बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, July 15, 2020

उपहार


     मैं अपने घर लन्दन लौटने के लिए अपना सामान रख रही थी, मेरी माँ मेरे पास आई और मुझे एक उपहार दिया – उनकी एक अंगूठी जिसे मैं लम्बे समय से पसंद करती आई थी। मैंने चकित हो कर उन से पूछा, “यह किस लिए है?” उन्होंने उत्तर दिया, “मुझे लगता है कि अब तुम्हें इसका आनन्द लेना चाहिए। मेरे देहांत तक की प्रतीक्षा क्यों करें? और वैसे भी अब यह मेरी ऊंगली में आती भी नहीं है।” मैंने मुस्कुराते हुए उनसे मिले इस अनापेक्षित उपहार को स्वीकार कर लिया, एक विरासित जो समय से पहले ही मुझे दे दी गई, और जिसका आनन्द मैं आज भी ले रही हूँ।

     मेरी माँ ने तो मुझे एक भौतिक उपहार दिया था। परन्तु हमारे परमेश्वर ने अपने वचन बाइबल में हमसे प्रतिज्ञा की है कि वह हमें अपना पवित्र आत्मा देगा (लूका 11:13)। प्रभु यीशु ने अपने शिष्यों से पूछा कि यदि पाप से बिगड़े हुए होने पर भी सांसारिक माता-पिता अपने बच्चों को उनकी आवश्यकताएं और भोजन (अंडे, मछली, आदि) देते हैं, तो हमारा स्वर्गीय पिता परमेश्वर हमें और कितना बढ़कर देगा। उसके पवित्र आत्मा के उपहार के द्वारा हम आशा, प्रेम, आनन्द, और शान्ति का अनुभव कठिन परिस्थितियों में भी कर सकते हैं (यूहन्ना 16:13), और हम इन उपहारों को औरों के साथ भी बाँट सकते हैं।

     हो सकता है कि हमारे बड़े होने के दिनों में हमारे माता-पिता हमें वह पूर्ण प्रेम और देखभाल नहीं दिखा सके हों जिसकी हमें अपेक्षा थी। या यह भी हो सकता है कि हमारे माता-पिता बलिदान-पूर्ण प्रेम के सजीव उदाहरण रहे हों। या हमारे अनुभव इन दोनों के मध्य के रहे हों। सांसारिक माता-पिता के साथ हमारे अनुभव जो भी रहे हों, लेकिन हम अपने स्वर्गीय पिता परमेश्वर की इस प्रतिज्ञा पर अटूट विश्वास रख सकते हैं कि वह हम से निर्बाध, अत्याधिक प्रेम रखता है। उसने हमारे उद्धार के लिए अपने प्रीय पुत्र प्रभु यीशु मसीह को, और हमारे साथ रहने के लिए अपने पवित्र आत्मा को हमें उपहार में दिया है। - एमी बाउचर पाई

 

हमारा पिता परमेश्वर उत्तम उपहार देता है।


यूहन्ना 3:16 क्योंकि परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उसने अपना एकलौता पुत्र दे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे, वह नाश न हो, परन्तु अनन्त जीवन पाए।

बाइबल पाठ: लूका 11:9-13

लूका 11:9 और मैं तुम से कहता हूं; कि मांगो, तो तुम्हें दिया जाएगा; ढूंढ़ों तो तुम पाओगे; खटखटाओ, तो तुम्हारे लिये खोला जाएगा।

लूका 11:10 क्योंकि जो कोई मांगता है, उसे मिलता है; और जो ढूंढ़ता है, वह पाता है; और जो खटखटाता है, उसके लिये खोला जाएगा।

लूका 11:11 तुम में से ऐसा कौन पिता होगा, कि जब उसका पुत्र रोटी मांगे, तो उसे पत्थर दे: या मछली मांगे, तो मछली के बदले उसे सांप दे?

लूका 11:12 या अण्‍डा मांगे तो उसे बिच्‍छू दे?

लूका 11:13 सो जब तुम बुरे हो कर अपने लड़के-बालों को अच्छी वस्‍तुएं देना जानते हो, तो स्‍वर्गीय पिता अपने मांगने वालों को पवित्र आत्मा क्यों न देगा।    

 

एक साल में बाइबल: 

  • भजन 13-15

  • प्रेरितों 19:21-41


No comments:

Post a Comment