बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

सूचना:

ई-मेल के द्वारा ब्लोग्स के लेख प्राप्त करने की सुविधा ब्लोगर द्वारा जुलाई महीने से समाप्त कर दी जाएगी. इसलिए यदि आप ने इस ब्लॉग के लेखों को स्वचालित रीति से ई-मेल द्वारा प्राप्त करने की सुविधा में अपना ई-मेल पता डाला हुआ है, तो उसके बाद से आप इन लेखों फिर सीधे इस वेब-साईट के द्वारा ही देखने और पढ़ने पाएँगे.

Tuesday, May 11, 2021

सही समय

 

          मेरे स्नातक होने से पूर्व के अध्ययन और स्नातक होने के अध्ययन के मध्य के गर्मी के अवकाश के समय में मेरी चिंता दिन-प्रति-दिन बढ़ती जा रही थी। मेरी प्रवृत्ति है कि सब कुछ पहले से नियोजित कर के, उसे योजनाबद्ध रीति से किया जाए। और अब अपने राज्य के बाहर जाकर अध्ययन को आगे बढ़ाना, और खर्चे के लिए हाथ में कोई नौकरी न होना, मुझे परेशान कर रहा था। लेकिन उस गर्मियों के अवकाश के समय जो कार्य मैं कर रही थी, उसे पूरा करने से कुछ ही दिन पहले, मुझे कम्पनी की ओर से कहा गया कि मैं उस कार्य को ज़ारी रख सकती हूँ, उसे इंटरनेट के माध्यम से करती रह सकती हूँ। मैंने उनके इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया, और मुझे इससे यह शान्ति भी मिली कि परमेश्वर मेरी देखभाल कर रहा है।

          परमेश्वर ने मेरे लिए उपलब्ध करवाया, लेकिन अपने समय के अनुसार, न कि मेरे समय और मेरी इच्छा के अनुसार। परमेश्वर के वचन बाइबल में अब्राहम ने इससे भी कहीं अधिक कठिन परिस्थिति का सामना किया था, अपने पुत्र इसहाक को लेकर। परमेश्वर ने अब्राहम से कहा कि अपने बेटे इसहाक को लेकर मोरिय्याह पहाड़ पर जाए, और वहाँ पर उसे बलिदान कर दे (उत्पत्ति 22:1-2)। अब्राहम ने बिना किसी संकोच के परमेश्वर की बात को स्वीकार कर लिया, और इसहाक को लेकर वहाँ चला गया। उसे वहाँ पहुँचने के लिए तीन दिन की यात्रा करनी पड़ी, जिसके दौरान उसके पास सारी परिस्थिति पर फिर से विचार करने और अपना निर्णय बदलने का पर्याप्त समय था, परन्तु उसने ऐसा नहीं किया (पद 3-4)।

          जब इसहाक में बलि के लिए पशु के बारे में प्रश्न किया तो अब्राहम ने उत्तर दिया “हे मेरे पुत्र, परमेश्वर होमबलि की भेड़ का उपाय आप ही करेगा” (पद 8)। मैं सोचती हूँ कि हर कदम पर क्या अब्राहम की चिंता भी बढ़ती गई होगी? क्या इसहाक को बांधकर लकड़ियों पर लेटाने, उसे मारने के लिए चाकू को हाथ में ऊपर उठाने – क्या हर गाँठ को बाँधने, चाकू को उठाते जाने – सभी के साथ उसकी चिंता बढ़ती गई होगी (पद 9-10)? उसे कितनी राहत मिली होगी जब स्वर्गदूत ने उसे रोका (पद 11-12)। परमेश्वर ने बलिदान के लिए भेड़ का भी प्रयोजन करके दिया – झाड़ियों में फँसा हुआ एक मेढ़ा प्रदान किया (पद 13)।

          परमेश्वर ने अब्राहम के विश्वास की परीक्षा की, और वह परीक्षा में खरा निकला। बिलकुल सही समय पर, परमेश्वर ने उपलब्ध भी करवा कर दिया। हमारा प्रभु परमेश्वर हमारी प्रत्येक आवश्यकता को जानता है, और उसे पता वह सही समय पता है जब उसे पूरा करना है। - जूली श्वाब

 

