बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, October 23, 2020

मार्ग,

 

         मेरे पास कोलोराडो के पहाड़ों की पतझड़ के समय की एक बहुत सुन्दर फोटो है, जिसमें एक जवान व्यक्ति घोड़े की पीठ पर बैठा आगे के मार्ग को देख रहा है और विचार कर रहा है कि उसे कौन सा मार्ग चुनना चाहिए। इससे मुझे रॉबर्ट फ्रॉस्ट की कविता “The Road Not Taken” स्मरण हो आती है। उस कविता में फ्रॉस्ट उसके सामने आए दो-राहे पर खड़ा है और उसे निर्णय लेना है कि उन में से किस मार्ग पर वह आगे बढ़ेगा। दोनों ही मार्ग समान रीति से आकर्षक हैं, किन्तु उसे संशय है कि वह दोबारा कभी इस स्थान पर लौट कर आने पाएगा, और इसलिए उसे एक मार्ग बुद्धिमानी से चुनना है।

         परमेश्वर के वचन बाइबल में, प्रभु यीशु के पहाड़ी उपदेश (मत्ती 5 - 7) में  प्रभु ने अपने शिष्यों से कहा, सकेत फाटक से प्रवेश करो, क्योंकि चौड़ा है वह फाटक और चाकल है वह मार्ग जो विनाश को पहुंचाता है; और बहुतेरे हैं जो उस से प्रवेश करते हैं। क्योंकि सकेत है वह फाटक और सकरा है वह मार्ग जो जीवन को पहुंचाता है, और थोड़े हैं जो उसे पाते हैं” (मत्ती 7:13-14)।

         हमारी जीवन यात्रा में हमारे सामने मार्ग चुनने के लिए अनेकों विकल्प आ सकते हैं; बहुत से मार्ग आकर्षक और आश्वासन देने वाले प्रतीत हो सकते हैं परन्तु सच्चे जीवन का मार्ग एक ही है, जो प्रभु की आज्ञाकारिता का मार्ग है। प्रभु यीशु हमें शिष्यता और परमेश्वर के वचन की आज्ञाकारिता का मार्ग चुनने और उस पर चलने के लिए कहता है – भीड़ के पीछे नहीं, उसके पीछे चलें।

         जब हम आगे के मार्ग के बारे में विचार करते हैं, तो प्रभु हमें बुद्धिमानी दे और हमारा मार्गदर्शन करे कि हम उसके मार्ग पर चलने वाले बनें – जीवन के मार्ग पर। यही हमारे लिए और जिनसे हम प्रेम करते हैं उनके लिए सबसे उत्तम मार्ग होगा। - डेविड सी. मेक्कैसलैंड

 

प्रभु यीशु के साथ जीवन के मार्ग पर चलना ही चुनें।


और जब कभी तुम दाहिनी या बाईं ओर मुड़ने लगो, तब तुम्हारे पीछे से यह वचन तुम्हारे कानों में पड़ेगा, मार्ग यही है, इसी पर चलो। - यशायाह 30:21

बाइबल पाठ: मत्ती 7:12-23

मत्ती 7:12 इस कारण जो कुछ तुम चाहते हो, कि मनुष्य तुम्हारे साथ करें, तुम भी उन के साथ वैसा ही करो; क्योंकि व्यवस्था और भविष्यद्वक्ताओं की शिक्षा यही है।

मत्ती 7:13 सकेत फाटक से प्रवेश करो, क्योंकि चौड़ा है वह फाटक और चाकल है वह मार्ग जो विनाश को पहुंचाता है; और बहुतेरे हैं जो उस से प्रवेश करते हैं।

मत्ती 7:14 क्योंकि सकेत है वह फाटक और सकरा है वह मार्ग जो जीवन को पहुंचाता है, और थोड़े हैं जो उसे पाते हैं।।

मत्ती 7:15 झूठे भविष्यद्वक्ताओं से सावधान रहो, जो भेड़ों के भेस में तुम्हारे पास आते हैं, परन्तु अन्दर में फाड़ने वाले भेड़िए हैं।

मत्ती 7:16 उन के फलों से तुम उन्हें पहचान लोग क्या झाड़ियों से अंगूर, या ऊंटकटारों से अंजीर तोड़ते हैं?

मत्ती 7:17 इसी प्रकार हर एक अच्छा पेड़ अच्छा फल लाता है और निकम्मा पेड़ बुरा फल लाता है।

मत्ती 7:18 अच्छा पेड़ बुरा फल नहीं ला सकता, और न निकम्मा पेड़ अच्छा फल ला सकता है।

मत्ती 7:19 जो जो पेड़ अच्छा फल नहीं लाता, वह काटा और आग में डाला जाता है।

मत्ती 7:20 सो उन के फलों से तुम उन्हें पहचान लोगे।

मत्ती 7:21 जो मुझ से, हे प्रभु, हे प्रभु कहता है, उन में से हर एक स्वर्ग के राज्य में प्रवेश न करेगा, परन्तु वही जो मेरे स्वर्गीय पिता की इच्छा पर चलता है।

मत्ती 7:22 उस दिन बहुतेरे मुझ से कहेंगे; हे प्रभु, हे प्रभु, क्या हम ने तेरे नाम से भविष्यवाणी नहीं की, और तेरे नाम से दुष्टात्माओं को नहीं निकाला, और तेरे नाम से बहुत अचम्भे के काम नहीं किए?

मत्ती 7:23 तब मैं उन से खुलकर कह दूंगा कि मैं ने तुम को कभी नहीं जाना, हे कुकर्म करने वालों, मेरे पास से चले जाओ।

 

एक साल में बाइबल: 

  • यिर्मयाह 1-2
  • 1 तिमुथियुस 3

No comments:

Post a Comment