बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, July 13, 2020

जानता


     क्या परमेश्वर मेरे बारे में जानता था जब मैं उस रात अपने गाँव जाने के लिए 100 मील की यात्रा गाड़ी चलाकर कर रहा था? मैं जिस हाल में था, उसे ध्यान में रखते हुए, उत्तर इतना सीधा नहीं है। मुझे तेज़ बुखार था, सिर बहुत दर्द कर रहा था। मैंने प्रार्थना की, “प्रभु मैं जानता हूँ कि आप मेरे साथ हैं, परन्तु मैं पीड़ा में पड़ा हूँ!”

     थका हुआ और कमज़ोर, मैंने गाड़ी एक छोटे से गाँव के पास सड़क के किनारे कर के खड़ी कर दी। दस मिनिट के बाद मुझे आवाज़ सुनाई दी; “हैलो; क्या तुम्हें किसी सहायता की आवश्यकता है?” उस निकट के गाँव का एक आदमी अपने साथियों के साथ आकर मुझ से बात कर रहा था। उनकी उपस्थिति मुझे अच्छी लगी। जब उन्होंने मुझे अपने गाँव का नाम बताया, तो मैं चकित रह गया; वहां की स्थानीय भाषा में वह नाम था ‘ना मि न’याला’ जिसका अर्थ होता है, “राजा मेरे बारे में जानता है”। मैं इस गाँव के पास से होकर दर्जनों बार गुज़रा था, परन्तु कभी वहाँ रुका नहीं था। लेकिन उस दिन प्रभु ने उस गाँव के नाम के द्वारा मुझे आश्वस्त किया, कि राजा, अर्थात वह, मेरे साथ था जब मैं अस्वस्थ अवस्था में सड़क के किनारे अकेला खड़ा हुआ था। इस सबसे प्रोत्साहित होकर मैं निकट के दवाखाने तक गया।

     हम जब अपने दैनिक कार्यों में, विभिन्न स्थानों पर और विभिन्न परिस्थितियों में, लगे होते हैं, परमेश्वर हमारे बारे में सब जानता है, चाहे हमारे हाल कैसे भी हों (भजन 139:1-4, 7-12)। वह हमें कभी नहीं छोड़ता और न कभी त्यागता है, और न ही वह कभी इतना व्यस्त होता है कि हमारे अनदेखी कर दे। हम चाहे किसी कठिनाई अथवा समस्या में हों, चाहे “अन्धकार” या “रात्रि” में हों (पद 11-12), हम उसकी दृष्टि से कभी ओझल नहीं होते हैं। यह सत्य हमें बहुत आशा और आश्वासन देता है, और हमें हमारे सृष्टिकर्ता, और मार्गदर्शक प्रभु की स्तुति और आराधना करने के लिए प्रेरित करता है, क्योंकि हमारा प्रभु हमें हर परिस्थिति में, हर समय जानता है। - लॉरेंस दर्मानी

 

हम चाहे जहाँ भी हों, प्रभु हमारे बारे में जानता है।


क्योंकि मनुष्य के मार्ग यहोवा की दृष्टि से छिपे नहीं हैं, और वह उसके सब मार्गों पर ध्यान करता है। -  नीतिवचन 5:21

बाइबल पाठ: भजन 139:1-4  

भजन संहिता 139:1 हे यहोवा, तू ने मुझे जांच कर जान लिया है।।

भजन संहिता 139:2 तू मेरा उठना बैठना जानता है; और मेरे विचारों को दूर ही से समझ लेता है।

भजन संहिता 139:3 मेरे चलने और लेटने की तू भली भांति छानबीन करता है, और मेरी पूरी चालचलन का भेद जानता है।

भजन संहिता 139:4 हे यहोवा, मेरे मुंह में ऐसी कोई बात नहीं जिसे तू पूरी रीति से न जानता हो।      

 

एक साल में बाइबल: भजन 7-9; प्रेरितों 18


No comments:

Post a Comment