Tuesday, April 2, 2019

स्पर्ष



      काएली ने पूर्वी अफ्रीका के एक भीतरी इलाके में चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए जा रहे अभियान में सम्मिलित होने के अवसर को तुरंत सहर्ष स्वीकार तो कर लिया, किन्तु उसे कुछ बेचैनी भी थी। उसे कोई भी चिकित्सा संबंधित अनुभव नहीं था; वह केवल बुनियादी देखभाल ही प्रदान कर सकती थी।

      उस अभियान के समय वह एक महिला के संपर्क में आई जिसे भयंकर किन्तु साध्य रोग था। उस रोग के कारण उस महिला की ख़राब टांग को देखकर काएली को घृणा तो हुई, परन्तु उसे इस बात का भी एहसास था कि उसके लिए कुछ करना तो पड़ेगा। जब वह उस महिला की टांग की मरहम-पट्टी करने लगी, तो वह महिला रोने लगी। चिन्तित होकर काएली ने पूछा कि क्या उसके कार्य से पीड़ा हो रही है, तो महिला ने उत्तर दिया, “नहीं; लेकिन यह पहली बार हुआ है कि नौ वर्ष में किसी ने मुझे छुआ है।”

      कोढ़ एक ऐसी बीमारी है जिसके रोगियों को देखकर लोगों को घृणा आती है, और प्राचीन यहूदी संस्कृति में कोढ़ को फैलने से रोकने के लिए कोढियों से संबंधित कुछ कठोर नियम लागू किए गए थे। उन्हें छावनी या निवास-स्थलों के बाहर अकेले रहना होता था (लैव्यवस्था 13:46)।

      इसीलिए यह इतना असाधारण है कि एक कोढ़ी ने प्रभु यीशु के पास आकर उससे कहा, “हे प्रभु यदि तू चाहे, तो मुझे शुद्ध कर सकता है” (मत्ती 8:2)। और प्रत्युत्तर में प्रभु यीशु ने उससे कहा “मैं चाहता हूं, तू शुद्ध हो जा और वह तुरन्त कोढ़ से शुद्ध हो गया” (मत्ती 8:3)।

      एक कोढ़ी महिला की रोग-ग्रस्त टांग को छूने के द्वारा काएली ने प्रभु यीशु के उस साहसी, साथ लेकर चलने वाले प्रेम का व्यावहारिक प्रगटीकरण किया। एक स्पर्ष अन्तर ला सकता है। - टिम गुस्ताफ्सन


यदि हम परमेश्वर पर भरोसा रखकर उसे अनुमति दें कि वह हमें प्रयोग करे, 
तो हम कितना अन्तर ला सकते हैं।

और चलते चलते प्रचार कर कहो कि स्वर्ग का राज्य निकट आ गया है। बीमारों को चंगा करो: मरे हुओं को जिलाओ: कोढिय़ों को शुद्ध करो: दुष्टात्माओं को निकालो: तुम ने सेंतमेंत पाया है, सेंतमेंत दो। - मत्ती 10:7-8

बाइबल पाठ: मत्ती 8:1-4
Matthew 8:1 जब वह उस पहाड़ से उतरा, तो एक बड़ी भीड़ उसके पीछे हो ली।
Matthew 8:2 और देखो, एक कोढ़ी ने पास आकर उसे प्रणाम किया और कहा; कि हे प्रभु यदि तू चाहे, तो मुझे शुद्ध कर सकता है।
Matthew 8:3 यीशु ने हाथ बढ़ाकर उसे छूआ, और कहा, मैं चाहता हूं, तू शुद्ध हो जा और वह तुरन्त कोढ़ से शुद्ध हो गया।
Matthew 8:4 यीशु ने उस से कहा; देख, किसी से न कहना परन्तु जा कर अपने आप को याजक को दिखला और जो चढ़ावा मूसा ने ठहराया है उसे चढ़ा, ताकि उन के लिये गवाही हो।

एक साल में बाइबल:  
  • 1 राजा 12-13
  • लूका 22:1-20



कार्य



      मेरे बेटी ने अपनी एक सहेली को, शीघ्र ही अपने प्रश्न का उत्तर पाने की आशा से, अपने मोबाइल फोन से टेक्सट सन्देश भेजा। उसके फोन पर जानकारी आ गई कि उसकी सहेली ने उसका सन्देश पढ़ लिया है, इसलिए वह उत्सुकता से उत्तर की प्रतीक्षा करने लगी। कुछ ही पल बीते थे कि वह बेचैन होने लगी, फिर उत्तर आने में हो रहे विलम्ब के कारण वह चिढ़ने लगी, मुँह से कराहने की आवाजें निकालने लगी। और थोड़ी देर में उसका चिढ़ना चिन्ता में परिवर्तित हो गया, उसे लगने लगा कि कहीं उत्तर आने में विलम्ब का कारण यह तो नहीं है कि उनके बीच में कुछ समस्या उत्पन्न हो रही है। थोड़े समय पश्चात उत्तर आ गया, और मेरी बेटी निश्चिंत हुई कि उनका संबंध ठीक था। उसकी सहेली प्रश्न के उत्तर से संबंधित बातों के विवरण खोज कर भेजने से पहले उन्हें व्यवस्थित कर रही थी।

