बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, July 2, 2020

आशा


     एक होटल के कमरे में, जहाँ मैं रुका था, वहाँ मेरी मेज़ पर, जो कंपनी वह होटल चलाती थी, उसकी ओर से एक कार्ड रखा हुआ था, जिस पर लिखा था:

आपका स्वागत है

हमारी प्रार्थना है कि आपका यहाँ रहना आरामदायक होगा

आपकी यात्रा सफल होगी

प्रभु आपको आशीष दे और सम्भाल कर रखे,

और आप पर अपने मुख का प्रकाश चमकाए।

 

     उस कार्ड को पढने के बाद उनके बारे में जानने की मेरी जिज्ञासा और बढ़ी, इसलिए मैंने उनकी वेबसाईट देखी, उनकी विचारधारा, मान्याताएँ, और कार्यों के बारे में और जानकारी ली। मुझे पता चला कि एक मनोहर तरीके से वे उत्कृष्ट सेवा देने का प्रयास करते हैं, और अपने विश्वास को अपने कार्यस्थल में व्यवाहारिक रीति से दिखाते हैं।

     उनके इस दर्शन से मुझे परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरित पतरस के द्वारा उन मसीही विश्वासियों को लिखी गई बात स्मरण में आई जो अपने विश्वास के कारण सताव झेल रहे थे और समस्त एशिया माइनर में तित्तर-बित्तर होकर रह रहे थे। जो सताव और जोखिम वे उठा रहे थे, उसके बावजूद, पतरस ने उन से कहा कि वे भयभीत न हों, वरन, “पर मसीह को प्रभु जान कर अपने अपने मन में पवित्र समझो, और जो कोई तुम से तुम्हारी आशा के विषय में कुछ पूछे, तो उसे उत्तर देने के लिये सर्वदा तैयार रहो, पर नम्रता और भय के साथ” (1 पतरस 3:15)।

     मेरा एक मित्र इसे “ऐसी जीवन शैली जो एक स्पष्टीकरण माँगती है” कहता है। हम चाहे जहाँ भी रहते हों या काम करते हों, हम प्रभु परमेश्वर की सामर्थ्य से अपने विश्वास को जी कर दिखाएँ – जो भी हमारे विश्वास और हमारी आशा के विषय हम से जानना चाहे, उसे नम्रता और आदर के साथ उसे बता सकें। - डेविड मैक्कैसलैंड

 

हमारे जीवन औरों को प्रोत्साहित करें कि हमारे अन्दर की आशा के कारण को वो भी जान सकें।

तुम्हारा वचन सदा अनुग्रह सहित और सलोना हो, कि तुम्हें हर मनुष्य को उचित रीति से उत्तर देना आ जाए। - कुलुस्सियों 4:6

बाइबल पाठ: 1 पतरस 3:8-16

1 पतरस 3:8 निदान, सब के सब एक मन और कृपामय और भाईचारे की प्रीति रखने वाले, और करूणामय, और नम्र बनो।

1 पतरस 3:9 बुराई के बदले बुराई मत करो; और न गाली के बदले गाली दो; पर इस के विपरीत आशीष ही दो: क्योंकि तुम आशीष के वारिस होने के लिये बुलाए गए हो।

1 पतरस 3:10 क्योंकि जो कोई जीवन की इच्छा रखता है, और अच्‍छे दिन देखना चाहता है, वह अपनी जीभ को बुराई से, और अपने होंठों को छल की बातें करने से रोके रहे।

1 पतरस 3:11 वह बुराई का साथ छोड़े, और भलाई ही करे; वह मेल मिलाप को ढूंढ़े, और उस के यत्‍न में रहे।

1 पतरस 3:12 क्योंकि प्रभु की आंखे धर्मियों पर लगी रहती हैं, और उसके कान उन की बिनती की ओर लगे रहते हैं, परन्तु प्रभु बुराई करने वालों के विमुख रहता है।

1 पतरस 3:13 और यदि तुम भलाई करने में उत्तेजित रहो तो तुम्हारी बुराई करने वाला फिर कौन है?

1 पतरस 3:14 और यदि तुम धर्म के कारण दुख भी उठाओ, तो धन्य हो; पर उन के डराने से मत डरो, और न घबराओ।

1 पतरस 3:15 पर मसीह को प्रभु जान कर अपने अपने मन में पवित्र समझो, और जो कोई तुम से तुम्हारी आशा के विषय में कुछ पूछे, तो उसे उत्तर देने के लिये सर्वदा तैयार रहो, पर नम्रता और भय के साथ।

1 पतरस 3:16 और विवेक भी शुद्ध रखो, इसलिये कि जिन बातों के विषय में तुम्हारी बदनामी होती है उनके विषय में वे, जो तुम्हारे मसीही अच्‍छे चालचलन का अपमान करते हैं लज्ज़ित हों।     

 

एक साल में बाइबल: 

  • अय्यूब 22-24
  • प्रेरितों 11

No comments:

Post a Comment