बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, December 24, 2020

विचार

 

          सुप्रसिद्ध बाइबल शिक्षक तथा प्रचारक ऑस्वाल्ड चैम्बर्स के लंडन में बाइबल कॉलेज में कार्य (1911-15) के दिनों में वे अपने सिखाने के दौरान कही गई बातों से विद्यार्थियों को चौंका देते थे। एक युवती ने बताया कि क्योंकि चर्चा के लिए अगली बार भोजन के लिए एकत्रित होने का समय निर्धारित होता था, इसलिए चैम्बर्स को अकसर ही प्रश्नों की बौछार का सामना करना पड़ता था। ऐसे में कई बार चैम्बर्स बस केवल मुस्कुरा कर इतना ही कहते थे, “बस इसे अभी छोड़ दो; यह तुम्हें बाद में समझ में आ जाएगा।” चैम्बर्स विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करते थे कि वे बात पर विचार करते रहें और परमेश्वर अपने समय और विधि के अनुसार अपने सत्यों को उन पर प्रकट कर देगा।

          किसी बात पर विचार करने का अर्थ है कि उस पर बहुत ध्यान लगाकर गहराई से चिंतन-मनन करना। प्रभु यीशु मसीह के बैतलहम में जन्म होने तक होने वाली घटनाओं और उनके उपरान्त स्‍वर्गदूतों का प्रकट होना,चरवाहों का मसीहा को देखने आना, परमेश्वर के वचन बाइबल में लिखा है कि “मरियम ये सब बातें अपने मन में रखकर सोचती रही” (लूका 2:19)। बाइबल के नए नियम खण्ड के विद्वान डब्ल्यू. ई. वाइन का कहना है कि ‘विचार करना का अर्थ है “... बातों को एक साथ लाना, बातचीत करना, एक से दूसरी बात को सन्दर्भ के अनुसार मिलाकर देखना” (Expository Dictionary of the New Testament Terms)।

          जब हम हमारे जीवनों में होने वाली बातों के अर्थ को समझने के लिए संघर्ष करते हैं, तो मरियम का सुन्दर उदाहरण हमारा मार्गदर्शन करता है कि परमेश्वर तथा उसकी बुद्धि के खोजी होने का क्या अर्थ होता है।

          जब हम हमारे जीवनों में जो हो रहा है, मरियम के समान उसके लिए परमेश्वर की अगुवाई को स्वीकार करते हैं, तो हमारे जीवनों में भी उसके सप्रेम मार्गदर्शन से संबंधित अनेकों नई बातें विचार करते रहने के लिए एकत्रित हो जाती हैं। - डेविड सी. मेक्कैस्लएंड

 

व्यस्त जीवन में अपने आप को कुछ शांत समय की अनुमति दीजिए, 

यह सुनने के लिए परमेश्वर आप से क्या कह रहा है।


मैं ने तेरे वचन को अपने हृदय में रख छोड़ा है, कि तेरे विरुद्ध पाप न करूं। - भजन संहिता 119:11

बाइबल पाठ: लूका 2:8-20

लूका 2:8 और उस देश में कितने गड़ेरिये थे, जो रात को मैदान में रहकर अपने झुण्ड का पहरा देते थे।

लूका 2:9 और प्रभु का एक दूत उन के पास आ खड़ा हुआ; और प्रभु का तेज उन के चारों ओर चमका, और वे बहुत डर गए।

लूका 2:10 तब स्वर्गदूत ने उन से कहा, मत डरो; क्योंकि देखो मैं तुम्हें बड़े आनन्द का सुसमाचार सुनाता हूं जो सब लोगों के लिये होगा।

लूका 2:11 कि आज दाऊद के नगर में तुम्हारे लिये एक उद्धारकर्ता जन्मा है, और यही मसीह प्रभु है।

लूका 2:12 और इस का तुम्हारे लिये यह पता है, कि तुम एक बालक को कपड़े में लिपटा हुआ और चरनी में पड़ा पाओगे।

लूका 2:13 तब एकाएक उस स्वर्गदूत के साथ स्‍वर्गदूतों का दल परमेश्वर की स्तुति करते हुए और यह कहते दिखाई दिया।

लूका 2:14 कि आकाश में परमेश्वर की महिमा और पृथ्वी पर उन मनुष्यों में जिनसे वह प्रसन्न है शान्ति हो।

लूका 2:15 जब स्वर्गदूत उन के पास से स्वर्ग को चले गए, तो गड़ेरियों ने आपस में कहा, आओ, हम बैतलहम जा कर यह बात जो हुई है, और जिसे प्रभु ने हमें बताया है, देखें।

लूका 2:16 और उन्होंने तुरन्त जा कर मरियम और यूसुफ को और चरनी में उस बालक को पड़ा देखा।

लूका 2:17 इन्हें देखकर उन्होंने वह बात जो इस बालक के विषय में उन से कही गई थी, प्रगट की।

लूका 2:18 और सब सुनने वालों ने उन बातों से जो गड़िरयों ने उन से कहीं आश्चर्य किया।

लूका 2:19 परन्तु मरियम ये सब बातें अपने मन में रखकर सोचती रही।

लूका 2:20 और गड़ेरिये जैसा उन से कहा गया था, वैसा ही सब सुनकर और देखकर परमेश्वर की महिमा और स्तुति करते हुए लौट गए।

 

एक साल में बाइबल: 

  • हबक्कूक 1-3
  • प्रकाशितवाक्य 15

No comments:

Post a Comment