      परमेश्वर के वचन बाइबल के पुराने नियम खण्ड में  दानिय्येल नबी भी अपनी प्रार्थना के उत्तर पाने के लिए व्याकुल था। दानिय्येल ने एक बड़ी लड़ाई का डरावना दर्शन देखा था, और उसने उपवास और प्रार्थना के साथ परमेश्वर से उसके विषय पूछा था (10:3, 12)। तीन सप्ताह तक उसके पास कोई उत्तर नहीं पहुँचा (पद 2, 13)। अन्ततः एक स्वर्गदूत आया और उसने दानिय्येल को आश्वस्त किया कि उसकी प्रार्थनाएं “उसी दिन” सुन ली गईं थीं। किन्तु उन प्रार्थनाओं का उत्तर दानिय्येल तक लाने में शैतान बाधा डाल रहा था, और स्वर्गदूत को शैतान से संघर्ष करना पड़ा था। चाहे दानिय्येल को यह पता नहीं था, किन्तु दानिय्येल के प्रार्थना करने से उत्तर उस तक पहुँचने के मध्य के उन तीन सप्ताह में भी परमेश्वर अपना कार्य कर रहा था।

      यह भरोसा कि परमेश्वर हमारी प्रार्थनाएं सुनता है, हमें कभी-कभी विचलित कर सकता है जब हमें अपनी प्रार्थनाओं के अपेक्षानुसार उत्तर नहीं मिलते हैं। हम यह सोचने लगते हैं कि उसे हमारी परवाह है भी कि नहीं। परन्तु दानिय्येल का अनुभव हमें स्मरण दिलाता है कि परमेश्वर उनके पक्ष में जिन से वह प्रेम करता है, अपना कार्य करता रहता है, चाहे यह हम पर प्रगट न भी हो। - कर्स्टेन होम्बर्ग


परमेश्वर अपने लोगों के लिए सदैव कार्य करता रहता है।

जैसे तू वायु के चलने का मार्ग नहीं जानता और किस रीति से गर्भवती के पेट में हड्डियां बढ़ती हैं, वैसे ही तू परमेश्वर का काम नहीं जानता जो सब कुछ करता है। - सभोपदेशक 11:5

बाइबल पाठ: दानिय्येल 10:1-14
Daniel 10:1 फारस देश के राजा कुस्रू के राज्य के तीसरे वर्ष में दानिय्येल पर, जो बेलतशस्सर भी कहलाता है, एक बात प्रगट की गई। और वह बात सच थी कि बड़ा युद्ध होगा। उसने इस बात को बूझ लिया, और उसको इस देखी हुई बात की समझ आ गई।
Daniel 10:2 उन दिनों मैं, दानिय्येल, तीन सप्ताह तक शोक करता रहा।
Daniel 10:3 उन तीन सप्ताहों के पूरे होने तक, मैं ने न तो स्वादिष्ट भोजन किया और न मांस वा दाखमधु अपने मुंह में रखा, और न अपनी देह में कुछ भी तेल लगाया।
Daniel 10:4 फिर पहिले महिने के चौबीसवें दिन को जब मैं हिद्देकेल नाम नदी के तीर पर था,
Daniel 10:5 तब मैं ने आंखें उठा कर देखा, कि सन का वस्त्र पहिने हुए, और ऊफाज देश के कुन्दन से कमर बान्धे हुए एक पुरूष खड़ा है।
Daniel 10:6 उसका शरीर फीरोजा के समान, उसका मुख बिजली के समान, उसकी आंखें जलते हुए दीपक की सी, उसकी बाहें और पांव चमकाए हुए पीतल के से, और उसके वचनों के शब्द भीड़ों के शब्द का सा था।
Daniel 10:7 उसको केवल मुझ दानिय्येल ही ने देखा, और मेरे संगी मनुष्यों को उसका कुछ भी दर्शन न हुआ; परन्तु वे बहुत ही थरथराने लगे, और छिपने के लिये भाग गए।
Daniel 10:8 तब मैं अकेला रहकर यह अद्‌भुत दर्शन देखता रहा, इस से मेरा बल जाता रहा; मैं भयातुर हो गया, और मुझ में कुछ भी बल न रहा।
Daniel 10:9 तौभी मैं ने उस पुरूष के वचनों का शब्द सुना, और जब वह मुझे सुन पड़ा तब मैं मुंह के बल गिर गया और गहरी नींद में भूमि पर औंधे मुंह पड़ा रहा।
Daniel 10:10 फिर किसी ने अपने हाथ से मेरी देह को छुआ, और मुझे उठा कर घुटनों और हथेलियों के बल थरथराते हुए बैठा दिया।
Daniel 10:11 तब उसने मुझ से कहा, हे दानिय्येल, हे अति प्रिय पुरूष, जो वचन मैं तुझ से कहता हूं उसे समझ ले, और सीधा खड़ा हो, क्योंकि मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं। जब उसने मुझ से यह वचन कहा, तब मैं खड़ा तो हो गया परन्तु थरथराता रहा।
Daniel 10:12 फिर उसने मुझ से कहा, हे दानिय्येल, मत डर, क्योंकि पहिले ही दिन को जब तू ने समझने-बूझने के लिये मन लगाया और अपने परमेश्वर के साम्हने अपने को दीन किया, उसी दिन तेरे वचन सुने गए, और मैं तेरे वचनों के कारण आ गया हूं।
Daniel 10:13 फारस के राज्य का प्रधान इक्कीस दिन तक मेरा साम्हना किए रहा; परन्तु मीकाएल जो मुख्य प्रधानों में से है, वह मेरी सहायता के लिये आया, इसलिये मैं फारस के राजाओं के पास रहा,
Daniel 10:14 और अब मैं तुझे समझाने आया हूं, कि अन्त के दिनों में तेरे लोगों की क्या दशा होगी। क्योंकि जो दर्शन तू ने देखा है, वह कुछ दिनों के बाद पूरा होगा।

एक साल में बाइबल:  
  • न्यायियों 16-18
  • लूका 7:1-30