बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, January 9, 2020

स्मृति चिन्ह



      कई बार जब मैं इंटर्नेट चालू करके फेसबुक पर जाती हूँ, तो फेसबुक मुझे पिछले वर्षों में, उस दिन मैंने फेसबुक पर क्या पोस्ट किया था, उन बातों की स्मृतियाँ दिखाती है। ये स्मृतियाँ कुछ फोटो हो सकती हैं, जैसे कि मेरे भाई के विवाह की फोटो, या मेरी बेटी का मेरी दादी के साथ खेलने का वीडियो हो सकता है, और इन्हें देखकर अकसर मेरे चेहरे पर मुस्कराहट आ जाती है। परन्तु कभी-कभी उन स्मृतियों से कुछ भावुक बातें भी स्मरण हो आती हैं, जैसे कि मेरे बहनोई की कीमोथेरपी की याद, या मेरी माँ के मस्तिष्क के ओपरेशन के बाद की फोटो, आदि। ये सभी मुझे, मेरी हर परिस्थिति में मेरे साथ बनी रहने वाली परमेश्वर की भरोसेमंद उपस्थिति को स्मरण दिलाती हैं। फेसबुक की यह स्मृतियाँ मुझे परमेश्वर के प्रति धन्यवादी, और प्रार्थना करने वाला बनाने की ओर बढ़ावा देती हैं।

      हम सभी को स्मृतियों की आवशयकता होती है, नहीं तो हम कई बातों को जो परमेश्वर ने हमारे लिए की हैं भूल जाते हैं। परमेश्वर के वचन बाइबल में हम देखते हैं कि जब यहोशू परमेश्वर के लोगों, इस्राएलियों, को वाचा किए हुए देश में बसाने के लिए लेकर चला, तो उन्हें उस देश में प्रवेश करने के लिए यर्दन नदी को पार करना था (यहोशू 3:15-16)। परमेश्वर ने यर्दन के पानी को विभाजित कर दिया, और उसके लोग सूखी भूमि पर से होकर पार उतर गए (पद 17)। इस आश्चर्यकर्म का स्मृति चिन्ह बनाने के लिए उन्होंने नदी में से बारह बड़े पत्थर उठाए और पार की भूमि पर उनका ढेर बना दिया (4:3, 6-7)। यह इसलिए था कि आते समयों में जब भी उनकी संतानें या कोई अन्य उनके बारे में पूछे तो परमेश्वर के लोग उन्हें बताएं कि उस दिन परमेश्वर ने उनके लिए क्या कर के दिया था।

      बीते समय में हमारे प्रति परमेश्वर की विश्वासयोग्यता के स्मृति-चिन्ह हमें उस पर अपने वर्तमान तथा भविष्य के लिए भरोसा बनाए रखने में सहायक हो सकते हैं। - एमी पीटरसन

बीते वर्षों में, और आते समयों के लिए, 
परमेश्वर की विश्वासयोग्यता के लिए उसका धन्यवाद।

यहोवा और उसकी सामर्थ को खोजो, उसके दर्शन के लगातार खोजी बने रहो! उसके किए हुए आश्चर्यकर्म स्मरण करो, उसके चमत्कार और निर्णय स्मरण करो! – भजन 105:4 - 5

बाइबल पाठ: यहोशू 3:14 - 4:7
Joshua 3:14 सो जब प्रजा के लोगों ने अपने डेरों से यरदन पार जाने को कूच किया, और याजक वाचा का सन्दूक उठाए हुए प्रजा के आगे आगे चले,
Joshua 3:15 और सन्दूक के उठाने वाले यरदन पर पहुंचे, और सन्दूक के उठाने वाले याजकों के पांव यरदन के तीर के जल में डूब गए (यरदन का जल तो कटनी के समय के सब दिन कड़ारों के ऊपर ऊपर बहा करता है),
Joshua 3:16 तब जो जल ऊपर की ओर से बहा आता था वह बहुत दूर, अर्थात आदाम नगर के पास जो सारतान के निकट है रूककर एक ढेर हो गया, और दीवार सा उठा रहा, और जो जल अराबा का ताल, जो खारा ताल भी कहलाता है, उसकी ओर बहा जाता था, वह पूरी रीति से सूख गया; और प्रजा के लाग यरीहो के साम्हने पार उतर गए।
Joshua 3:17 और याजक यहोवा की वाचा का सन्दूक उठाए हुए यरदन के बीचोंबीच पहुंचकर स्थल पर स्थिर खड़े रहे, और सब इस्राएली स्थल ही स्थल पार उतरते रहे, निदान उस सारी जाति के लोग यरदन पार हो गए।
Joshua 4:1 जब उस सारी जाति के लोग यरदन के पार उतर चुके, तब यहोवा ने यहोशू से कहा,
Joshua 4:2 प्रजा में से बारह पुरूष, अर्थात गोत्र पीछे एक एक पुरूष को चुनकर यह आज्ञा दे,
Joshua 4:3 कि तुम यरदन के बीच में, जहां याजकों ने पांव धरे थे वहां से बारह पत्थर उठा कर अपने साथ पार ले चलो, और जहां आज की रात पड़ाव होगा वहीं उन को रख देना।
Joshua 4:4 तब यहोशू ने उन बारह पुरूषों को, जिन्हें उसने इस्राएलियों के प्रत्येक गोत्र में से छांटकर ठहरा रखा था,
Joshua 4:5 बुलवाकर कहा, तुम अपने परमेश्वर यहोवा के सन्दूक के आगे यरदन के बीच में जा कर इस्राएलियों के गोत्रों की गिनती के अनुसार एक एक पत्थर उठा कर अपने अपने कन्धे पर रखो,
Joshua 4:6 जिस से यह तुम लोगों के बीच चिन्हानी ठहरे, और आगे को जब तुम्हारे बेटे यह पूछें, कि इन पत्थरों का क्या मतलब है?
Joshua 4:7 तब तुम उन्हें उत्तर दो, कि यरदन का जल यहोवा की वाचा के सन्दूक के साम्हने से दो भाग हो गया था; क्योंकि जब वह यरदन पार आ रहा था, तब यरदन का जल दो भाग हो गया। सो वे पत्थर इस्राएल को सदा के लिये स्मरण दिलाने वाले ठहरेंगे।

एक साल में बाइबल: 
  • उत्पत्ति 23-24
  • मत्ती 7