स औफ द बैटन” में लेखक ने बताया है कि किस प्रकार से न्यू यॉर्क फिल्हार्मोनिक ऑर्केस्ट्रा के संगीतज्ञों ने बीथोवेन की ‘नाइन्थ सिम्फनी’ के एक अभ्यास के बाद खड़े होकर टोस्किनिनी की प्रशंसा की। जब उस प्रशंसा की ध्वनि कुछ कम हुई, तो आँखों में आंसूओं के साथ टोसकनिनी को भरभराई आवाज़ में कहते सुना गया, “यह मैं नहीं...यह तो बीथोवेन हैं!...टोसकनिनी तो कुछ भी नहीं है।”

      परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरित पौलुस द्वारा लिखित पत्रियों में भी हम देखते हैं कि उसने किसी भी आत्मिक अंतदृष्टि और प्रभाव के लिए श्रेय लेने से इन्कार किया। वह जानता था कि वह अनेकों ऐसे लोगों के लिए जिन्होंने प्रभु यीशु मसीह पर विश्वास किया है, आत्मिक माता-पिता के समान है। उसने यह भी माना कि बहुतेरों के मसीही विश्वास को प्रोत्साहित करने, उन्हें आशा और प्रेम देने के लिए उसने बहुत कठिन परिश्रम किया तथा सताव भी झेले हैं (1 कुरिन्थियों 15:10)। परन्तु उसका विवेक उसे उनकी प्रशंसा को स्वीकार करने की अनुमति नहीं देता था जिन्होंने उसके जीवन में मसीही विश्वास, प्रेम, और अंतदृष्टि द्वारा प्रेरणा पाई थी।

      अपने तब, तथा अब के, सभी पाठकों के लिए, पौलुस एक प्रकार से यही कह रहा था कि, “भाइयों और बहिनों, यह मैं नहीं हूँ। यह तो प्रभु यीशु मसीह है...पौलुस तो कुछ नहीं है।” हम अपने आप में कुछ नहीं हैं, हम केवल अपने प्रभु के संदेशवाहक हैं; और वही समस्त श्रेय तथा प्रशंसा का हकदार है। - मार्ट डीहॉन

बुद्धिमान है वह व्यक्ति जो सम्मान लेने के स्थान पर देना जानता है।

अपुल्लोस क्या है? और पौलुस क्या है? केवल सेवक, जिन के द्वारा तुम ने विश्वास किया, जैसा हर एक को प्रभु ने दिया। मैं ने लगाया, अपुल्लोस ने सींचा, परन्तु परमेश्वर ने बढ़ाया। - 1 कुरिन्थियों 3:5-6

बाइबल पाठ: 1 कुरिन्थियों 15:1-11
1 Corinthians 15:1 हे भाइयों, मैं तुम्हें वही सुसमाचार बताता हूं जो पहिले सुना चुका हूं, जिसे तुम ने अंगीकार भी किया था और जिस में तुम स्थिर भी हो।
1 Corinthians 15:2 उसी के द्वारा तुम्हारा उद्धार भी होता है, यदि उस सुसमाचार को जो मैं ने तुम्हें सुनाया था स्मरण रखते हो; नहीं तो तुम्हारा विश्वास करना व्यर्थ हुआ।
1 Corinthians 15:3 इसी कारण मैं ने सब से पहिले तुम्हें वही बात पहुंचा दी, जो मुझे पहुंची थी, कि पवित्र शास्त्र के वचन के अनुसार यीशु मसीह हमारे पापों के लिये मर गया।
1 Corinthians 15:4 ओर गाड़ा गया; और पवित्र शास्त्र के अनुसार तीसरे दिन जी भी उठा।
1 Corinthians 15:5 और कैफा को तब बारहों को दिखाई दिया।
1 Corinthians 15:6 फिर पांच सौ से अधिक भाइयों को एक साथ दिखाई दिया, जिन में से बहुतेरे अब तक वर्तमान हैं पर कितने सो गए।
1 Corinthians 15:7 फिर याकूब को दिखाई दिया तब सब प्रेरितों को दिखाई दिया।
1 Corinthians 15:8 और सब के बाद मुझ को भी दिखाई दिया, जो मानो अधूरे दिनों का जन्मा हूं।
1 Corinthians 15:9 क्योंकि मैं प्रेरितों में सब से छोटा हूं, वरन प्रेरित कहलाने के योग्य भी नहीं, क्योंकि मैं ने परमेश्वर की कलीसिया को सताया था।
1 Corinthians 15:10 परन्तु मैं जो कुछ भी हूं, परमेश्वर के अनुग्रह से हूं: और उसका अनुग्रह जो मुझ पर हुआ, वह व्यर्थ नहीं हुआ परन्तु मैं ने उन सब से बढ़कर परिश्रम भी किया: तौभी यह मेरी ओर से नहीं हुआ परन्तु परमेश्वर के अनुग्रह से जो मुझ पर था।
1 Corinthians 15:11 सो चाहे मैं हूं, चाहे वे हों, हम यही प्रचार करते हैं, और इसी पर तुम ने विश्वास भी किया।

एक साल में बाइबल: 
  • होशे 12-14
  • प्रकाशितवाक्य 4