प्रभु आपके प्रयोजनों के लिए धन्यवाद; आप सही समय पर उपलब्ध करवाते हैं।


इसलिये परमेश्वर के बलवन्‍त हाथ के नीचे दीनता से रहो, जिस से वह तुम्हें उचित समय पर बढ़ाए। - 1 पतरस 5:6

बाइबल पाठ: उत्पत्ति 22:1-14

उत्पत्ति 22:1 इन बातों के पश्चात ऐसा हुआ कि परमेश्वर ने, अब्राहम से यह कहकर उसकी परीक्षा की, कि हे अब्राहम: उसने कहा, देख, मैं यहां हूं।

उत्पत्ति 22:2 उसने कहा, अपने पुत्र को अर्थात अपने एकलौते पुत्र इसहाक को, जिस से तू प्रेम रखता है, संग ले कर मोरिय्याह देश में चला जा, और वहां उसको एक पहाड़ के ऊपर जो मैं तुझे बताऊंगा होमबलि कर के चढ़ा।

उत्पत्ति 22:3 सो अब्राहम बिहान को तड़के उठा और अपने गदहे पर काठी कसकर अपने दो सेवक, और अपने पुत्र इसहाक को संग लिया, और होमबलि के लिये लकड़ी चीर ली; तब कूच कर के उस स्थान की ओर चला, जिसकी चर्चा परमेश्वर ने उस से की थी।

उत्पत्ति 22:4 तीसरे दिन अब्राहम ने आंखें उठा कर उस स्थान को दूर से देखा।

उत्पत्ति 22:5 और उसने अपने सेवकों से कहा गदहे के पास यहीं ठहरे रहो; यह लड़का और मैं वहां तक जा कर, और दण्डवत कर के, फिर तुम्हारे पास लौट आऊंगा।

उत्पत्ति 22:6 सो अब्राहम ने होमबलि की लकड़ी ले अपने पुत्र इसहाक पर लादी, और आग और छुरी को अपने हाथ में लिया; और वे दोनों एक साथ चल पड़े।

उत्पत्ति 22:7 इसहाक ने अपने पिता अब्राहम से कहा, हे मेरे पिता; उसने कहा, हे मेरे पुत्र, क्या बात है उसने कहा, देख, आग और लकड़ी तो हैं; पर होमबलि के लिये भेड़ कहां है?

उत्पत्ति 22:8 अब्राहम ने कहा, हे मेरे पुत्र, परमेश्वर होमबलि की भेड़ का उपाय आप ही करेगा।

उत्पत्ति 22:9 सो वे दोनों संग संग आगे चलते गए। और वे उस स्थान को जिसे परमेश्वर ने उसको बताया था पहुंचे; तब अब्राहम ने वहां वेदी बनाकर लकड़ी को चुन चुनकर रखा, और अपने पुत्र इसहाक को बान्ध के वेदी पर की लकड़ी के ऊपर रख दिया।

उत्पत्ति 22:10 और अब्राहम ने हाथ बढ़ाकर छुरी को ले लिया कि अपने पुत्र को बलि करे।

उत्पत्ति 22:11 तब यहोवा के दूत ने स्वर्ग से उसको पुकार के कहा, हे अब्राहम, हे अब्राहम; उसने कहा, देख, मैं यहां हूं।

उत्पत्ति 22:12 उसने कहा, उस लड़के पर हाथ मत बढ़ा, और न उस से कुछ कर: क्योंकि तू ने जो मुझ से अपने पुत्र, वरन अपने एकलौते पुत्र को भी, नहीं रख छोड़ा; इस से मैं अब जान गया कि तू परमेश्वर का भय मानता है।

उत्पत्ति 22:13 तब अब्राहम ने आँखें उठाई, और क्या देखा, कि उसके पीछे एक मेढ़ा अपने सींगो से एक झाड़ी में फँसा हुआ है: सो अब्राहम ने जा कर उस मेंढ़े को लिया, और अपने पुत्र के स्थान पर होमबलि कर के चढ़ाया।

उत्पत्ति 22:14 और अब्राहम ने उस स्थान का नाम यहोवा यिरे रखा: इसके अनुसार आज तक भी कहा जाता है, कि यहोवा के पहाड़ पर उपाय किया जाएगा।

 

एक साल में बाइबल: 

  • 2 राजाओं 13-14
  • यूहन्ना 2

No comments:

Post a Comment