बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, July 3, 2020

सुरक्षा


     हमारा बीटा ज़ेवियर दो वर्ष का था, और हम एक स्टोर में सामान लेने गए हुए थे। मैं सामान लेने में लगी हुई थी, और ज़ेवियर अपने पिता के साथ दूकान में खेल रहा था। वह कभी यहाँ, कभी वहाँ जाकर छुप जाता, और जैसे ही मेरे पति उसे ढूँढ कर कहते, “मैंने तुम्हें देख लिया” वह खिलखिला कर हँस देता। लेकिन अचानक ही मैंने देखा कि ज़ेवियर कहीं दिखाई नहीं दे रहा है, और मेरे पति उसका नाम पुकारते हुए स्टोर में इधर से उधर भाग रहे थे। हम उसे ढूँढते हुए स्टोर के दरवाज़े के पास पहुंचे तो देखा कि ज़ेवियर दरवाज़े से बाहर निकलकर बाहर की व्यस्त सड़क पर जाने ही वाला था। मेरे पति ने दौड़ कर उसे गोदी में उठा लिया, और हमने उसे अपनी बाहों में भरकर, उसे चूमते हुए और सिसकते हुए उसे सुरक्षा प्रदान करने के लिए परमेश्वर का धन्यवाद किया।

     ज़ेवियर के जन्म से एक वर्ष पूर्व, मैं गर्भावस्था में अपने पहले बच्चे को खो चुकी थी। जब परमेश्वर ने हमें यह बेटा दिया, तो मैं उसकी सुरक्षा को लेकर बहुत भयभीत रहने लगी। उस दिन के हमारे स्टोर वाले अनुभव ने हमें दिखा दिया कि हम सदैव ही अपने बच्चे पर दृष्टि लगाए नहीं रख सकते हैं, और न ही अपने आप से उसे सुरक्षित रख सकते हैं। परन्तु मुझे शान्ति मिली जब मैंने हमारी सहायता के एकमात्र निश्चित स्त्रोत, हमारे प्रभु परमेश्वर, पर भरोसा रखने और हर परिस्थिति में उसी की ओर देखने के महत्त्व को समझ लिया।

     हमारा स्वर्गीय पिता परमेश्वर, अपने बच्चों पर से कभी अपनी दृष्टि नहीं हटाता है (भजन 121:1-4)। हम परीक्षाओं, दुखों, और हानि को रोक तो नहीं सकते हैं, परन्तु हम अपने सर्वदा विद्यमान सहायक और सुरक्षा प्रदान करने वाले परमेश्वर पिता पर भरोसा बनाए रख सकते हैं, कि वह हमारे जीवनों का सदा ध्यान रखता है।

     हो सकता है कि हमें ऐसे दिनों का सामना करना पड़े जिन में हम अपने आप को खोया हुआ और मजबूर अनुभव करें। और जब हम अपने प्रिय जनों को सुरक्षा प्रदान न करने पाएँ तो अपने आप को शक्तिहीन अनुभव करें। परन्तु हम हमेशा यह भरोसा बनाए रख सकते हैं कि हमारा सर्वज्ञानी परमेश्वर कभी हमें अपनी दृष्टि से ओझल नहीं होने देता है; क्योंकि हम उसके अतिप्रिय संतान हैं, इसलिए उसकी सुरक्षा हमारे साथ सदा बनी रहती है। - होकिटिल डिक्सन

 

परमेश्वर अपने बच्चों पर सदा अपनी दृष्टि बनाए रखता है।


वह न्याय के पथों की देख भाल करता, और अपने भक्तों के मार्ग की रक्षा करता है। - नीतिवचन 2:8

बाइबल पाठ: भजन 121

भजन संहिता 121:1 मैं अपनी आंखें पर्वतों की ओर लगाऊंगा। मुझे सहायता कहां से मिलेगी?

भजन संहिता 121:2 मुझे सहायता यहोवा की ओर से मिलती है, जो आकाश और पृथ्वी का कर्ता है।

भजन संहिता 121:3 वह तेरे पांव को टलने न देगा, तेरा रक्षक कभी न ऊंघेगा।

भजन संहिता 121:4 सुन, इस्राएल का रक्षक, न ऊंघेगा और न सोएगा।

भजन संहिता 121:5 यहोवा तेरा रक्षक है; यहोवा तेरी दाहिनी ओर तेरी आड़ है।

भजन संहिता 121:6 न तो दिन को धूप से, और न रात को चांदनी से तेरी कुछ हानि होगी।

भजन संहिता 121:7 यहोवा सारी विपत्ति से तेरी रक्षा करेगा; वह तेरे प्राण की रक्षा करेगा।

भजन संहिता 121:8 यहोवा तेरे आने जाने में तेरी रक्षा अब से ले कर सदा तक करता रहेगा।    

 

एक साल में बाइबल: 

  • अय्यूब 25-27
  • प्रेरितों 12

No comments:

Post a Comment