बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, September 29, 2020

सहायता


         तंज़ानिया में रहने वाली मेरी एक सहेली, रूत, का दर्शन है कि वह राजधानी दोदोमा में एक उजाड़ पड़े भूमि के भाग को खरीद ले। रूत की बहुत इच्छा है कि वह कुछ स्थानीय विधवाओं की सहायता के लिए कुछ करे; और वह इस धूल भरे और गंदे पड़े भू-भाग पर खेती और मुर्गी-पालन करना चाहती है। उन विधवाओं की सहायता करने की उसकी इच्छा परमेश्वर के वचन बाइबल में उसकी हमनाम स्त्री, रूत, के जीवन की प्रेरणा से है।

         बाइबल में, निर्धनों और परदेशियों को परमेश्वर की ओर से यह अधिकार दिया गया था कि फसल की कटाई के समय वे खेतों के किनारों से गिर जाने वाली अनाज की बालियाँ अपने उपयोग के लिए बटोर लें (लैव्यव्यवस्था 19:9-10), खेतों के मालिक और मज़दूर उन्हें ऐसा करने से नहीं रोकते थे। बाइबल वाली रूत, जो विधवा थी और उस समय वहाँ बैतलहम में एक परदेशी थी, इसलिए उसे खेतों में फसल की कटाई के समय, अपने और अपनी सास, नाओमी, के भोजन के लिए अनाज की बालियाँ बटोरने की अनुमति थी।

         उनके परिवार के एक निकट संबंधी, बोआज़, के खेतों में अनाज की बालियाँ बटोरने से रूत बोअज़ की नज़रों में आई; और क्योंकि रूत अपने अच्छे चरित्र तथा अपने सास के प्रति समर्पण और प्रतिबद्धता के लिए जानी जाती थी, इसलिए बोअज़ ने उसके कुटुम्बी होने के अपने दायित्व का निर्वाह किया, उससे विवाह किया, और रूत तथा नाओमी को एक घर और परिवार मिल गया, तथा परमेश्वर ने उन्हें आशीष दी। यही रूत दाऊद की परदादी बनी, और उसी के वंश में आगे चलकर सारे जगत के एकमात्र उद्धारकर्ता, प्रभु यीशु मसीह का जन्म हुआ।

         सहायता करने के लिए मेरी सहेली रूत, तथा बाइबल की रूत, दोनों ही की लालसा, मुझे परमेश्वर का धन्यवाद और आराधना करने के लिए उभारते हैं, कि वह किस प्रकार से निर्धनों और तिरस्कृत लोगों के लिए प्रावधान करता है। उनके जीवन मुझे प्रोत्साहित करते हैं कि मैं भी अपने समुदाय में औरों की सहायता में योगदान करूं और अपने कार्यों के द्वारा परमेश्वर के प्रति अपने धन्यवाद को व्यक्त करूं।

         औरों की सहायता करने के द्वारा आप भी परमेश्वर की आराधना कर सकते हैं, उसके प्रति अपने धन्यवाद को व्यक्त कर सकते हैं। - एमी बाउचर पाई

 

परमेश्वर दुर्बलों और निःसहायों का सहायक है।


फिर जब तुम अपने देश के खेत काटो तब अपने खेत के कोने कोने तक पूरा न काटना, और काटे हुए खेत की गिरी पड़ी बालों को न चुनना। और अपनी दाख की बारी का दाना दाना न तोड़ लेना, और अपनी दाख की बारी के झड़े हुए अंगूरों को न बटोरना; उन्हें दीन और परदेशी लोगों के लिये छोड़ देना; मैं तुम्हारा परमेश्वर यहोवा हूं। - लैव्यव्यवस्था 19:9-10

बाइबल पाठ: रूत 2:1-12

रूत 2:1 नाओमी के पति एलीमेलेक के कुल में उसका एक बड़ा धनी कुटुम्बी था, जिसका नाम बोअज़ था।

रूत 2:2 और मोआबिन रूत ने नाओमी से कहा, मुझे किसी खेत में जाने दे, कि जो मुझ पर अनुग्रह की दृष्टि करे, उसके पीछे पीछे मैं सिला बीनती जाऊं। उसने कहा, चली जा, बेटी।

रूत 2:3 सो वह जा कर एक खेत में लवने वालों के पीछे बीनने लगी, और जिस खेत में वह संयोग से गई थी वह एलीमेलेक के कुटुम्बी बोअज़ का था।

रूत 2:4 और बोअज़ बेतलेहेम से आकर लवने वालों से कहने लगा, यहोवा तुम्हारे संग रहे, और वे उस से बोले, यहोवा तुझे आशीष दे।

रूत 2:5 तब बोअज़ ने अपने उस सेवक से जो लवने वालों के ऊपर ठहराया गया था पूछा, वह किस की कन्या है।

रूत 2:6 जो सेवक लवने वालों के ऊपर ठहराया गया था उसने उत्तर दिया, वह मोआबिन कन्या है, जो नाओमी के संग मोआब देश से लौट आई है।

रूत 2:7 उसने कहा था, मुझे लवने वालों के पीछे पीछे पूलों के बीच बीनने और बालें बटोरने दे। तो वह आई, और भोर से अब तक यहीं है, केवल थोड़ी देर तक घर में रही थी।

रूत 2:8 तब बोअज ने रूत से कहा, हे मेरी बेटी, क्या तू सुनती है? किसी दूसरे के खेत में बीनने को न जाना, मेरी ही दासियों के संग यहीं रहना।

रूत 2:9 जिस खेत को वे लवतीं हों उसी पर तेरा ध्यान बन्धा रहे, और उन्हीं के पीछे पीछे चला करना। क्या मैं ने जवानों को आज्ञा नहीं दी, कि तुझ से न बोलें? और जब जब तुझे प्यास लगे, तब तब तू बरतनों के पास जा कर जवानों का भरा हुआ पानी पीना।

रूत 2:10 तब वह भूमि तक झुककर मुंह के बल गिरी, और उस से कहने लगी, क्या कारण है कि तू ने मुझ परदेशिन पर अनुग्रह की दृष्टि कर के मेरी सुधि ली है?

रूत 2:11 बोअज़ ने उत्तर दिया, जो कुछ तू ने पति मरने के पीछे अपनी सास से किया है, और तू किस रीति अपने माता पिता और जन्मभूमि को छोड़कर ऐसे लोगों में आई है जिन को पहिले तू न जानती थी, यह सब मुझे विस्तार के साथ बताया गया है।

रूत 2:12 यहोवा तेरी करनी का फल दे, और इस्राएल का परमेश्वर यहोवा जिसके पंखों के तले तू शरण लेने आई है तुझे पूरा बदला दे

 

एक साल में बाइबल: 

  • यशायाह 7-8
  • इफिसियों 2


No comments:

Post a Comment