बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, July 18, 2020

अभिलाषा


     मेरे बैंक के एक कर्मचारी के पास की खिड़की पर फोर्ड मोटर कंपनी द्वारा उच्च प्रदर्शन के लिए बनाई गई शेल्बी कोबरा गाड़ी की एक फोटो लगी है। एक दिन बैंक में अपने कार्य से संबंधित लेन-देन करते हुए, मैंने उस कर्मचारी से उस फोटो के सम्बन्ध में पूछा कि क्या वह उसकी कार है? उसने उत्तर दिया, “नहीं; यह मेरी अभिलाषा है; मैं एक दिन इसे खरीदूँगा, और आज यही मुझे रोज़ प्रातः उठकर काम के लिए आने को प्रोत्साहित करता है।”

     मैं इस जवान व्यक्ति की अभिलाषा को समझ सकता हूँ। मेरे एक मित्र के पास यह गाड़ी हुआ करती थी, और एक बार मैंने इसे चलाया भी था। यह वास्तव में बहुत बलवंत गाड़ी है; परन्तु संसार की अन्य वस्तुओं के समान, यह भी जीवन जीने की अभिलाषा रखने का कारण नहीं हो सकती है। परमेश्वर का वचन बाइबल हमें बताती है कि जो परमेश्वर को छोड़ कर अन्य किसी भी बात में भरोसा रखते हैं, वे भजन 20 के भजनकार के अनुसार, झुकाए और गिराए जाएँगे।

     ऐसा इसलिए क्योंकि हमें परमेश्वर ने अपने लिए सृजा है, और बाकी सभी बातें व्यर्थ हैं। हम इस तथ्य को प्रतिदिन अपने जीवन में प्रमाणित होते हुए देखते हैं: हम कभी यह, तो कभी वह खरीदते रहते हैं, हमें लगता है कि वे वस्तुएँ हमें संतुष्टि प्रदान करेंगी, आनंदित करेंगी। परन्तु जैसे छोटे बच्चों को चाहे जितने भी उपहार दे दो, उन्हें कुछ और की लालसा लगी रहती है; और जो उपहार उन्हें मिलते हैं, उसके प्रति उनका उल्लास और उत्तेजना शीघ्र ही समाप्त हो जाती है, उसी प्रकार हम भी यही सोचते रहते हैं, अब इसके बाद और क्या लिया जाए? पूर्ण तृप्ति कभी नहीं मिलती है।

     संसार की कोई भी वस्तु हमें पूर्णतः संतुष्ट नहीं करने पाती है – वह चाहे कोई भली वस्तु ही क्यों न हो। उनके द्वारा अवश्य ही हमें कुछ आनंद तो मिलता है, परन्तु यह प्रसन्नता कुछ समय बाद धूमिल हो जाती है (1 यूहन्ना 2:17)। जैसा सी. एस. ल्यूइस ने कहा, “परमेश्वर अपने से बाहर हमें कोई प्रसन्नता और शान्ति नहीं दे सकता है; क्योंकि उसके बाहर वह है ही नहीं।” – डेविड एच. रोपर

 

प्रत्येक हृदय में एक अभिलाषा है, जिसे केवल प्रभु यीशु ही पूर्ण कर सकता है।


तुम मुझ में बने रहो, और मैं तुम में: जैसे डाली यदि दाखलता में बनी न रहे, तो अपने आप से नहीं फल सकती, वैसे ही तुम भी यदि मुझ में बने न रहो तो नहीं फल सकते। - यूहन्ना 15:4

बाइबल पाठ: भजन 20:6-9

भजन संहिता 20:6 अब मैं जान गया कि यहोवा अपने अभिषिक्त का उद्धार करता है; वह अपने दाहिने हाथ के उद्धार करने वाले पराक्रम से अपने पवित्र स्वर्ग पर से सुनकर उसे उत्तर देगा।

भजन संहिता 20:7 किसी को रथों को, और किसी को घोड़ों का भरोसा है, परन्तु हम तो अपने परमेश्वर यहोवा ही का नाम लेंगे।

भजन संहिता 20:8 वे तो झुक गए और गिर पड़े परन्तु हम उठे और सीधे खड़े हैं।

भजन संहिता 20:9 हे यहोवा, बचा ले; जिस दिन हम पुकारें तो महाराजा हमें उत्तर दे।    

 

एक साल में बाइबल: 

  • भजन 20-22
  • प्रेरितों 21:1-17


No comments:

Post a Comment