बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, December 25, 2020

शान्ति

 

          सर्दियों में मैं अकसर जब सुबह उठती हूँ तो मेरे आस-पास का संसार, रात में पड़ी हुई बर्फ से ढका हुआ, शांत और शान्ति के साथ होता है। वह बर्फ बहुत शान्ति से रात में किसी समय गिर चुकी होती है; जबकि बसंत की आँधियाँ शोर और गर्जन के साथ पानी बरसाती हैं।

          ऑड्रे अस्सद ने “Winter Snow Song” में गाया कि प्रभु यीशु पृथ्वी पर बवंडर के समान सामर्थ्य प्रदर्शित करते हुए भी आ सकते थे, परन्तु उन्होंने शान्ति के साथ, मेरी खिड़की के बाहर की उस बर्फ के समान आना चुना।

          प्रभु यीशु के आगमन से बहुत से लोग आश्चर्यचकित तथा शांत रह गए। किसी राजमहल में जन्म लेने की बजाए, वे एक बहुत ही अनपेक्षित स्थान, बैतलहम के बाहर एक विनीत स्थान में पैदा हुए। और वे उस एकमात्र उपलब्ध बिस्तर, चरनी में सोए (लूका 2:7)। उनके स्वागत, सेवा और देखभाल के लिए राजसी लोग या उच्च अधिकारी उपस्थित नहीं थे, प्रभु यीशु का स्वागत तो साधारण चरवाहों ने किया (पद 15-16)। उनके पास धन-संपत्ति नहीं थी; जब व्यवस्था के अनुसार मंदिर में बलिदान चढ़ाने का समय आया तब उनके माता-पिता केवल दो पक्षियों के सस्ते बलिदान को ही चढ़ा सके (पद 24)।

          प्रभु यीशु के संसार में इस विनम्र प्रवेश के बारे में यशायाह भविष्यद्वक्ता पहले ही लिख चुका था। यशायाह ने भविष्यवाणी की थी कि आने वाला उद्धारकर्ता चिल्लाएगा नहीं (यशायाह 42:2), और न ही वह सामर्थ्य के प्रदर्शन के साथ आएगा जिससे कोई कुचला हुआ सरकंडा टूट जाए या टिमटिमाती बत्ती बुझ जाए (पद 3)। वरन वह शान्ति के साथ आया कि हमें परमेश्वर के साथ शान्ति में ले आने के प्रस्ताव के साथ अपनी ओर आकर्षित करे।

          उसका यह शान्ति का प्रस्ताव सारे संसार के सभी लोगों को आज भी उपलब्ध है; उस प्रत्येक व्यक्ति के लिए है जो चरनी में जन्मे जगत के उद्धारकर्ता पर विश्वास लाता है और उससे अपने पापों की क्षमा मांगकर उसे अपना व्यक्तिगत उद्धारकर्ता स्वीकार कर लेता है, उसकी शान्ति को ग्रहण कर लेता है। - लीसा सामरा

 

यह अद्भुत उपहार कितनी शान्ति से संसार को दिया गया।


वह कुचले हुए सरकण्डे को न तोड़ेगा; और धुआं देती हुई बत्ती को न बुझाएगा, जब तक न्याय को प्रबल न कराए। - मत्ती 12:20

बाइबल पाठ: यशायाह 42:1-4

यशायाह 42:1 मेरे दास को देखो जिसे मैं संभाले हूं, मेरे चुने हुए को, जिस से मेरा जी प्रसन्न है; मैं ने उस पर अपना आत्मा रखा है, वह अन्यजातियों के लिये न्याय प्रगट करेगा।

यशायाह 42:2 न वह चिल्लाएगा और न ऊंचे शब्द से बोलेगा, न सड़क में अपनी वाणी सुनायेगा।

यशायाह 42:3 कुचले हुए नरकट को वह न तोड़ेगा और न टिमटिमाती बत्ती को बुझाएगा; वह सच्चाई से न्याय चुकाएगा।

यशायाह 42:4 वह न थकेगा और न हियाव छोड़ेगा जब तक वह न्याय को पृथ्वी पर स्थिर न करे; और द्वीपों के लोग उसकी व्यवस्था की बाट जोहेंगे।

 

एक साल में बाइबल: 

  • सपन्याह 1-3
  • प्रकाशितवाक्य 16

No comments:

Post a Comment