बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, November 22, 2016

शोक


   बीच बॉयज़ बैण्ड के दो सदस्यों, ब्रायन विलसन और माईक लव ने नवंबर 1963 में एक अनूठा प्रेम-गीत लिखा जो उनकी विशिष्ट आशावादी शैली से बिलकुल भिन्न था; वह खोए हुए प्रेम के बारे में लिखा गया शोकपूर्ण गीत था। बाद में माईक ने कहा, "ऐसी हानि चाहे जितनी भी कठिन क्यों ना हो, जो एक भली बात उस से निकल कर आती है वह है कि आपको प्रेम करने का अनुभव तो हुआ।" उन्होंने उस गीत का शीर्षक रखा "The Warmth of the Sun." गीत लिखने के लिए शोक का उत्प्रेरक होना कोई नई बात नहीं है; अनेकों कवियों और गीतकारों ने दुःख भरे अनुभवों में होकर अति उत्तम कविताएं और गीत लिखें हैं।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में भी हम देखते हैं कि दाऊद के सबसे मर्मस्पर्शी भजनों में से कुछ गहरी व्यक्तिगत हानि के समय में लिखे गए, जैसे कि भजन 6, जिसके शब्द शोक से भरे हैं। यद्यपि हमें यह नहीं बताया गया है कि इस भजन को लिखते समय दाऊद किस परिस्थिति से होकर निकल रहा था, परन्तु उसका शोक प्रकट है: "मैं कराहते कराहते थक गया; मैं अपनी खाट आंसुओं से भिगोता हूं; प्रति रात मेरा बिछौना भीगता है। मेरी आंखें शोक से बैठी जाती हैं, और मेरे सब सताने वालों के कारण वे धुन्धला गई हैं" (पद 6-7)।

   लेकिन यह भजन का अन्त नहीं है। दाऊद ने दर्द और हानि को सहा, परन्तु साथ ही उसने परमेश्वर की सांत्वना का भी अनुभव किया; इसलिए उसने आगे, भजन के अन्त में लिखा: "यहोवा ने मेरा गिड़गिड़ाना सुना है; यहोवा मेरी प्रार्थना को ग्रहण भी करेगा" (पद 9)।

   अपने शोक में ना केवल दाऊद ने एक भजन पाया, उसने परमेश्वर पर विश्वास रखने का कारण, जिसकी विश्वासयोग्यता जीवन की हर कठिन परिस्थिति में भी साथ बनी रहती है, भी पाया। परमेश्वर की उपस्थिति की गरमाहट में, हमारे शोक को भी आशा का परिपेक्ष मिल जाता है। - बिल क्राउडर


दुःख भरा गीत हमारे हृदयों को परमेश्वर की ओर मोड़ सकता है; 
जिसका आनन्द अनन्तकाल का है।

तू ने मेरे लिये विलाप को नृत्य में बदल डाला, तू ने मेरा टाट उतरवाकर मेरी कमर में आनन्द का पटुका बान्धा है; ताकि मेरी आत्मा तेरा भजन गाती रहे और कभी चुप न हो। हे मेरे परमेश्वर यहोवा, मैं सर्वदा तेरा धन्यवाद करता रहूंगा। - भजन 30:11-12

बाइबल पाठ: भजन 6
Psalms 6:1 हे यहोवा, तू मुझे अपने क्रोध में न डांट, और न झुंझलाहट में मुझे ताड़ना दे। 
Psalms 6:2 हे यहोवा, मुझ पर अनुग्रह कर, क्योंकि मैं कुम्हला गया हूं; हे यहोवा, मुझे चंगा कर, क्योंकि मेरी हडि्डयों में बेचैनी है। 
Psalms 6:3 मेरा प्राण भी बहुत खेदित है। और तू, हे यहोवा, कब तक? 
Psalms 6:4 लौट आ, हे यहोवा, और मेरे प्राण बचा अपनी करूणा के निमित्त मेरा उद्धार कर। 
Psalms 6:5 क्योंकि मृत्यु के बाद तेरा स्मरण नहीं होता; अधोलोक में कौन तेरा धन्यवाद करेगा? 
Psalms 6:6 मैं कराहते कराहते थक गया; मैं अपनी खाट आंसुओं से भिगोता हूं; प्रति रात मेरा बिछौना भीगता है। 
Psalms 6:7 मेरी आंखें शोक से बैठी जाती हैं, और मेरे सब सताने वालों के कारण वे धुन्धला गई हैं।
Psalms 6:8 हे सब अनर्थकारियों मेरे पास से दूर हो; क्योंकि यहोवा ने मेरे रोने का शब्द सुन लिया है। 
Psalms 6:9 यहोवा ने मेरा गिड़गिड़ाना सुना है; यहोवा मेरी प्रार्थना को ग्रहण भी करेगा। 
Psalms 6:10 मेरे सब शत्रु लज्जित होंगे और बहुत घबराएंगे; वे लौट जाएंगे, और एकाएक लज्जित होंगे।

एक साल में बाइबल: 
  • यहेजेकल 18-19
  • याकूब 4